लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Shakti ›   national women commission says after lockdown domestic violence increase

कोरोना इफेक्ट: महिला आयोग ने कहा- लॉकडाउन में बढ़ गई महिलाओं के खिलाफ हिंसा

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: अपराजिता शुक्ला Updated Sun, 05 Apr 2020 09:07 AM IST
national women commission says after lockdown domestic violence increase
विज्ञापन
ख़बर सुनें

राष्ट्रीय महिला आयोग ने बताया है कि लॉकडाउन के बाद से अबतक घरेलू हिंसा के 69 मामले सामने आ चुके हैं। महिलाओं के खिलाफ कुल हिंसा की  बात की जाए तो महिला आयोग को अब तक 250 शिकायतें मिल चुकी हैं। महिलओं की हिंसा का ये मामला गंभीर है। क्योंकि उनके मुताबिक अगर लॉकडाउन के मामले में पहले से जानकारी होती तो इस तरह की महिलाएं किसी सुरक्षित जगह चली जाती हैं। 


 

राष्ट्रीय महिला आयोग के आंकड़ों के अनुसार, 23 मार्च 2020 से एक अप्रेल तक महिलाओं से हिंसा अलग-अलग क्षेत्र के मामले आ चुके हैं। जिनमें साइबर अपराध के 15 मामले, सम्मान के साथ जीने के अधिकार के संबंध में 77 शिकायतें और बलात्कार और रेप की कोशिश के 13 मामले मिल चुके हैं। इस तरह से महिलाओं ने अबतक कुल 257 शिकायतें दर्ज करवाई हैं। जिसमें से 237 मामलों पर कार्रवाई की गई है।
महिला अधिकार कार्यकर्ताओं ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से उनके पास कई शिकायतें आ चुकी है्ं। लेकिन लॉकडाउन की वजह से वो सुरक्षित जगह पर नहीं जा पा रही हैं। इस मामले में सेंटर फॉर सोशल रिसर्च की निदेशक रंजना कुमारी का कहना है कि लॉकडाउन के कारण सब लोग घर पर ही हैं। जिसकी वजह से पीड़ित महिलाओं से संपर्क नहीं हो पा रहा है। महिलाओं की ये स्थिति उनकी सुरक्षा के लिहाज से बिल्कुल भी ठीक नही हैं। इसका एक ही तरीका है कि घरेलू हिंसा की शिकार महिलाओं को रेस्क्यू किया जाए।

 

इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि घरेलू हिंसा के मामले इससे भी अधिक है लेकिन महिलाएं अपने पति के डर से इस बारे में शिकायत नहीं कर पा रही हैं क्योंकि वो लगातार घर पर ही बने हुए हैं। उन्होंने कहा, 'महिलाएं पुलिस से संपर्क नहीं कर पा रही हैं क्योंकि वे डरती हैं कि जब उनका पति पुलिस स्टेशन से बाहर आएगा तो फिर उनको पीटेगा और लॉकडाउन की वजह से वे कहीं जा भी नहीं सकती हैं। पहले महिलाएं अपने माता-पिता के पास चली जाती थीं, लेकिन अब वे यह भी नहीं कर पा रही हैं।'
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00