हिमाचल प्रदेश: मानसून सीजन में अब तक 502 करोड़ का नुकसान, अभी भी चार फीसदी कम बरसे बादल

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Thu, 29 Jul 2021 01:35 PM IST

सार

हिमाचल प्रदेश में जारी भारी बारिश के बावजूद मानसून सीजन में अभी तक सामान्य से चार फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है। प्रदेश में 13 जून को मानसून ने प्रवेश किया था।
चंडीगढ़-मनाली एनएच पर हणोगी के पास खोती नाला में मलबे में दबे वाहन।
चंडीगढ़-मनाली एनएच पर हणोगी के पास खोती नाला में मलबे में दबे वाहन। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो गई। 152 लोगों ने सड़क हादसों से लेकर भूस्खलन, बाढ़ या बादल फटने जैसी घटनाओं के चलते जान गंवाई। राज्य आपदा प्रबंधन सेल की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार अकेले पीडब्ल्यूडी विभाग को 347 करोड़ का नुकसान हुआ है। जल शक्ति विभाग को 147 करोड़, ऊर्जा विभाग को 57 लाख का नुकसान हुआ।
विज्ञापन


575 लाख का मौद्रिक नुकसान भी दर्ज किया गया। भारी बारिश, बादल फटने और बाढ़ के चलते 14.6 लाख की फसल भी बरबाद हो गई। 515 कच्चे व पक्के घरों और दुकानों, गायों के 379 शेड को भारी नुकसान हुआ है। इस दौरान 393 पशु-पक्षिओं की भी मौत हुई। भूस्खलन से सबसे ज्यादा 21 लोगों की जान गई। इनमें भी कांगड़ा और किन्नौर में दस व नौ, जबकि शिमला में दो लोगों की मौत हुई। बाढ़ व बादल फटने की घटना से लाहौल-स्पीति में सात और चंबा में दो लोगों की जान चली गई। डूबने से कांगड़ा में आठ, कुल्लू में तीन, लाहौल-स्पीति, शिमला, हमीरपुर व एक-एक, जबकि कुल्लू, मंडी में तीन-तीन और बिलासपुर में दो लोगों की मौत हो गई।


मानसून सीजन में अभी भी चार फीसदी कम बरसे बादल
हिमाचल प्रदेश में जारी भारी बारिश के बावजूद मानसून सीजन में अभी तक सामान्य से चार फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है। प्रदेश में 13 जून को मानसून ने प्रवेश किया था। 28 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश में 333.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई है। इस अवधि के लिए सामान्य बारिश 346.3 मिलीमीटर को माना गया है।

हमीरपुर, कांगड़ा, मंडी और कुल्लू जिला के अलावा अन्य जिलों में सामान्य से कम बादल बरसे हैं। कुल्लू जिले में अभी तक सबसे अधिक सामान्य से 56 फीसदी, कांगड़ा में 16, हमीरपुर और मंडी में एक-एक फीसदी अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई है। उधर, बिलासपुर में 6 फीसदी, चंबा में 36, किन्नौर में 10, लाहौल- स्पीति में 53, शिमला में एक, सिरमौर-ऊना में छह और सोलन में सात फीसदी कम बादल बरसे हैं। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00