Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Himachal weather today: rainfall will continue till September 8, flood alert in three districts, light snowfall on high peaks

हिमाचल: आठ सितंबर तक खराब रहेगा मौसम, तीन जिलों में बाढ़ का अलर्ट, चोटियों पर गिरे बर्फ के फाहे

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला Published by: Krishan Singh Updated Thu, 02 Sep 2021 07:06 PM IST

सार

हिमाचल प्रदेश के तीन जिलों शिमला, कुल्लू और किन्नौर में शुक्रवार सुबह 11:30 बजे तक बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है। गुरुवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। राजधानी शिमला में बादल छाए रहे। आठ सितंबर तक मौसम खराब बने रहने के आसार हैं। 
मनाली की चोटियों पर हल्की बर्फबारी।
मनाली की चोटियों पर हल्की बर्फबारी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में आठ सितंबर तक बारिश का दौर जारी रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार प्रदेश के मैदानी व मध्य पर्वतीय भागों में आठ सितंबर तक मौसम खराब बने रहने के आसार हैं। वहीं, प्रदेश के तीन जिलों शिमला, कुल्लू और किन्नौर में शुक्रवार सुबह 11:30 बजे तक बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है। गुरुवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। राजधानी शिमला में बादल छाए रहे। गुरुवार को ऊना में अधिकतम तापमान 33.5, भुंतर 32.2, कांगड़ा 31.3, सुंदरनगर 31.1, बिलासपुर 31.0, चंबा 30.6, हमीरपुर 29.8, नाहन 28.3, धर्मशाला 27.2, सोलन 26.0, शिमला 22.1, केलांग 21.6, डलहौजी 20.1 और कल्पा में 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।



 उधर, जिला कुल्लू और लाहौल-स्पीति में गुरुवार को मौसम खराब रहा। आसमान में दिनभर बादल छाए रहे और मनाली सहित ऊझी घाटी में बारिश हुई है। जबकि रोहतांग दर्रा के साथ बारालाचा, मकवरे, शिकवरे, हनुमान टिब्बा, पिन पार्वती तथा कुंजुम दर्रा में बर्फ के फाहे गिरने से तापमान में गिरावट आई है। मौसम के बिगड़े मिजाज से जिले के बागवानों की चिंता बढ़ गई है। जिले में अभी 40 फीसदी सेब की फसल बगीचों में है। लेकिन अच्छे दाम नहीं मिलने से कई बागवानों ने तुड़ान रोक दिया है। 


शिमला में तीन वाहन चट्टानों के नीचे दबे 
वहीं, राजधानी शिमला में कसुम्पटी में देवनगर स्थित टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के कार्यालय के नजदीक सड़क किनारे पार्क तीन गाड़ियां चट्टानें गिरने से चकनाचूर हो गई। सुबह के समय हुए इस हादसे के बाद सड़क पर भी पत्थरों का ढेर लग गया। इसके चलते करीब दो घंटे तक यहां ट्रैफिक वन वे रहा। वाहन मालिक सड़क किनारे सुरक्षित जगह समझकर गाड़ियां खड़ी करके गए थे। सुबह आकर देखा तो गाड़ियां पत्थरों के नीचे दबी पड़ी थीं। इसमें वाहन मालिकों को भारी नुकसान झेलना पड़ा है। शहर में पहले भी सड़क किनारे खड़ी गाड़ियां भूस्खलन की चपेट में आ चुकी हैं।

ढली टनल भट्ठाकुफर सड़क, ढली संजौली बाईपास, संजौली-आईजीएमसी सड़क पर भी गाड़ियां भूस्खलन की चपेट में आ चुकी हैं। गुरुवार सुबह छोटा शिमला में सचिवालय के पास भी दो ट्रक आमने-सामने टकरा गए हालांकि तुरंत मुस्तैदी दिखाते हुए ट्रकों को सड़क से हट कर ट्रैफिक बहाल कर दिया है। वहीं संजौली कालेज के नीचे ढली संजौली बाईपास पर पिकअप गाड़ी का टायर खुल गया जिसके कारण करीब दो घंटे तक ट्रैफिक वन वे रहा।  क्रेन की मदद से पिकअप को हटाने के बाद वाहनों की आवाजाही सामान्य हो सकी। डीएसपी हेडक्वार्टर कमल किशोर ने शहर के लोगों से आग्रह किया है कि अपने वाहन सुरक्षित स्थान या पार्किंग में ही पार्क करें।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00