सिर्फ 1200 में निपटा दिया 70 हजार का बिजली बिल

न्यूज डेस्क,अमर उजाला,बदायूं Updated Tue, 27 Feb 2018 08:23 PM IST
बिजली का बिल
बिजली का बिल
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बिजली विभाग के स्थानीय स्टाफ की शह पर निजी कर्मचारी बकाया बिजली बिलों में बड़ा खेल कर रहे हैं। नगर में चलाए जा रहे चेकिंग अभियान के दौरान जहां सामान्य उपभोक्ताओं से जमकर अवैध वसूली की जा रही है, वहीं हजारों के बकाया बिल सेटिंग के आधार पर सैकड़ों में निपटा दिए जा रहे हैं। मीटर बैक कर रीडिंग कम दर्शाना और कई मीटरों की चिप निकालकर उनकी रीडिंग शून्य करने के कुछ मामले जागरूक लोगों ने पकड़ लिए हैं। इसकी शिकायत बिजली उपभोक्ताओं ने ऊर्जा मंत्री और अधीक्षण अभियंता से की है। 
विज्ञापन

 नगर में विभाग के कुछ चर्चित लोग अपने साथ दर्जन भर प्राइवेट कर्मचारियों को लेकर टीम बनाकर निकलते हैं और बिजली चेकिंग के नाम पर उपभोक्ताओं से अवैध वसूली करते हैं। यह सरकार को लाखों रुपये के राजस्व का नुकसान पहुंचा रहे हैं। आरोप है कि फरवरी माह में चलाए जा रहे चेकिंग अभियान के दौरान एक कनेक्शन का बिजली बिल लगभग पचास हजार रुपये मिला था। चेकिंग के दौरान टीम ने प्राइवेट कर्मचारियों के माध्यम से कनेक्शन धारक से सेटिंग की और यह बिल मात्र 1122 रुपये कर दिया। ऐसा ही मामला एक अन्य कनेक्शन का है। इसका बिल लगभग 70 हजार के आसपास था जो 1200 रुपये के लगभग कर दिया गया। एक मीटर बैक कर दिया गया और उसकी चिप निकाल ली गई। इसका भी सौदा मोटी रकम लेकर हुआ। इसके अलावा कई अन्य मामले भी सामने आए हैं। इधर, चेकिंग के नाम पर खानापूर्ति करने के लिए कुछेक बिजली कनेक्शन धारकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई। आर्थिक दोहन से परेशान बिजली उपभोक्ताओं ने ऊर्जा मंत्री और अधीक्षण अभियंता बदायूं से मामले की उच्चस्तरीय जांच कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 


अगर इस तरह बिल कम करने का काम किया जा रहा है तो यह गलत है। ऐसा कोई मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। कोई लिखित शिकायत मिलेगी तो जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-मधुप श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता बदायूं

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00