लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Ayodhya ›   Headmaster suspended for brutally beating three students

तीन छात्रों को बेरहमी से पीटने वाला प्रधानाध्यापक निलंबित

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Sun, 31 Jul 2022 11:51 PM IST
प्रधानाध्यापक द्वारा की गई पिटाई के बाद चोट के निशान को दिखाता छात्र।-संवाद
प्रधानाध्यापक द्वारा की गई पिटाई के बाद चोट के निशान को दिखाता छात्र।-संवाद - फोटो : FAIZABAD
विज्ञापन
ख़बर सुनें
अयोध्या। शिक्षा क्षेत्र के कंपोजिट स्कूल तकमीनगंज के तीन छात्रों को बेरहमी से पीटने के आरोप में बीएसए संतोष कुमार राय ने इंचार्ज प्रधानाध्यापक को निलंबित करते दिया। उन्हें ब्लॉक संसाधन केन्द्र तारुन से संबद्ध कर दिया है।

कंपोजिट स्कूल तकमीनगंज के कक्षा छह के छात्र आदर्श तिवारी पुत्र रामनायक तिवारी, कक्षा आठ के शिवम तिवारी पुत्र डीपी तिवारी व रामदीन निषाद पुत्र मनीराम निषाद ने आरोप लगाया था कि शुक्रवार को स्कूल में पढ़ाई के दौरान इंचार्ज प्रधानाध्यापक संजीव कुमार वर्मा ने उनकी डंडे से निर्दयतापूर्वक पिटाई की।

इससे उनके शरीर पर निशान पड़ गये। घर पहुंचने पर उन्होंने इसकी सूचना अपने अभिभावकों को दी। नाराज अभिभावकों ने इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों के व्हाट्स एप नंबर पर की।
इसके बाद बीएसए के निर्देश पर इसकी जांच खंड शिक्षा अधिकारी तारुन सत्य प्रकाश सिंह को सौंपी। बीईओ सत्य प्रकाश सिंह ने शनिवार को विद्यालय पहुंचकर उपस्थित अन्य अध्यापकों व छात्रों का लिखित बयान दर्ज किया।
उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट में लिखा है कि प्रधानाध्यापक ने अपनी लिखित आख्या में बताया कि छात्र आदर्श तिवारी, शिवम तिवारी मिलकर छात्र मनीराम को पीट रहे थे। इंचार्ज प्रधानाध्यापक ने उनको फटकारा। उन्होंने पीटने की बात अस्वीकार की।
वहीं, स्कूल के कुछ अध्यापकों ने भी दोषी अध्यापक को बचाने का प्रयास किया। वहीं दो शिक्षक रईशा बेगम व जगदीश ने अपने बयान में बच्चों की पिटाई करने की बात कही।
अलग-अलग कक्ष के बच्चों ने भी अपने बयान में छात्रों की पिटाई करने की बात कही। बच्चों के शरीर पर पिटाई के निशान भी अध्यापक के कृत्य को बयां कर रहे थे।
बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार राय ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी की जांच रिपोर्ट के आधार पर इंचार्ज प्रधानाध्यापक संजीव कुमार वर्मा को निलंबित कर ब्लॉक संसाधन केंद्र तारुन में संबद्ध कर दिया है। साथ ही अनुशासनात्मक कार्रवाई की जांच खंड शिक्षा अधिकारी मया राजेश कुमार सिंह को सौंपी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00