यूपी में खतरा: कोरोना की तीसरी लहर के डर के बीच कानपुर में डेंगू और वायरल से सात दिन में 10 की मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Published by: प्रभापुंज मिश्रा Updated Thu, 02 Sep 2021 10:58 AM IST

सार

उत्तर प्रदेश के कानपुर सहित आसपास के जिलों में वायरल बुखार का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। हालत ये है कि हर घर में रोगी मिल रहे हैं। बहुत से रोगी गंभीर हालत में हैलट और निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। कानपुर में डेंगू और वायरल से सात दिन में होने वाली 10 मौतें वो हैं जिनकी सूचना मिल सकी है।
 
कानपुर हैलट में लगी मरीजों की भीड़
कानपुर हैलट में लगी मरीजों की भीड़ - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच कानपुर में बीमारियां फिर से कहर बरपाने लगी हैं। डेंगू और वायरल फीवर से सात दिन में 10 लोगों की मौत हो गई। इनमें से पांच रोगियों की बीते 24 घंटे में जान गई है। इनमें दो बच्चे शामिल हैं। कल्याणपुर के कुरसौली गांव में बुधवार को बुखार से दूसरी रोगी की भी मौत हो गई। इस गांव में पहले एक किशोरी की बुखार से जान जा चुकी है। 
विज्ञापन


खांसी में आ रहा है खून
डॉक्टरों ने बताया कि वायरल बुखार के रोगियों को छाती का संक्रमण हो जा रहा है। फेफड़ों में पानी भर जाता है। कुछ रोगियों को खांसी में खून भी आ रहा है। वायरल बुखार का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। हालत ये है कि हर घर में रोगी मिल रहे हैं। बहुत से रोगी गंभीर हालत में हैलट और निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। डेंगू और वायरल से सात दिन में होने वाली 10 मौतें वो हैं जिनकी सूचना मिल सकी है।


बुखार से हो रही हैं मौतें
इसके अलावा भी गांवों और दूरदराज के इलाकों में बुखार से मौतें हो रही हैं। रोकथाम के उपाय स्वास्थ्य विभाग जमीनी तौर पर अभी नहीं कर पाया है। ज्यादातर रोगी नर्सिंगहोमों में हैं जिनका आंकड़ा विभाग को पता नहीं हैं। कल्याणपुर ब्लाक का कुरसौली गांव ढाई हफ्ते से बुखार की गिरफ्त में है। मंगलवार देर रात लक्ष्मी प्रजापति (38) की तबियत बिगड़ी तो घरवाले क्षेत्र के नर्सिंगहोम ले गए।

फेफड़ों में भर रहा है पानी
वहां जांच में पता चला कि फेफड़ों में पानी भर गया है। उसे हैलट रेफर किया गया। जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसके पहले गांव के शिवलाल की बेटी तन्नू (14) की मौत हो गई थी। इसी तरह बुधवार को ही नवाबगंज के रामआसरे (65) की मौत हो गई। बुखार के दौरान सांस उखड़ गई। अस्पताल ले जाते वक्त उन्होंने भी दम तोड़ दिया। महाराजपुर निवासी जय सिंह (25) की बुखार आने के बाद दिमाग में सूजन आने से मौत हो गई।

कानपुर हैलट
कानपुर हैलट - फोटो : amar ujala
कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण
चमनगंज निवासी अंजनी श्रीवास्तव (65) को तेज बुखार आया। इनमें वायरल के साथ निमोनिया की पुष्टि हुई। बुधवार को ही इनकी भी जान चली गई। यहीं के शंकर लाल की मौत कोरोना संक्रमण जैसे लक्षणों की वजह से हुई। बीते तीन-चार दिन से लगातार रोगियों की मौत हो रही है। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. जेएस कुशवाहा ने बताया कि रोगियों को सांस के साथ और भी अंगों में दिक्कत हो रही है। 

डेंगू वार्ड बनाया, जांच की सुविधा नहीं
सरसौल सीएचसी पर डेंगू रोगियों के लिए छह बेड का अलग वार्ड बनाया गया है। बताया जा रहा है कि सीएचसी में प्रतिदिन 15-16 रोगी बुखार के आ रहे हैं। हालांकि यहां डेंगू की जांच की सुविधा नहीं है। ऐसे में डेंगू के रोगी की पहचान हो पाना ही मुश्किल है। सीएचसी अधीक्षक डॉ रमेश कुमार ने बताया कि बुखार के रोगियों का लक्षण के आधार पर इलाज किया जा रहा है। 

हर डाक्टर की क्लीनिक पर रोगियों की कतार
बुखार के प्रकोप की स्थिति यह है कि हर डाक्टर की क्लीनिक पर रोगियों की लाइन लगी हुई है। ग्रामीण इलाकों में लोग झोलाछाप डाक्टरों से इलाज करा रहे हैं। क्षेत्र में चल रही पैथोलॉजियों में सिर्फ सीबीसी जांच हो रही है। इसके अलावा डेंगू की एंटी जन चोरी छिपे लोग कर दे रहे हैं। रोगियों की हालत गंभीर होने पर घर वाले हैलट और उर्सला लेकर आते हैं।  


पीएचसी, सीएचसी पर बुखार के रोगियों की सभी तरह की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। मेडिकल कॉलेज में डेंगू की निशुल्क जांच हो रही है। सीएचसी, पीएचसी में भर्ती रोगी के सैंपल यहां भेजने को कहा गया है।  
डॉ. नेपाल सिंह, सीएमओ 

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00