लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lakhimpur Kheri ›   lakhimpur violence bail of seven accused rejected

लखीमपुर हिंसा: सात आरोपियों की जमानत खारिज, क्रॉस केस में जमानत अर्जी पर सुनवाई पांच को

संवाद न्यूज एजेंसी, लखीमपुर खीरी Published by: Vikas Kumar Updated Sat, 29 Jan 2022 09:21 PM IST
सार

बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राम आशीष मिश्र ने क्रॉस केस की बात करते हुए जेल में बंद आरोपियों की ओर से झूठा फंसाया जाने की दलील दी। वहीं जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता अरविंद त्रिपाठी ने बताया कि तीन अक्टूबर को तिकुनिया कस्बे में जिस तरह प्रदर्शनकारियों को निशाना बनाया गया है।

लखीमपुर खेरी हिंसा
लखीमपुर खेरी हिंसा - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

तिकुनिया हिंसा में जिला जज मुकेश मिश्र ने जिला जेल में बंद सात आरोपियों की जमानत अर्जी सुनवाई के बाद खारिज कर दी है। इसमें आरोपी शिशुपाल की जमानत अर्जी नोट प्रेस (जोर न देना) के कारण बिना कोई टिप्पणी किए निरस्त हो गई।



बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राम आशीष मिश्र ने क्रॉस केस की बात करते हुए जेल में बंद आरोपियों की ओर से झूठा फंसाया जाने की दलील दी। वहीं जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता अरविंद त्रिपाठी ने बताया कि तीन अक्टूबर को तिकुनिया कस्बे में जिस तरह प्रदर्शनकारियों को निशाना बनाया गया है। वह खुद में गंभीर मामला है, जिसमें एक पत्रकार सहित आठ लोगों की जान चली गई। जमानत अर्जी देने वाले किसी रहम के काबिल नहीं है।  जिला जज दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया था। शाम को सभासद सुमित जयसवाल सहित सभी छह आरोपियों की ओर से प्रस्तुत जमानत अर्जी विस्तृत आदेश करते हुए खारिज कर दी। 


क्रॉस केस में जमानत अर्जी पर सुनवाई पांच को
तिकुनिया हिंसा मामले में दर्ज हुए क्रॉस केस के आरोपी कमलजीत सिंह ने जिला जज अदालत में जमानत अर्जी दाखिल की है। जिसे सुनवाई के लिए दर्ज रजिस्टर करते हुए जिला जज मुकेश मिश्रा ने पांच फरवरी की तारीख निर्धारित है। एसआईटी ने जांच के बाद कमलजीत सिंह सहित तीन आरोपियों को हत्या के मामले में दोषी करार दिया था। वहीं चौथे आरोपी को हिंसा आगजनी के मामले में दोषी बताया था। इस मामले में तीन महीने से अधिक समय से जेल में बंद कमलजीत सिंह ने अपने अधिवक्ता रविंद्र कौर बत्रा के माध्यम से जमानत अर्जी जिला अदालत में दाखिल की है। 

खुद को निर्दोष बताते कमलजीत सिंह की ओर से यह बताया गया कि बिना किसी से कुछ जिला जेल में बंद किया गया है। अब जांच पूरी हो चुकी है। ऐसे में मुकदमा सुनवाई के दौरान उसे जमानत पर छोड़ दिया जाए। वहीं जिला शासकीय अधिवक्ता अरविंद त्रिपाठी ने आरोपी कमलजीत सिंह के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों का विवरण तिकुनिया पुलिस से तलब किया है और जमानत अर्जी में कही गई बातों का दाखिल करने के लिए तिकुनिया पुलिस को निर्देशित किया है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00