डेंगू हुआ बेकाबू: मेरठ में पांच साल में मिले थे 1230 मरीज, महज 66 दिन में 1014 मरीज आए सामने

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: Dimple Sirohi Updated Sat, 23 Oct 2021 11:03 AM IST

सार

डेंगू बुखार मरीजों को तपा रहा है। अस्पतालों में बेड फुल हैं। मेरठ में डेंगू भयावह होता जा रहा है।पांच साल में जिले में डेंगू के 1230 केस मिले थे जबकि इस बार  66 दिन में आंकड़ा 1014 पहुंच गया है।
dengue in meerut:  डेंगू वार्ड में भर्ती मरीज
dengue in meerut: डेंगू वार्ड में भर्ती मरीज - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मेरठ में डेंगू भयावह होता जा रहा है। पांच साल में जिले में डेंगू के 1230 केस मिले थे जबकि इस बार 18 अगस्त से 22 अक्तूबर तक 66 दिन में आंकड़ा 1014 पहुंच गया है। शुक्रवार को डेंगू के भी 33 नए मरीज मिले। हर रोज औसतन 15 से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। 
विज्ञापन

 
पिछले साल कोरोना के कारण डेंगू की ज्यादा जांच नहीं हो पाई थी। सारा फोकस कोरोना पर ही रहा था। इस बार डेंगू  बुखार मरीजों को तपा रहा है। अस्पतालों में बेड फुल हैं। मरीजों को जंबो पैक प्लेटलेट्स की दरकार है, जिसके लिए तीमारदार परेशान हैं।


बुखार से 12 साल के बच्चे की मौत 
परीक्षितगढ़ के रहने वाले 12 साल के एक बच्चे की मौत दिल्ली के अस्पताल में हुई है। उसे डेंगू का संदिग्ध मरीज बताया जा रहा है। वह बुखार से पीड़ित था। मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान का कहना है कि जांच कराई जा रही है, इसके बाद ही डेंगू के मरीजों की सूची में उसे शामिल किया जाएगा। अब तक डेंगू से तीन मौत हुई हैं, इनकी जांच एलाइजा से हुई थी, जबकि दो मौत वह हैं, जिन्हें रैपिड कार्ड से डेंगू की पुष्टि हुई थी।

यह भी पढ़ें: वर्दी पर दाग: इंस्पेक्टर पति की शिकायत से खुले हेड कांस्टेबल पत्नी के बड़े राज, होंडा सिटी से चलती थी मीनाक्षी, देखें तस्वीरें

इन इलाकों में डेंगू का ज्यादा वार 
कैंट, जयभीमनगर, कंकरखेड़ा, कसेरू बक्सर, कुंडा, मकबरा डिग्गी, पल्हेडा, साबुन गोदाम, संजयनगर, जाकिर कालोनी, भूडभराल, दौराला, हस्तिनापुर, जानी, खरखौदा, माछरा, मवाना, परीक्षितगढ़, रजपुरा, रोहटा, सरधना और सरूरपुर।

ये है मरीजों का आंकड़ा
527 मरीज शहर में मिले हैं
487 मरीज देहात में मिले
 96 मरीज मलियाना में मिले। 
83 मरीज रोहटा में आए।
 76  मवाना में  
50 मरीज जयभीमनगर में ।
 
डेंगू के मरीज साल-दर-साल 
वर्ष  
          मरीज 
2016           183 
2017           660 
2018           153 
2019           199 
2020             35 

पांच साल पहले चिकनगुनिया के मिले थे 1103 मरीज 
साल 2016 में चिकनगुनिया ने कहर बरपाया था। तब चिकनगुनिया के 1103 मरीज मिले थे। डेंगू के मरीजों की संख्या भी उस साल 183 रही थी। हालांकि इसके बाद मेरठ में चिकनगुनिया के मरीज स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में नहीं हैं। हालात ऐसे लग रहे हैं कि इस बार डेंगू चिकनगुनिया का आंकड़ा भी पार कर सकता है। 
 
पश्चिम उतर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल ने किया निगम में प्रदर्शन
डेंगू के कहर से परेशान व्यापारियों ने शुक्रवार को नगर निगम दफ्तर में प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने कहा कि शहर को डेंगू से बचाने के लिए नगर निगम को फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव कराना चाहिए। पश्चिम उतर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के प्रदेश आशु शर्मा ने कहा कि नाले अटे पड़े हैं। डेंगू के मच्छर भी पनप रहे हैं। मंजीत सिंह कोछड़ ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न नहीं होना चाहिए। इस दौरान सुमेर सिंह धार, संजु त्यागी, असफाक प्रधान, विजय ओबरॉय, हाजी शारिक आदि रहे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00