बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सिपाही ने सुसाइड नोट में बयां किया दर्द, ‘मैं वैवाहिक जीवन से खुश नहीं’ फांसी लगाकर दी जान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: कपिल kapil Updated Tue, 12 May 2020 02:06 AM IST
कांस्टेबल विजय गौड़
कांस्टेबल विजय गौड़ - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मेरठ में पारिवारिक विवाद में फांसी लगाकर जान देने वाले सिपाही विजय गौड़ ने सुसाइड नोट के जरिए अपना दर्द बयां किया है। पुलिस के अनुसार सिपाही विजय ने सुसाइड नोट में लिखा कि वह अपने माता-पिता व दोनों बच्चों से बहुत प्यार करता है। वह वैवाहिक जीवन से खुश नहीं था। इसी के चलते उसने आत्महत्या का कदम उठाया। 
विज्ञापन


पुलिस के अनुसार एसएसपी दफ्तर में तैनात सिपाही विजय गौड़ पत्नी वंदना और दो बच्चों के साथ गंगानगर डिवाइडर रोड स्थित पनाचे अपार्टमेंट के फ्लैट में रहता था। करीब 15 दिन पूर्व उसका पत्नी से विवाद हुआ था तो बताया गया कि विजय ने फ्लैट में आग लगाने का प्रयास किया था। गंगानगर थाना पुलिस भी मौके पर गयी थी। उसके बाद मामला बिगड़ने पर वंदना बच्चों को लेकर मायके खतौली चली गई थी और खतौली थाने में विजय के खिलाफ शिकायत की थी। 


पुलिस के अनुसार परिजनों का आरोप है कि रविवार को खतौली पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए बुलाया था तो ससुराल वालों द्वारा अभद्रता और गालीगलौज करने से वह अवसाद में आ गया था। रविवार देर शाम विजय फ्लैट पर लौटा था। सोमवार सुबह साथी सिपाहियों व पड़ोसियों ने उसे कॉल की तो रिसीव नहीं हुई। विजय के पिता सुखराम और भाई अशोक एल ब्लॉक गंगानगर में रहते हैं। सूचना पर वे दोनों फ्लैट पर पहुंचे तो वह बंद मिला। बाद में पुलिस ने फ्लैट का दरवाजा तोड़ा तो विजय का शव पंखे पर लटका मिला। एएसपी अखिलेश भदौरिया और इंस्पेक्टर गंगानगर बृजेश शर्मा ने घटनास्थल की फोरेंसिक जांच कराई। पुलिस के अनुसार बताया कि विजय ने रविवार देर रात आत्महत्या कर ली थी।

पत्नी से विवाद में खुदकुशी
पत्नी से विवाद के चलते सिपाही ने खुदकुशी की है। फोरेंसिक टीम ने मौके की जांच की है। मौके से मिले सुसाइड नोट में दंपती के बीच विवाद का जिक्र मिला है। - अजय साहनी, एसएसपी

लॉकडाउन में आत्महत्या के छह केस
गंगानगर थाना क्षेत्र में लॉकडाउन के दौरान आत्महत्या के छह केस सामने आ चुके हैं। अधिकांश मामलों में घरेलू विवाद कारण रहा। 22 मार्च को गंगानगर एच ब्लॉक में 28 साल की युवती ऋतु का शव फंदे पर लटका मिला था। सात अप्रैल को आई ब्लॉक में किराए पर रहने वाले शशिकांत त्यागी का शव भी पंखे से लटका मिला था। आठ अप्रैल को रजपुरा निवासी राजकुमार ने फांसी लगाकर जान दे दी थी। 12 अप्रैल को ईशापुरम में हवलदार धर्मेंद्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। 11 मई को सिपाही विजय ने फांसी लगा ली।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00