तीन महीने में सर्पदंश के 45 मामले, 3 की गई जान

Varanasi Bureau वाराणसी ब्यूरो
Updated Sat, 14 Aug 2021 01:14 AM IST
45 cases of snakebite in three months, 3 killed
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बारिश के बाद बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है। वहीं, सर्पदंश के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। तीन महीने में जिले में 45 मामले सामने आ चुके हैं। जो कि मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा समेत अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में इलाज को पहुंचे। वहीं, इनमें से तीन लोगों की मौत भी हो चुकी है। केंद्रों पर एंटी स्नेक वेनम भिजवाया जा रहा है। वहीं, लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी जा रही है। आमतौर पर बरसात में सांपों के काटने के मामले बढ़ने लगने लगते हैं। शहर की तुलना में ग्रामीण इलाकों के स्वास्थ्य केंद्रों पर ऐसे मरीज अधिक पहुंचते हैं। कुछ स्वास्थ्य केंद्रों पर तो प्राथमिक उपचार के बाद मरीजों को मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा, जिला अस्पताल रेफर किया जाता है। तीन महीने की बात करें तो मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा की इमरजेंसी में 12 सर्पदंश के मामले पहुंचे। जुलाई में ही केवल 10 मरीजों ने इलाज कराया। एसआईसी डॉ. प्रसन्न कुमार ने बताया कि मरीजों को जरूरत के हिसाब से तुरंत एंटी स्नेक वेनम लगाया जाता है। उधर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिंडरा में तीन महीने में 22 नए मामले आए। इसमें एक की मौत हुई है। स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. एचसी मौर्य के मुताबिक, 14 वायल एंटी स्नेक वेनम वैक्सीन हैं। जरूरत पड़ने पर मरीजों को लगाई जाती है। रामनगर अस्पताल में भी सर्पदंश के दस मरीज आ चुके हैं।
विज्ञापन

सांपों के काटने के बाद झाड़फूंक से बचना चाहिए। जितना जल्दी हो संबंधित व्यक्ति को अस्पताल लेकर जाना चाहिए। अब तो अस्पतालों में इलाज की पर्याप्त व्यवस्थाएं हैं। यहां एंटी स्नेक वेनम लगाने के साथ ही समय पर इलाज शुरू होने से जान बचाई जा सकती है। तीन महीने में 11 केस आए। सभी का इलाज किया गया।

- डा. प्रसन्न कुमार, एसआईसी मंडलीय अस्पताल
केस : एक
चौबेपुर के हंडियाडीह गांव निवासी दिव्यांग संजय कुमार माली का बेटा श्रीकांत (17) पहलवानी करता था। 16 जुलाई की रात वह छत पर सोया था। इसी बीच सांप ने उसे काट लिया। परिजनों ने पहले झाड़फूंक कराया। राहत नहीं मिली तो एक निजी अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
केस : दो
चौबेपुर के सुंगलपुर निवासी सेवा यादव की पत्नी लालती देवी (60) को भी 16 जुलाई को ही सांप ने काट लिया। परिजनों को जानकारी मिली तो वह घर से अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00