Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   Ring road varanasi will connect three states and four national highways small vehicles will run from next week

वाराणसी: तीन राज्यों और चार नेशनल हाईवे को जोड़ेगा रिंग रोड, अगले सप्ताह से फर्राटा भरेंगे छोटे वाहन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: उत्पल कांत Updated Sun, 10 Oct 2021 11:26 AM IST

सार

लोकार्पण से पहले ही वाराणसी में रिंग रोड को वाहनों के लिए शुरू करने की योजना बनाई जा रही है। इसमें नवरात्र में रिंग रोड की एक लेन को शुरू करने की योजना है। 
दूसरी लेन का काम भी लगभग पूरा होने को है। 
रिंग रोड, वाराणसी
रिंग रोड, वाराणसी - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

नवरात्र के साथ प्रमुख त्योहारों की शुरुआत हो चुकी है। इस दौरान वाराणसी शहर में जाम न लगे और यातायात व्यवस्था बेहतर हो इसके लिए कोईराजपुर (हरहुआ) से राजातालाब तक रिंग रोड के एक लेन से दो पहिया ओर छोटे चार पहिया वाहनों को अगले सप्ताह से चलाने की तैयारी है।

विज्ञापन


इसके  लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने तैयारी लगभग पूरी कर ली है। ताकि शहर में आने वाली भीड़ को रोका जा सके। वहीं रिंग रोड पर भारी वाहनों का संचालन अक्तूृबर के आखिर से चलाने की योजना है।   राजातालाब से हरहुआ होते हुए चिरईगांव के सदंहा से गंगा पार चंदौली के लौंदा झांसी तक करीब 58 किमी लंबा निर्माणाधीन रिंग रोड तीन राज्यों और चार नेशनल हाईवे को जोड़ेगा।


यह रिंग रोड राजातालाब में कोलकाता से दिल्ली तक जाने वाले नेशनल हाई वे, हरहुआ में वाराणसी-लखनऊ नेशनल हाईवे, लमही के आगे पांडेयपुर मार्ग पर वाराणसी-आजमगढ़ नेशनल हाईवे और चिरईगांव में वाराणसी-गोरखपुर नेशनल हाईवे को जोड़ेगा।

वहीं चंदौली के लौंदा झांसी में नेशनल हाईवे में मिलने वाले रिंग रोड से चंदौली के साथ ही बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल सहित पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों से आने वाले वाहन भी इस रिंग रोड के जरिए शहर में बिना प्रवेश किए आजमगढ़, गोरखपुर, लखनऊ, जौनपुर, गाजीपुर के लिए आवागमन कर सकते हैं।

दूसरी लेन का काम भी लगभग पूरा

Ring Road
Ring Road - फोटो : सोशल मीडिया
रिंग रोड के दूसरे फेज में 17 किमी तक कोईराजपुर (हरहुआ) से राजातालाब तक इसके निर्माण पर 450 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। पहले फेज में संदहा से कोईराजपुर तक वाहनों के आवागमन के बाद कोईराजपुर (हरहुआ) से राजातालाब तक दूसरे फेज में वाराणसी-भदोही रेलखंड पर रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) और वरुणा नदी पर पर बनने वाले पक्के पुल के निर्माण की एक लेन पूरी हो चुकी है।

जबकि दूसरी लेन का काम भी लगभग पूरा होने वाला है। जो लेन पूरी हो चुकी है, उसी एक लेन से अगले सप्ताह से दो पहिया और छोटे चार पहिया वाहनों के  आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा। एनएचएआई के परियोजना प्रबंधक आरएस यादव ने कहा कि  रिंग रोड फेज दो के फिनिशिंग का काम अंतिम चरण में है। अगले सप्ताह से दो और छोटे चार पहिया वाहनों के आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा। भारी वाहनों के संचालन के लिए दो सप्ताह का समय लग सकता है।

राह होगी आसान, तेल और समय की भी बचत

रिंग रोड
रिंग रोड - फोटो : अमर उजाला
अभी तक प्रयागराज से आजमगढ़, गोरखपुर, गाजीपुर, बलिया या इन जिलों से प्रयागराज जाने के लिए भारी वाहनों को मोहनसराय से शहर में होकर जाना पड़ता है। इससे न सिर्फ शहर की सड़कें खराब होती हैं बल्कि जाम, दुर्घटना की आशंका बनी रहती हैं।

वहीं नो एंट्री के चलते चालकों को घंटों इंतजार करना पड़ता है। अब रिंग रोड बन जाने से इन जिलों को जाने वाले या आने वाले वाहनों को शहर में आने-जाने से निजात मुक्ति मिलेगी और तेल की बचत के साथ कम समय में रिेंग रोड से गंतव्य को रवाना हो जाएंगे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00