लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Haridwar ›   When will you get freedom from the problem of parking in the city

शहर में पार्किंग की समस्या से कब मिलेगी आजादी

Dehradun Bureau देहरादून ब्यूरो
Updated Sun, 14 Aug 2022 08:51 PM IST
When will you get freedom from the problem of parking in the city
विज्ञापन
ख़बर सुनें
शहर में पार्किंग की समस्या से लोगों को जूझना पड़ रहा है। पार्किंग न होने से सड़क किनारे ही आड़े-तिरछे वाहन खड़े किए जा रहे हैं। जिससे जाम लगने से राहगीरों के साथ ही स्थानीय लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। पार्किंग बनाने की योजनाएं फाइलों में ही कैद होकर रह गई हैं। धरातल पर योजना नहीं उतर पा रही हैं। आजादी के अमृत महोत्सव के बीच शहर के अंदर पार्किंग नहीं होने की समस्या मुंह चिढ़ा रही है।

मध्य हरिद्वार में चंद्राचार्य चौक और पुराना रानीपुर मोड़ सहित आसपास के क्षेत्र में शिक्षण संस्थान, शॉपिंग मॉल, कांप्लेक्स बने हैं। प्रतिदिन इन क्षेत्रों में हजारों लोगों का आवागमन होता है। दुपहिया और चौपहिया वाहनों से लोग पहुंचते हैं। लेकिन, पार्किंग न होने से सड़क किनारे ही वाहन खड़े कर दिए जाते हैं। चंद्राचार्य चौक से भगत सिंह चौक जाने वाले मार्ग पर दोनों तरफ वाहन बीच सड़क तक वाहन खड़े कर दिए जाते हैं। जबकि पुराना रानीपुर मोड़ के पास, खन्नानगर से लेकर चंद्राचार्य चौक तक भी यही स्थिति रहती है।

सड़क पर वाहन खड़े करने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिससे रोजाना शाम होते ही ज्यादा जाम की समस्या बनती है। लेकिन, इस समस्या से निपटने के लिए एचआरडीए, नगर निगम ने पूर्व में योजना बनाई। पर आज तक भी योजनाएं धरातल पर नहीं उतर पाई। आज भी पार्किंग की समस्या जस की तस है। स्थानीय लोगों से लेकर राहगीरों को सड़क पर वाहन खड़े होने से परेशानी झेलनी पड़ती है।
बाजार से बाहर खड़े करने पड़ते हैं वाहन
ज्वालापुर में कटहरा बाजार, चौक बाजार में प्रतिदिन लोग खरीदारी करने पहुंचते हैं। अंसारी मार्केट में कुछ वाहन खड़े करने की व्यवस्था है। लेकिन इसके बाद फिर वाहनों को खड़े करने के लिए कोई जगह नहीं है। त्योहारी सीजन के दौरान रेल चौकी के पास निजी जगह पर पार्किंग बनाई जाती है। जबकि अधिकांश वाहन सड़क पर ही खड़े होते हैं। आज तक स्थायी तौर पर इस समस्या का कोई समाधान नहीं ढूंढा गया है।
क्या कहते हैं लोग
सालों से पार्किंग की समस्या बनी हुई है। आज तक एक भी पार्किंग स्थल नहीं बन पाया। सड़कों पर ही वाहनों के खड़े होने से जाम की समस्या उत्पन्न होने से परेशानी होती है।
शहर में तमाम कांप्लेक्स, होटल आदि बन गए हैं। जहां बड़ी संख्या में लोग वाहनों से पहुंचते हैं। पार्किंग न होने से सड़क किनारे ही आड़े-तिरछे वाहन खड़े कर दिए जाते हैं।
पार्किंग को लेकर ठोस कदम उठाने की जरूरत है। प्रशासन इस तरफ ध्यान ही नहीं दे रहा है। जल्द योजना बनाकर इसे धरातल पर उतारना चाहिए।
कुछ सालों में मध्य हरिद्वार क्षेत्र में जिस तरह से भीड़ बढ़ी है, उसको देखते हुए पार्किंग बननी बहुत जरूरी है। सड़क किनारे तो वाहन खड़े ही होते हैं।
शहर में पार्किंग का निर्माण जल्द कराया जाएगा। इसके लिए प्राधिकरण ने योजना तैयार कर आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी है। हरिद्वार के अलावा रुड़की में भी पार्किंग बनाई जाएंगी। जिससे जल्द ही समस्या जल्द दूर हो जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00