लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Kotdwar ›   Half the floor of the bridge damaged, movement rests on the pillar

पैदल पुल जर्जरहाल, जान जोखिम में डालकर कर हो रही आवाजाही

Dehradun Bureau देहरादून ब्यूरो
Updated Tue, 09 Aug 2022 09:33 PM IST
Half the floor of the bridge damaged, movement rests on the pillar
विज्ञापन
ख़बर सुनें
दुगड्डा ब्लाक के ग्राम भानकोट के राजस्व ग्राम मासखेत को चौकीसेरा से जोड़ने वाला सिलगाड नदी पर बना पैदल पुल खस्ताहाल बना है। स्थिति यह है कि पुल का आधा फर्श क्षतिग्रस्त हो चुका है। अब पुल पिलर पर ही टिका हुआ है। कोई अन्य रास्ता न होने के कारण ग्रामीणों को इसी पैदल पुल से जान जोखिम में डालकर आवाजाही करने की मजबूरी बनी हुई है।

वर्ष 2005 में तत्कालीन ग्राम प्रधान ने पंचायत निधि से सिलगाड नदी पर 2.5 लाख की धनराशि से 18 मीटर स्पान का पुल बनवाया था। मगर वर्तमान में देखरेख के अभाव में पुल खस्ताहाल हो चुका है। स्थिति यह है कि इस पैदल पुल का फर्श आधा टूटकर एक पिलर के सहारे टिका हुआ है। गांव से मुख्य सड़क तक आवाजाही के लिए अन्य कोई वैकल्पिक मार्ग न होने के कारण बरसात में गांव के लोग जान जोखिम में डालकर इस पुल से आवाजाही करने के लिए मजबूर हैं। गांव में करीब 50 से 60 परिवार रहते हैं। प्रधान भास्कर बुड़ाकोटी, ग्रामीण अनिल कुमार, राकेश कुमार, मुकेश कुमार, गणेश चंद्र, रानी देवी, जीवानंद, सुषमा देवी आदि ग्रामीणों ने बताया कि पुल निर्माण के लिए पूर्व में तत्कालीन विधायक ऋतु भूषण खंडूड़ी को प्रस्ताव दिया गया था लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने जनहित में पुल निर्माण की मांग उठाई।

अभी किसी की तरफ से इस पैदल पुल के सुधारीकरण के लिए प्रस्ताव नहीं मिला है। ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों की ओर से प्रस्ताव मिलने पर नए सिरे से आगणन तैयार कर स्वीकृति के लिए शासन को भेजा जाएगा। - अजीत सिंह गुसाईं, सहायक अभियंता लोनिवि दुगड्डा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00