लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Kotdwar ›   Paniyali Gadera engulfed after heavy rain, people's breath held

तेज बारिश के बाद उफनाया पनियाली गदेरा, लोगों की अटकी सांसें

Dehradun Bureau देहरादून ब्यूरो
Updated Wed, 29 Jun 2022 09:06 PM IST
Paniyali Gadera engulfed after heavy rain, people's breath held
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पर्वतीय क्षेत्रों में बुधवार सुबह से हो रही तेज बारिश से कोटद्वार शहर के बीच से बहने वाला पनियाली गदेरा उफान पर रहा, जिसके कारण बाढ़ के खतरे को लेकर तटवर्ती क्षेत्र के लोग दहशत में रहे और उन्होंने अपना सामान समेटना शुरू कर दिया। वहीं, कोटद्वार-पौड़ी हाईवे पर कोटद्वार-दुगड्डा के बीच पहाड़ी से मलबा आने से करीब एक घंटे तक यातायात बाधित रहा। मार्ग खुलने के बाद ही लोग गंतव्य के लिए रवाना हुए।

बुुधवार सुबह से ही पर्वतीय क्षेत्रों में हुई बारिश से पनियाली गदेरा उफान पर आ गया। गदेरे में आए उफान से शिवपुर, जौनपुर, आमपड़ाव, मानपुर, सिताबपुर, काशीरामपुर और कौड़िया के लोग दहशत में रहे। पिछले चार वर्षों से लगातार आ रही आपदा से डरे हुए गदेरे से सटे घरों के लोगों ने अपना सामान समेटना शुरू कर दिया। करीब दो घंटे के बाद गदेरे के उफान में कमी आई, तब जाकर लोगों ने चैन की सांस ली। कोटद्वार में हुई बारिश से देवी रोड समेत अधिकतर सड़कों पर जलभराव रहा, जिसके कारण लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ा।

उधर, दोपहर बाद आई तेज बारिश के कारण कोटद्वार-दुगड्डा के बीच पांचवें मील पर अचानक पहाड़ी से मलबा आ गया। मलबा आने से मार्ग बंद हो गया, जिसके कारण हाईवे के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद लोनिवि एनएच खंड की जेसीबी ने मलबा हटाया, तब जाकर यातायात सुचारु हुआ। लोनिवि एनएच के अवर अभियंता अरविंद जोशी ने बताया कि हाईवे पर आए मलबे को हटाकर यातायात को खोल दिया गया है।
सिडकुल का नाला चोक होने से फैली गंदगी
बुधवार को हुई बारिश के बाद भाबर के जशोधरपुर स्थित सिडकुल का नाला चोक हो गया। इससे चारों तरफ गंदगी फैल गई। राहगीरों और आसपास के घरों में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने सिडकुल प्रशासन से शीघ्र नाले की सफाई करवाने की मांग की।
राकेश ध्यानी, दारा सिंह, बृजमोहन रावत, अनूप भारद्वाज, सुम्मी डबराल, नागेंद्र ध्यानी, कीर्तन सिंह का कहना है कि जशोधरपुर औद्योगिक आस्थान से हल्दूखाता तक सिडकुल की ओर से बरसाती पानी की निकासी के लिए करीब दो करोड़ की लागत से एक भूमिगत नाला बनाया गया था। सिडकुल की लापरवाही के चलते इस नाले की कभी सफाई नहीं करवाई गई। जशोधरपुर औद्योगिक आस्थान स्थित फैक्टरियों के श्रमिकों, होटल और ढाबे संचालकों की ओर से नाले में कूड़ा, कचरा और गंदगी डाली जाती है, जिस कारण नाला चोक हो गया है। उन्होंने शीघ्र समस्या का समाधान न होने पर सिडकुल के अधिकारियों का घेराव कर प्रदर्शन की चेतावनी दी। सिडकुल के क्षेत्रीय प्रबंधक सन्नी चौहान का कहना है कि जेई और संबंधित ठेकेदार को मौके पर भेजकर निरीक्षण के निर्देश दिए गए हैं। शीघ्र नाले की सफाई करवाई जाएगी। संवाद

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00