देखिए देश के दिल के 10 प्रसिद्ध किले

अमर उजाला

Thu, 23 June 2022

Image Credit : सोशल मीडिया

ग्वालियर का किला

8 वीं शताब्दी में निर्मित इस फोर्ट को भारत का जिब्राल्टर भी कहा जाता है। इस किले की सुंदरता की तुलना गले के हार से की गई है
Image Credit : सोशल मीडिया

देवी अहिल्या बाई का किला

नर्मदा नदी के किनारे महेश्वर में देवी अहिल्या बाई का किला मौजूद है। ये किला करीब 250 साल पुराना है। यहां कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है
Image Credit : सोशल मीडिया

रायसेन का किला

रायसेन का किला 800 साल पुराना है। कभी इस किले में नौ प्रवेश द्वार थे, जो कि अब खंडहर में तब्दील हो गए हैं।
Image Credit : सोशल मीडिया

ओरछा का किला 

बेतवा नदी के किनारे मौजूद यह किला सैलानियों की पहली पसंद है। 16वीं शताब्दी के इस किले में शीश महल, फूल बाग, राय प्रवीण महल आकर्षण का केंद्र हैं
Image Credit : सोशल मीडिया

असीरगढ़ का किला 

सतपुड़ा पर्वतमाला में मौजूद यह किला मध्य प्रदेश के बेहतरीन फोर्ट्स में से एक है। किले के आसपास मौजूद हरियाली सैलानियों को खूब पसंद आती है
Image Credit : सोशल मीडिया

चंदेरी का किला

71 मीटर ऊंची पहाड़ी पर मौजूद यह किला काफी प्रसिद्ध है। किले का मुख्य द्वार खूनी दरवाजा कहलाता है। इस फोर्ट का जिक्र महाभारत में भी मिलता है
Image Credit : सोशल मीडिया

मांडू का किला

मांडू का किला बाज बहादुर और रानी रूपमती के अमर प्रेम का प्रतीक है। फोर्ट में मौजूद जहाज महल और मांडू महल फेमस हैं
Image Credit : सोशल मीडिया

बांधवगढ़ का किला

समुद्र तल से करीब 811 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद यह किला कई छोटी-छोटी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। इस किले का उल्लेख रामायण में भी मिलता है
Image Credit : सोशल मीडिया

धार का किला

14 वीं शताब्दी में निर्मित धार फोर्ट मध्य प्रदेश के सबसे प्राचीन किलों में से एक है। इसका निर्माण सुल्तान मुहम्मद बिन तुगलक के शासनकाल में किया गया था

Image Credit : सोशल मीडिया

मदन महल का किला

जबलपुर में मौजूद इस किले का निर्माण गोंड शासक राजा मदन शाह ने कराया था। यह किला गोंड राजाओं की ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करता था। यह देश का सबसे छोटा किला है
Image Credit : सोशल मीडिया

हरियाणा निकाय चुनाव में भाजपा गठबंधन का परचम

अमर उजाला
Read Now