लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   West Bengal ›   West Bengal CM Mamata Banerjee taking part in the Chokkhu Daan ritual in Kolkata

West Bengal: बंगाल में शुरू हुआ दुर्गापूजा महोत्सव, मुख्यमंत्री ने किया चक्षु दान

एन. अर्जुन, कोलकाता Published by: Harendra Chaudhary Updated Mon, 26 Sep 2022 08:00 PM IST
सार

West Bengal: कोलकाता में हर साल आयोजक पूजा के लिए विशेष थीम को चुनते हैं। इस बार भी असंख्य दुर्गा पूजा थीम मन मोहने को तैयार हैं। कोलकाता के श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब ने इस बार पूजा मंडप वेटिकन सिटी की तर्ज पर बनाया है...

West Bengal CM Mamata Banerjee taking part in the Chokkhu Daan ritual in Kolkata
West Bengal CM Mamata Banerjee taking part in the Chokkhu Daan ritual in Kolkata - फोटो : Amar Ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पश्चिम बंगाल में दुर्गापूजा महोत्सव की शुरुआत हो गई है। मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री ने कोलकाता से एक साथ राज्य के 22 जिलों के 263 पूजा पंडालों का वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन किया। इसके अलावा कोलकाता में कई पंडालों का उन्होंने खुद जाकर उद्घाटन किया। ममता ने इस दौरान चेतला अग्रणी पूजा कमेटी के पंडाल में मां दुर्गा का चक्षु दान भी किया। इसके साथ ही लोगों का पांडालों में देवी दर्शन के लिए पहुंचना भी शुरू हो गया है।

यूनेस्को ने कोलकाता की दुर्गापूजा को सांस्कृतिक विरासत घोषित किया है। इसलिए उत्साह भी दोगुना हो गया है। यूनेस्को प्रतिनिधि विभिन्न पूजा पंडालों में जा रहे हैं। यह पूजा कमेटी मंत्री फिरहाद हकीम के संरक्षण में है।

थीम पर आधारित होते हैं पंडाल

कोलकाता में हर साल आयोजक पूजा के लिए विशेष थीम को चुनते हैं। इस बार भी असंख्य दुर्गा पूजा थीम मन मोहने को तैयार हैं। कोलकाता के श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब ने इस बार पूजा मंडप वेटिकन सिटी की तर्ज पर बनाया है। दक्षिण कोलकाता के हाजरा पार्क दुर्गोत्सव कमेटी ने इस साल आधुनिक मशीनों के प्रसार और रोजमर्रा की जिंदगी पर इसके प्रभाव को दिखाया है। इसी तरह से कालीघाट क्षेत्र में एक और बड़े पूजा आयोजक ट्राइकान पार्क सरबोजनिन' ने कार मैकेनिकों को सम्मानित करने का फैसला किया है।

यूनेस्को का आभार अपने पूजा मंडप के जरिये कोलकाता के बेहला बुड़ोशिवतला जनकल्याण संघ कर रहा है। दक्षिण कोलकाता में ढाकुरिया के बाबूबागान सार्वजनीन दुर्गोत्सव पूजा पंडाल के लिए स्मारक सिक्कों का इस्तेमाल किया है। दक्षिण कोलकाता पूजा चेतला अग्रणी अग्रणी ने इस साल केले के पत्तों से पूरे पूजा पंडाल का निर्माण किया है। साथ ही वह केले के पेड़ की छाल से रेशे निकालकर मंडप बनाया गया है। पूरा मंडप केले के पेड़ के पत्तों और छाल से बनाया गया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00