लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Anti Hijab Violence in Iran : religious police chief shot dead

Hijab Violence in Iran : ईरान के धार्मिक पुलिस प्रमुख की हत्या, थम नहीं रही हिजाब आंदोलन की आग

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, तेहरान Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Sat, 01 Oct 2022 08:30 AM IST
सार

हिजाब के खिलाफ हिंसक आंदोलन की शुरुआत महसा अमीनी की पुलिस हिरासत में मौत के बाद हुई थी। अमीनी जब अपने परिवार के साथ कहीं जा रही थी, जब धार्मिक या मॉरल पुलिस ने उसे कार से उतारकर ठीक से हिजाब नहीं पहनने के आरोप में हिरासत में लिया था।

ईरान में महिलाएं सरेआम बाल काटकर अनिवार्य हिजाब कानून का विरोध कर रहीं
ईरान में महिलाएं सरेआम बाल काटकर अनिवार्य हिजाब कानून का विरोध कर रहीं - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

ईरान में हिजाब विरोधी आंदोलन दिनोंदिन उग्र व हिंसक हो रहा है। अब अज्ञात प्रदर्शनकारी ने देश के धार्मिक पुलिस के प्रमुख की गोली मारकर हत्या कर दी। यह देख ईरान सरकार आंदोलनकारियों के खिलाफ और सख्त कदम उठाने जा रही है। 



हिजाब के खिलाफ हिंसक आंदोलन की शुरुआत महसा अमीनी (22) की पुलिस हिरासत में मौत के बाद हुई थी। अमीनी जब अपने परिवार के साथ कहीं जा रही थी, जब धार्मिक या मॉरल पुलिस ने उसे कार से उतारकर ठीक से हिजाब नहीं पहनने के आरोप में हिरासत में लिया था। उसे पूछताछ के लिए थाने ले जाया गया, जहां कथित तौर पर उसके साथ मारपीट की गई थी। इससे उसकी मौत हो गई। हालांकि, ईरान सरकार ने उसकी मौत की वजह हार्ट अटैक बताई है। इसके बाद पूरे देश में हिजाब के खिलाफ उग्र आंदोलन चल रहा है। 


ईरान में जगह-जगह हिंसक प्रदर्शनों में 50 से ज्यादा महिलाओं की मौत की खबर है। अब बंदूकधारी प्रदर्शनकारी पुलिस अधिकारियों को निशाना बनाने लगे हैं। इसी क्रम में ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड के सिस्तान और बलूचिस्तान प्रांत के खुफिया प्रमुख अली मौसावी की शुक्रवार को बंदूकधारी अज्ञात प्रदर्शनकारी ने गोली मारकर हत्या कर दी। 

मौसावी ईरान की धार्मिक पुलिस प्रमुख थे। पुलिस की यह इकाई ईरान में शरिया कानूनों का पालन कराती है। इस घटना से ईरान की अयातुल्लाह अली खुमैनी सरकार आंदोलनकारियों के खिलाफ और कठोर कार्रवाई कर सकती है। 

हिजाब के विरोध में सरेआम बाल काट रही महिलाएं
ईरान में महिलाएं सरेआम अपने सिर के बाल काटकर अनिवार्य हिजाब कानून का विरोध कर रही हैं। वहीं, महिलाओं के दमन की दुनियाभर में निंदा हो रही है। ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शनों में अब तक 50 से ज्यादा लोग मारे गए हैं। जबकि 700 से ज्यादा प्रदर्शनकारी गिरफ्तार किए गए हैं। ईरान सरकार हिजाब कानून में बदलाव नहीं करने पर अड़ी है तो आंदोलनकारी इसे खत्म करने की मांग कर रहे हैं। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00