लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Israel s NSO blocks some government clients from using its spyware over misuse claims: Report

पेगासस जासूसी विवाद: दुरुपयोग के दावों के बाद कंपनी का बड़ा फैसला, सरकारी ग्राहकों के स्पाइवेयर इस्तेमाल पर लगाई पाबंदी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन Published by: दीप्ति मिश्रा Updated Sat, 31 Jul 2021 03:58 PM IST
सार

एनएसओ ग्रुप ने यह पांबदी मीडिया संगठनों के परिसंघ ‘पेगासस प्रोजेक्ट’ की ओर से जांच के जवाब में लगाई गई है, जिसने जानकारी दी है कि कंपनी का पेगासस स्पाईवेयर हैकिंग और संभवत: निगरानी करने से जुड़ा है।

pegasus
pegasus - फोटो : kaspersky
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पेगासस जासूसी कांड को लेकर भारत समेत दुनिया भर में सियासी हंगामा मचा है। पेगासस जासूसी स्पाईवेयर बनाने वाली इस्राइली साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ ग्रुप ने एक बड़ा फैसला किया। एनएसओ ग्रुप ने उसकी स्पाईवेयर (जासूसी सॉफ्टवेयर) प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे दुनिया भर के अपने सरकारी ग्राहकों में से कई को इसके इस्तेमाल पर अस्थायी तौर पर रोक लगा दी है। अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी फिलहाल इसके कथित दुरुपयोगों की जांच कर रही है।


बता दें कि पेगासस जासूसी सॉफ्टवेयर का भारत समेत कई अन्य देशों में पत्रकारों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, नेताओं और कई अन्य की जासूसी के लिए कथित तौर पर उपयोग करने के आरोपों ने निजता से संबंधित मुद्दों को लेकर चिंता बढ़ा दी है। इस रिपोर्ट के आने के बाद भारत में सियासी हलचल तेज हो गई है। 


एनएसओ ग्रुप ने यह पांबदी मीडिया संगठनों के परिसंघ ‘पेगासस प्रोजेक्ट’ की ओर से जांच के जवाब में लगाई गई है, जिसने जानकारी दी है कि कंपनी का पेगासस स्पाईवेयर हैकिंग और संभवत: निगरानी करने से जुड़ा है। नेशनल पब्लिक रेडियो (एनपीआर) ने इस्राइली कंपनी के सूत्र के हवाले से बताया कि कुछ ग्राहकों की जांच की जा रही है। इनमें से कुछ उपयोगकर्ताओं के सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करने पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी है। 

कंपनी ने प्रतिबंधित ग्राहकों के नाम का नहीं किया खुलासा

स्वतंत्र एवं गैर लाभकारी मीडिया संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने सरकारी एजेंसियों या उन देशों के नाम नहीं बताए हैं, जिन्हें एनएसओ ने अपने स्पाईवेयर के इस्तेमाल से फिलहाल रोका है। उन्होंने बताया कि इस्राइली रक्षा नियम कंपनी को उसके ग्राहकों की पहचान करने से प्रतिबंधित करते हैं। एनएसओ की जारी आंतरिक जांच में उन लोगों के टेलीफोन नंबर की जांच की गई है, जिसे एनएसओ के ग्राहकों ने संभावित लक्ष्यों के तौर पर चिह्नित किया था।

मीडिया के किसी सवाल का जवाब नहीं देगी कंपनी
कर्मचारी ने बताया कि हमारी ओर से लगभग सारी चीजों की जांच की है, हमें पेगासस के साथ कोई संबंध नहीं मिला है। हालांकि, उसने संभावित दुरुपयोग के बारे में विस्तार से बताने से इनकार कर दिया, जिसका एनएसओ को संभवत: पता चला हो। कंपनी नीति के कारण नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कर्मचारी ने कहा कि एनएसओ इस मामले पर अब मीडिया के सवालों का जवाब नहीं देगा और वह शातिर एवं निंदनीय अभियान का हिस्सा नहीं बनेगा।

इस्राइली सरकार को भी दबाव का सामना करना पड़ा है क्योंकि वह अन्य देशों को स्पाइवेयर तकनीक की बिक्री को नियंत्रित करती है। इसने एनएसओ पर लगे आरोपों की जांच शुरू की है।

 रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि इस्राइली अधिकारियों ने कंपनी के संबंध में लगाए गए आरोपों का आकलन करने के लिए तेल अवीव के पास हर्जलिया में बुधवार को एनएसओ के कार्यालय का निरीक्षण किया था। एनएसओ कर्मचारी ने कहा कि कंपनी जांच में पूरा सहयोग कर रही है और इस्राइली अधिकारियों के समक्ष साबित करना चाहती है कि मीडिया की खबरों में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं, वे पेगासस का निशाना नहीं थे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00