Omicron Spread: कोरोना महामारी पर लोकसभा में आज होगी चर्चा, गुजरात के आठ प्रमुख शहरों में रात्रि कर्फ्यू बढ़ाया

एएनआई, नई दिल्ली Published by: Jeet Kumar Updated Wed, 01 Dec 2021 12:58 AM IST

सार

देश में मंगलवार को कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 124 करोड़ के पार पहुंच गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, शाम सात बजे तक कोविड की 72 लाख से ज्यादा डोज लगाई गईं। कोरोना रोकथाम उपाय अब 31 दिसंबर तक प्रभावी रहेंगे, इसके साथ ही सरकार गंभीर मरीजों को बूस्टर डोज देने की तैयारी कर रही है।
लोकसभा (फाइल फोटो)
लोकसभा (फाइल फोटो) - फोटो : PTI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा देश पर मंडरा रहा है। हालांकि देश में नए वैरिएंट का कोई केस सामने नहीं आया है। लेकिन भारत की राज्य सरकारें खासा सतर्कता बरत रहीं हैं। नए कोरोना वायरस के मद्देनजर गुजरात सरकार ने मंगलवार को आठ प्रमुख शहरों में रात का कर्फ्यू (सुबह 1 बजे से सुबह 5 बजे तक) 10 दिसंबर तक बढ़ा दिया है।
विज्ञापन

 

लोकसभा में आज कोरोना पर होगी चर्चा
संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने मंगलवार को बताया कि लोकसभा में बुधवार को कोरोना महामारी पर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि यह चर्चा कम अवधि वाली होगी। यह चर्चा नियम 193 के तहत होगी, जिसके तहत सदस्य सार्स-कोव-2 के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के बारे में विवरण मांग सकते हैं।


हरियाणा स्कूल खोलने का फैसला टाला
हरियाणा सरकार ने कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के सामने आने पर पहली दिसंबर से स्कूलों को पूरी क्षमता के साथ खोलने का निर्णय टाल दिया है।

नागपुर में स्कूल 10 दिसंबर और पुणे में 15 दिसंबर तक बंद
नागपुर के नगर आयुक्त राधाकृष्णन बी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन को ध्यान में रखते हुए शहर में कक्षा एक से सात तक के स्कूल 10 दिसंबर तक नहीं खुलेंगे। उसके बाद स्थिति की समीक्षा की जाएगी और उसके अनुसार निर्णय लिया जाएगा। उधर, पुणे नगर निगम ने भी कक्षा 1 से 7 तक के स्कूलों को 15 दिसंबर के बाद खोलने की मंगलवार को घोषणा की है।

आरटी-पीसीआर और आरएटी जांच में ओमिक्रॉन वायरस की पहचान संभव
कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन से लड़ने के लिए सरकार ने मंगलवार को राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के साथ बैठक में जांच बढ़ाने, हॉटस्पाट की कड़ी निगरानी करने के निर्देश दिए। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने आईसीएमआर के डीजी डॉ बलराम भार्गव के हवाले से बताया कि आरटी-पीसीआर व आरएटी जांच से यह म्यूटेशन बच नहीं सकता, इसलिए बिना किसी शंका के राज्यों को जांच का दायरा बढ़ाना चाहिए।  इस बीच, गृहमंत्रालय ने कोरोना रोकथाम उपायों को 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने को कहा है।

स्वास्थ्य सचिव भूषण ने कहा, कोरोना से बचाव के नए दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए राज्यों की जिम्मेदारी है कि वे निगरानी का स्तर घटने नहीं दें। अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर कड़ी नजर रखी जाए। भूषण ने बताया, हर जिले में ज्यादा से ज्यादा जांच हो। आरटी-पीसीआर जांच का अनुपात बरकरार रखा जाए, ताकि संक्रमण से पूर्व शिकंजा कसा जा सके। टीके की दोनों खुराक देने का काम 31 दिसंबर से पहले पूरा करने का लक्ष्य दिया।

दो सप्ताह में बूस्टर डोज के निर्देश संभव
टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने कहा, सरकार गंभीर मरीज व कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों को टीके की बूस्टर डोज देने पर विचार कर रही है। अगले दो हफ्तों में दिशा-निर्देश जारी हो सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने भी राज्यसभा में बताया कि बूस्टर डोज की जरूरत को लेकर वैज्ञानिक साक्ष्यों पर अध्ययन जारी है, जिसके जल्द नतीजे मिल जाएंगे।

मंजूरी मिल गई तो बच्चों को भी लगेगी कोवाक्सिन
भारत बायोटेक के टीके कोवाक्सिन को 2 से 18 वर्ष आयुवर्ग पर आपात इस्तेमाल की मंजूरी के लिए कोविड विशेषज्ञ समिति की सिफारिश की जांच की जा रही है।  केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने कंपनी से अतिरिक्त जानकारी मांगी है। इसकी मंजूरी के बाद ही टीकाकरण शुरू हो सकता है। राज्यसभा में डीएमके के सांसद तिरुचि शिवा ने सरकार से पूछा था कि क्या 12 साल से कम उम्र के बच्चों को कोवाक्सिन देने पर सरकार विचार कर रही है?

स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने कहा कि भारत बायोटेक द्वारा बच्चों और किशोरों पर किए टीके के क्लिनिकल परीक्षण के परिणामों पर विशेषज्ञ समिति की बैठकों में चर्चा हुई थी। कमेटी ने आपात स्थिति में कई शर्तों के साथ 2 से 18 वर्ष आयुवर्ग के लिए टीके को मंजूरी देने की सिफारिश की है, सरकार इसकी जांच कर रही है।

6,990 नए संक्रमित मिले
  • नए संक्रमण : 6,990 मिले, यह बीते 551 दिनों में सबसे कम, सोमवार के मुकाबले 3,316 कमी
  • कुल संक्रमण : 3,45,87,822, इनमें 1,00,543 एक्टिव केस, बीते 546 दिनों में सबसे कम
  • मौतें : मंगलवार सुबह 8 बजे खत्म हुए 24 घंटे में 190 लोगों की मौत  कुल मौतें  4,68,980
  • ज्यादा प्रभावित राज्य : केरल में 117 और महाराष्ट्र में 21
  • टीके : 123.25 करोड़ डोज दिए गए
31 दिसंबर तक हर घर दस्तक अभियान
केंद्र ने घर घर जाकर टीका लगाने वाले हर घर दस्तक अभियान को 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा, सौ फीसदी पहली खुराक के लक्ष्य को समय पर हासिल करने और बची हुई दूसरी खुराकें तेजी से देने के लिए फैसला लिया है।

देश में ओमिक्रॉन का एक भी मामला नहीं
राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने मंगलवार को बताया कि फिलहाल देश में ओमिक्रॉन का एक भी मामला नही है। इससे सुरक्षित रहने के लिए सरकार ने कदम उठाने भी शुरू कर दिए हैं। विदेश से आए संदिग्ध मामलों की जीनोम सीक्वेन्सिंग कराई जा रही है।

 

देश में 124 करोड़ हुआ टीकाकरण का आंकड़ा

देश में मंगलवार को कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 124 करोड़ के पार पहुंच गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, शाम सात बजे तक कोविड की 72 लाख से ज्यादा डोज लगाई गईं।

दिल्ली : 24 घंटे में 34 नए मामले
दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 34 नए मामले सामने आए, 32 लोग ठीक हुए और एक भी मौत दर्ज नहीं हुई। इसके साथ ही प्रदेश में कुल मामलों की संख्या 14,40,934 हो गई है। अब तक कुल 14,15,549 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। कुल 25,098 मौतें हुई हैं और राज्य में अभी सक्रिय मामलों की संख्या 287 है।

मुंबई : कोरोना के 187 नए मामले सामने आए
मुंबई में मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 187 नए मामले सामने आए, जबकि 192 लोग ठीक भी हुए। इस दौरान दो लोगों की कोरोना से मौत दर्ज की गई। मुंबई में अब तक कुल 7,62,881 मामले सामने आए चुके हैं। कुल 7,41,961 लोग ठीक हुए हैं, कुल 16,336 मौतें दर्ज हुई हैं। जबकि शहर में सक्रिय मामलों की संख्या 2,052 है।

गोवा : हवाई अड्डों पर सभी विदेशी यात्रियों का कोविड टेस्ट अनिवार्य
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सांवत ने मंगलवार को कहा कि हवाई अड्डों पर आने वाले विदेशी यात्रियों का कोविड टेस्ट अनिवार्य होगा। केंद्र सरकार ने जिन 12 देशों की सूची निकाली है, वहां से आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों के लिए क्वारंटीन होना होगा और बाकी यात्री टेस्ट करवाकर सेल्फ आइसोलेट हो सकते हैं।

कर्नाटक : रिपोर्ट निगेटिव फिर भी सात दिन क्वारंटीन रहना होगा
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के. सुधाकर ने मंगलवार को कहा कि राज्य में प्रतिदिन लगभग 2,500 अंतरराष्ट्रीय यात्री आते हैं और सभी को अब आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना अनिवार्य है, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी, उन्हें सात दिन के लिए होम क्वारंटीन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सिम्टोमैटिक और निगेटिव रिपोर्ट वाले लोगों को 5वें दिन घर पर ही टेस्ट करवाना होगा। सातवें दिन एसिम्टोमैटिक की जांच की जाएगी। पॉजिटिव आने पर उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा और अलग से इलाज किया जाएगा।

असम : 144 नए मामले आए
असम में मंगलवार को कोरोना वायरस के 144 नए मामले सामने आए, 109 ठीक हुए और कोरोना से पांच लोगों की मौत दर्ज हुई। यहां सक्रिय मामले 1,278 हैं। कुल मामलों की संख्या 6,16,852 है। अब तक कुल 6,08,124 लोग ठीक हुए हैं और कुल 6,103 लोगों की मौत हुई है।

नागालैंड : 13 नए मामले सामने आए
नागालैंड में मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 13 नए मामले सामने आए, इसके साथ ही यहां अब तक सामने आए कुल मामलों की संख्या 32,122 हो गई है। बीते 24 घंटे में 19 मरीज ठीक हुए हैं, जिसके बाद अब तक ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या 30,229 हो गई है। राज्य में अभी 133 सक्रिय मामले हैं, जबकि 1,064 मरीज दूसरे राज्यों में चले गए हैं।

कोरोना के मामलों में कमी, पर तीसरी लहर की आशंका बरकरार

सरकार का कहना है कि देश में पिछले कुछ माह में कोविड-19 के मामलों में कमी का रुख दिखा है, लेकिन वायरस के लगातार रूप बदलने के कारण संक्रमण में बढ़ोतरी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। राज्यसभा में स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीन पवार ने एक लिखित जवाब में बताया कि सरकार देश और दुनिया में कोविड-19 संक्रमण के मामलों पर लगातार नजर बनाए हुए है। सरकार से पूछा गया था कि स्वास्थ्य प्राधिकरणों की देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका पर क्या ध्यान दिया जा रहा है?

भारती ने कहा कि फिलहाल राज्यों से मिली रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कोरोना के मामले घट रहे हैं। स्वास्थ्य राज्यों का मामला है। केंद्र सरकार महामारी की शुरुआत से ही इससे निपटने में राज्यों की मदद कर रही है। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में तैयारियों और कोरोना या अन्य स्वास्थ्य संकट से निपटने के लिए क्षमता विकसित की जा रही है। एजेंसी  

जीका वायरस से देश में किसी की मौत नहीं
उन्होंने बताया कि देश के तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, केरल और महाराष्ट्र में इस साल जीका वायरस के 231 मामले सामने आए हैं। तीनों ही राज्यों में किसी की भी मौत दर्ज नहीं हुई है। उत्तर प्रदेश के कानपुर में 139, लखनऊ में 6, उन्नाव में एक और कन्नौज में एक मामला दर्ज हुआ है। केरल में कुल 83 और महाराष्ट्र में एक मामला दर्ज हुआ।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00