Hindi News ›   World ›   Pakistan opposition alliance escalates campaign against PM Imran khan may give collective resignation tomorrow

पाकिस्तान में सियासी हालात खराब, विपक्षी सांसद और विधायक दे सकते हैं सामूहिक इस्तीफा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, लंदन Published by: दीप्ति मिश्रा Updated Mon, 07 Dec 2020 10:12 PM IST
इमरान खान
इमरान खान - फोटो : social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

कंगाली से जूझ रहे पाकिस्तान की जनता बिगड़ती आर्थिक स्थिति, मंहगाई, बेरोजगारी  और कोरोना वायरस समेत तमाम समस्याओं का सामना कर रही है। इस वजह से जनता में प्रधानमंत्री इमरान खान सरकार के खिलाफ नाराजगी है। इमरान सरकार विपक्षी दलों और जनता दोनों के निशाने पर है। विपक्षियों को जनता का भारी समर्थन मिल रहा है। पाकिस्तान में 8 दिसंबर को विपक्षी सांसद और विधायक सामूहिक इस्तीफा दे सकते हैं।



 लंदन में इलाज करा रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि इमरान सरकार देश की समस्याओं से भाग रही है। बिगड़ती आर्थिक स्थिति, महंगाई और बेरोजगारी पर काबू पाने के बजाय झूठा प्रचार करने में लगी हुई है। वहीं नवाज की बेटी मरयम नवाज ने संकेत दिया है कि 8 नवंबर को सभी विपक्षी दलों के सांसद और विधायक सामूहिक इस्तीफे दे सकते हैं।


जनता परेशान, झूठे प्रचार में व्यस्त इमरान
पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष नवाज शरीफ ने एक वर्चुअल कांफ्रेंस में कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में बेरोजगारी इस कदर बढ़ गई है कि अब देश के नागरिकों को अपने बच्चों की फीस भरना, घर का किराया देना और गाड़ियों में पेट्रोल-डीजल भरवाना मुश्किल हो रहा है। इसके बावजदू इमरान सरकार झूठा प्रचार करने में लगी हुई है।

नवाज ने बाजवा पर लगाया यह आरोप

नवाज ने इमरान के प्रमुख सहयोगी रिटायार लेफ्टिनेंट जनरल आसिम सलीम बाजवा पर आरोप लगाया कि वह पाकिस्तान की जनता से धन बटोरकर अमेरिका में विलासितापूर्ण जीवन जीने के साधन जुटा रहे हैं।

8 दिसंबर को बड़े फैसले लेगा विपक्ष 
कार्यकर्ताओं के इसी सम्मेलन में पार्टी की उपाध्यक्ष और नवाज की बेटी मरयम नवाज ने कहा कि 8 नवंबर को विपक्षी दल सरकार के खिलाफ कई बड़े निर्णय ले सकते हैं। उन्होंने सांसदों और विधायकों के इस्तीफे दिए जाने के भी संकेत दिए। इधर जमात-ए- इस्लामी के नेता सिराजुल हक ने कहा कि जो लोग कह रहे हैं कि आर्थिक स्थिति ठीक हो रही है, उन्हें आटे और दाल का भाव बाजार में मालूम करना चाहिए।

फजलुर रहमान ने दी इमरान को चेतावनी 
पाकिस्तान में विपक्ष के नेता फजलुर रहमान ने इमरान खान को चेतावनी दी कि यदि लाहौर में होने वाली रैली को विफल करने की कोशिशें की गई और सुरक्षा बलों का इस्तेमाल किया गया, तो नतीजे गंभीर होंगे। सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को बरबाद कर दिया है। उन्होंने सुरक्षा बलों से कहा कि आप देश की ताकत हैं। आप हमारी सीमाओं की मजबूती के साथ रक्षा करें। सुरक्षा बलों को देश के अंदरूनी मामलों में दखलंदाजी नहीं करनी चाहिए।

ये लोग दे सकते हैं इस्तीफा 
पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के पंजाब प्रांत के अध्यक्ष राना सनाउल्लाह ने बताया कि देश के 11 विपक्षी दलों के संगठन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के केंद्र और प्रांतीय सरकार के सांसद और विधायक सामूहिक इस्तीफा दे सकते हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि इस बारे में अंतिम फैसला पीडीएम नेता ही लेंगे। उन्होंने चेताया कि यदि सरकार ने विपक्षी नेताओं से बात नहीं की, तो इससे हालात और खराब होंगे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00