सराहनीय: सिख युवकों ने पेश की मिसाल, पगड़ी खोलकर रस्सी बनाई और बचा ली नदी किनारे फंसे युवकों की जान

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वैंकोवर Published by: Jeet Kumar Updated Wed, 20 Oct 2021 01:12 AM IST
पगड़ी खोलकर नदी के किनारे फंसे युवकों बचाया
पगड़ी खोलकर नदी के किनारे फंसे युवकों बचाया - फोटो : YouTube grab
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कनाडा के वैंकोवर से इंसानियत की मिसाल पेश करने वाली कुछ तस्वीरें सामने आई हैं। यहां कुछ सिख युवकों ने नदी के किनारे फंसे शख्स की जान बचाई। इसके लिए इन साहसी युवाओं ने अपनी पगड़ी निकालकर उसकी रस्सी बनाई, जिसके सहारे किनारे पर फंसे शख्स को ऊपर खींचकर बाहर निकाला गया।
विज्ञापन


अब इस घटना से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि नदी का बहाव काफी तेज है। उसके किनारे पर दो युवक फंसे हैं और उन्हें बचाने के लिए सिख युवकों ने अपनी पगड़ी को रस्सी की तरह बनाकर और उन्हें ऊपर खींचकर बचा लिया।


स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो गोल्डन एर्स प्रोविंशियल पार्क के लोअर फॉल्स ट्रेल में पांच दोस्त अपनी सैर का आनंद ले रहे थे, तभी उन्होंने कुछ आवाजें सुनीं, तब पास आकर देखा कि दो लोग वहां फंस गए हैं।

एक सिख युवक कुलजिंदर सिंह ने बताया कि नदी का बहाव काफी तेज था और दो लोग नदी के किनारे एक बड़ी चट्टान पर फंसे थे। ऐसा लगा कि क्या हम उनकी मदद करें, या 911 पर कॉल करके मदद का इंतजार करें। हमारे पास कोई फोन भी नहीं था और न हमारे पास उन्हें बचाने के लिए कोई अन्य उपकरण था। उन्हें बचाने के लिए हमारे पास केवल हमारी पगड़ी थी। 

आगे उन्होंने बताया कि हमने फैसला कर लिया, पगड़ी पहने तीनों युवकों ने अपनी जैकेट को साथ मिलाकर एक रस्सी बनाई और फंसे हुए दोनों पैदल यात्रियों को खींचने के लिए इसका इस्तेमाल किया और उनको बचा लिया। कुलजिंदर ने बताया कि मैं सिख धर्म से आता हूं, इसमें पगड़ी का काफी महत्व है। लेकिन उस वक्त फंसे हुए लोगों के जीवन को बचाने में मदद करने के लिए पगड़ी का उपयोग किया।

हालांकि रेस्क्यू करने वाला दल भी वहां पहुंचा लेकिन तब तक उन फंसे युवकों को बचाया जा चुका था। बचाव दल के प्रबंधक रिक लिंग ने कहा 'मैं चकित हूं, मैंने कभी ऐसा कुछ नहीं सुना या किसी को भी ऐसा कुछ करते हुए नहीं देखा। उन्होंने इतने कम समय में बहुत अच्छा काम किया। लिंग ने उनके काम की सराहना की।

बचाव दल के प्रबंधक लिंग ने कहा कि इस झरने के पास हर साल कभी-कभी मदद के लिए कॉल आती है। इससे अच्छा है कि लोग उच्च जल स्तर वाली खाड़ियों और नदियों से दूर रहें। यहां पानी बहुत तेज है और अगर आप झरने में गिर गए तो बचने की कोई संभावना नहीं है।

बहरहाल, वायरल हुए सिख युवकों के इस वीडियो को अब तक हजारों बार देखा जा चुका है और हर कोई इन युवाओं के साहस की सराहना कर रहा है। कुलजिंदर सिंह ने कहा कि मेरा परिवार और मेरा पूरा सिख समुदाय हम पर गर्व महसूस कर रहा है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00