Hindi News ›   World ›   WhatsApp preparing to impose a fine of 50 million euros in Europe

व्हाट्सएप पर यूरोप में पांच करोड़ यूरो का जुर्माना लगाने की तैयारी, निजता के उल्लंघन का आरोप

डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, ब्रुसेल्स Published by: संजीव कुमार झा Updated Sun, 24 Jan 2021 06:57 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

मेसेजिंग ऐप व्हाट्सएप पर यूरोपियन यूनियन (ईयू) पांच करोड़ यूरो का जुर्माना लगाने वाला है। वेबसाइट पोलिटिको.ईयू ने इस मामले की प्रत्यक्ष जानकारी रखने वाले तीन सूत्रों के हवाले से ये खबर छापी है। ये जुर्माना ईयू के डाटा संरक्षण नियमों का उल्लंघन करने के लिए लगाया जाएगा। वैसे वेबसाइट ने कहा है कि जुर्माने की रकम कितनी हो, इस पर अभी ईयू के विभिन्न देशों की डाटा संरक्षण एजेंसियों से राय-मशविरा चल रहा है। वेबसाइट का कहना है कि ये जुर्माना इतना बड़ा हो सकता है, जितना ऐसे मामले में आज तक किसी मेसेजिंग एप पर नहीं लगा है।

विज्ञापन


ईयू ने 2018 में डाटा संरक्षण के आम नियम लागू किए थे। उसके तहत यूजर्स की प्राइवेसी के संरक्षण के नियम लागू हुए। लेकिन फेसबुक कंपनी के मेसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने उनका उल्लंघन किया है। उसने यूरोप के  निजता नियमों के मुताबिक जरूरी पारदर्शिता नहीं बरती। आयरलैंड में हुई जांच में इस एप को दोषी ठहराया गया है।


मुमकिन है कि जुर्माने के एलान के साथ ही व्हाट्सएप को यूजर्स के डाटा के उपयोग के तरीके में बदलाव लाने का आदेश भी दिए जाएं। जांच ये आरोप लगने पर कराई गई थी कि व्हाट्सएप ने ईयू के यूजर्स को यह ठीक ढंग से नहीं बताया कि वह उनके डाटा को  किस तरह फेसबुक के साथ साझा करेगा।

गौरतलब है कि फ्रांस का प्राइवेसी प्राधिकरण गूगल पर पांच करोड़ यूरो का जुर्माना लगा चुका है। गूगल पर भी प्राइवेसी उल्लंघन के कई मामले साबित हुए थे। आयरलैंड के डाटा संरक्षण आयोग ने हाल में यूरोप पर 45 लाख यूरो का जुर्माना लगाया था। आयरलैंड के कानून के मुताबिक सोशल मीडिया कंपनियां उसके अपने कानून के दायरे में आती हैं।

व्हाट्सएप पर जुर्माने की सिफारिश भी आयरलैंड के आयोग ने ही की है। लेकिन फिलहाल उसने ईयू के तहत आने वाले दूसरे देशों की ऐसी एजेंसियों को जुर्माने पर सुझाव देने के लिए अपनी रिपोर्ट भेजी है। इस मामले में आने वाले महीनों में फैसला होने की संभावना है। व्हाट्सएप के प्रवक्ता ने पोलिटिको से कहा कि उसकी कंपनी इस मामले में अंतिम फैसले का इंतजार कर रही है।

पिछले नवंबर में फेसबुक ने व्हाट्सएप पर संभावित जुर्मानों को भरने के लिए पौने आठ करोड़ यूरो का बजट तय किया था। आयरलैंड में फेसबुक और व्हाट्सएप ने खुद को अलग- अलग कंपनी के रूप में दर्ज करा रखा है। आयरलैंड का डाटा संरक्षण आयोग इस बात की जांच भी कर रहा है कि क्या अलग इकाई होने के बावजूद व्हाट्सएप फेसबुक के साथ डाटा साझा कर सकता है।

जानकारों के मुताबिक जिस मामले में व्हाट्सएप पर जुर्माना लगाया जा रहा है, ये तब का है, जब इस ऐप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को बदलने का एलान नहीं किया था। ये एलान इसी महीने हुआ, जिसके बाद व्हाट्सएप की दुनिया भर में आलोचना हुई है। इसके लाखों यूजर्स ने इसे छोड़ कर सिग्नल या टेलीग्राम जैसे ऐप्स का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

पहले की घोषणा के मुताबिक व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी अगले 8 फरवरी से लागू होनी थी। लेकिन अब इसे 15 मई तक टाल दिया गया है। इस नई पॉलिसी में व्हाट्सएप ने कहा है कि वह अपने अरबों यूजर्स के डाटा को फेसबुक के साथ साझा करेगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00