वायरल: अजीब जुल्म करती हैं  तेरी यादें मुझ पर 

वायरल: अजीब जुल्म करती हैं  तेरी यादें मुझ पर 
                
                                                             
                            अजीब जुल्म करती हैं  तेरी यादें मुझ पर 
                                                                     
                            
सो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती है

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अल्फ़ाज़ बाकी हैं 
एक अधूरे इश्क़ की एक मुकम्मल सी याद बाकी है

कोई उम्मीद नहीं थी हमें उनसे मुहब्बत की
एक ज़िद थी कि दिल टूटे तो सिर्फ उनके हाथ से टूटे  आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X