तू चाहिए न तेरी वफ़ा चाहिए मुझे - ख़ुमार बाराबंकवी

तू चाहिए न तेरी वफ़ा चाहिए मुझे
                
                                                             
                            तू चाहिए न तेरी वफ़ा चाहिए मुझे 
                                                                     
                            
कुछ भी न तेरे ग़म के सिवा चाहिए मुझे 

मरने से पहले शक्ल ही इक बार देख लूँ 
ऐ मौत ज़िंदगी का पता चाहिए मुझे 
आगे पढ़ें

1 year ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं
<<<<<<< HEAD
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं
======= >>>>>>> feb267328f56a7e96f0c022f6086442ee21d097d