विज्ञापन

रक्षाबंधन को मुकम्मल करता नग़मा - "फूलों का तारों का, सबका कहना है"

Raksha Bandhan Special Song Phoolon Ka Taaron Ka, Sabka Kehna Hai
                
                                                                                 
                            इंसान के जीवन में उसका परिवार, रिश्ते और मित्र बेहद अहम होते हैं। हर कोई कभी ना कभी, किसी ना किसी दौर में ऐसी स्थिति में होता है कि वह अपने परिवार को, रिश्तों को या दोस्तों को याद कर रहा होता है। बदलते समय और जीवन की आपाधापी की वजह से हमारे रिश्तों में दूरी क्यों ही ना आई हो लेकिन हमारे त्योहार, संस्कृति और हमारे जीवन के मानवीय पहलू और एहसास हमें इन रिश्तों से हमेशा जोड़े रखती है।
                                                                                                


ऐसा ही एक त्योहार है जिसने रेशम की डोर को प्यार की डोर में बदल दिया है। जिसने राखी को रक्षासूत्र बनने की ताकत दी है। रक्षाबंधन भाई-बहन के रिश्ते का दिन है। ये दिन उनके अटूट प्रेम का दिन है जो जन्म के साथ ही जुड़ जाता है। इस दिन भाई के हाथों में बांधी गई राखी धागों का ऐसा बंधन बन जाती है जो भाई-बहन के रिश्ते को और भी मजबूत कर देती है। साथ ही भाइयों को बहनों के प्रति अपने कर्तव्यों की याद भी दिलाती है। आगे पढ़ें

11 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X