जीवन में प्रेम ही हमें बचा सकता है - पाब्लो नेरुदा

pablo neruda about love
                
                                                             
                            आप अगर तमाम फूलों को नष्ट कर दे तो भी वसंत को आने से नहीं रोक सकते। एक बच्चा अगर नहीं खेलता, तो वह बच्चा नहीं है। लेकिन जो मनुष्य खेल में रुचि नहीं लेता, उसने अपने भीतर के बच्चे को हमेशा के लिए खत्म कर दिया है। बचपन के जंगली बगीचे में सब कुछ उत्सव जैसा होता है। कुछ भी हमें मृत्यु से नहीं बचा सकता, पर प्रेम हमें जीवन में तो बचा ही सकता है। प्रेम बहुत छोटा होता है, जबकि उसे भूलना बहुत लंबा। मुझे बेशक रोटी, हवा, रौशनी, पानी और वसंत न दो, लेकिन अपनी मुस्कुराहट से वंचित न करो, नहीं तो मैं मर जाऊंगा।
                                                                     
                            

मुस्कराहट हमारी आत्मा की भाषा है। सिर्फ़ अकूत धैर्य ही हमें ख़ुशी तक ले जा सकता है। एक चुंबन में तुम वह सब कुछ जान जाओगी, जो मैंने कहा नहीं। मैं तुमसे प्रेम करता हूं, बिना यह जाने कि कहा, क्यों और कैसे इस प्रेम की शुरुआत हुई। मैं बगैर किसी समस्या या गर्व के तुमसे प्रेम करता हूं। मैं इसी तरह से तुमसे प्रेम करता हूं, क्योंकि मैं प्रेम का कोई दूसरा तरीका नहीं जानता। मैं तुम्हारे साथ उसी तरह प्रेम करना चाहता जिस तरह वसंत चेरी के पेड़ के साथ प्रेम करता है। आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X