डेंगू के 39 नए मरीज मिले, छह ठीक होकर घर लौटे

Rohtak Bureau रोहतक ब्यूरो
Updated Sat, 23 Oct 2021 01:45 AM IST
जिला अस्पताल के मेडिकल वार्ड में भर्ती बुखार के मरीज। संवाद
जिला अस्पताल के मेडिकल वार्ड में भर्ती बुखार के मरीज। संवाद - फोटो : Sonipat
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जिले में बदलते मौसम के कारण बुखार के मरीजों में लगातार इजाफा हो रहा है। डेंगू के मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को भी डेंगू के 39 नए मरीज मिले हैं। जिला अस्पताल में रोजाना बुखार के 800 मरीजों की ओपीडी हो रही है। अस्पताल में बुखार के 40 मरीज और डेंगू के 14 मरीज भर्ती हैं। वहीं डेंगू लैब के बाहर रक्त सैंपल देने वाले मरीजों की लंबी लाइन लग रही है। लगातार बढ़ रहे डेंगू को नियंत्रित करने के लिए जिला मलेरिया अधिकारी टीम के साथ शुक्रवार को फील्ड में पहुंची। टीडीआई एस्पानिया में जांच के दौरान वहां भरे पानी में लार्वा पाया गया। इस पर टीडीआई एस्पानिया प्रबंधन को नोटिस जारी करके एक सप्ताह में स्थिति सुधारने को कहा गया है।
विज्ञापन

सामान्य बुखार के साथ डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। सरकारी व निजी अस्पतालों में बुखार के मरीजों की भीड़ लगी रहती है। शहरी क्षेत्र से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में बुखार का ज्यादा प्रकोप है। बुखार की चपेट में सभी आयु वर्ग के लोग आ रहे हैं। जिले में शुक्रवार को डेंगू के 39 नए मरीज मिले हैं, जिससे आंकड़ा बढ़कर 273 तक पहुंच गया है। बुखार के मरीजों के लिए आरक्षित बेड पर 40 मरीज भर्ती हैं। डेंगू वार्ड में 14 मरीजों का उपचार चल रहा है। अस्पताल प्रबंधन की तरफ से शुक्रवार दोपहर बाद बुखार के 10 मरीज, डेंगू के छह मरीजों को ठीक होनेे पर छुट्टी दे दी गई। डेंगू के प्रकोप के बीच स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी अलर्ट हैं।

बुखार आने पर खाना-पीना न छोड़ें
फिजिशियन डॉ. शैलेंद्र राणा ने बताया कि कई बार बुखार आने पर लोग खाना-पीना बंद कर देते हैं। ऐसे में मरीजों को कमजोरी महसूस होती है। बुखार आने पर मरीजों को खाना-पीना नहीं छोड़ना चाहिए। इसकी जगह दाल, दलिया, खिचड़ी आदि हल्के भोजन का सेवन कर सकते हैं। इसी तरह बुखार आने पर तुरंत चिकित्सक को दिखाकर उपचार लेना चाहिए। खुद के जागरूक रहने से हर कोई स्वस्थ रह सकता है। सभी लोग गुनगुना पानी पीएं, साथ ही बासी भोजन करने से परहेज करें। मच्छरदानी का प्रयोग जरूर करें व ऐसे कपड़े पहनें, जिससे पूरा शरीर ढका जा सके। आसपास साफ-सफाई रखें व पानी जमा न होने दें।
जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. अनविता कौशिक शुक्रवार को अपनी टीम के साथ टीडीआई एस्पानिया में निरीक्षण करने के लिए पहुंचीं। जहां पर बारिश के भरे पानी में लार्वा मिला। इस पर उन्होंने लार्वा खत्म करने के लिए काला तेल डलवाया। वहीं डॉ. अनविता कौशिक ने लोगों को डेंगू बचाव के लिए जानकारी दी। साथ ही उन्होंने टीडीआई एस्पानिया प्रबंधन को लार्वा मिलने पर नोटिस जारी किया और एक सप्ताह के अंदर डेंगू बचाव के लिए उचित प्रबंध करने के निर्देश दिए।
डीडीपीओ संग बैठक कर गांवों में फॉगिंग करवाने को कहा
जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. अनविता कौशिक ने डीडीपीओ रुपेंद्र मलिक से उनके कार्यालय पर बैठक की। इस दौरान उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायतों के पास फॉगिंग की 180 मशीनें हैं। ऐसे में वह सभी बीडीपीओ (खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी) को निर्देश देकर सभी गांवों में फॉगिंग अवश्य करवाएं। शहर के साथ गांवों में काफी संख्या में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं। ऐसे में फॉगिंग से डेंगू के नियंत्रण में मदद मिलेगी।
बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंच रहे मरीज
गन्नौर क्षेत्र में बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिदिन काफी संख्या में मरीज आ रहे हैं। बुखार, सर्दी, जुकाम और खांसी से पीड़ित उपचार करवाने पहुंच रहे हैं। केंद्र की एसएसओ डॉ. टीना आनंद ने बताया कि बुखार पीड़ितों के ब्लड सैंपल लेने लिए स्वास्थ्यकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा घर-घर जाकर सर्वे किया जा रहा है। एमपीएचडब्ल्यू जितेंद्र राणा के नेतृत्व में आशा वर्कर रेश्मा, हेमलता, रीना, अंजना ने शुक्रवार को गांधी नगर, वाल्मीकि मोहल्ला व गढ़ी केसरी में घरों में सर्वे किया गया। इस दौरान लोगों को पानी की टंकियों, होदी, कूलर की जांच की गई, जिसमें से कई घरों में लार्वा मिला। टीम ने लार्वा नष्ट करवाकर मकान मालिकों को चेतावनी दी। इस दौरान घरों में मिले बुखार के मरीजों के ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए लैब में भेजे।
जिला अस्पताल में बढ़ाई जाए सुविधा
आप आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष देवेंद्र गौतम ने कहा कि डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला अस्पताल में बेहतर सुविधा देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिविल सर्जन के सामने प्लेटलेट्स की मशीन सरकारी ब्लड बैंक में उपलब्ध करवाने की मांग की गई थी, लेकिन आज तक यह मशीन उपलब्ध नहीं हो पाई है। इसके लिए खानपुर भागना पड़ता है। वहीं आप कार्यकर्ताओं ने गांव खेवड़ा में सूरजभान आंतिल के नेतृत्व में सफाई अभियान चलाया। इस दौरान धर्म सिंह, राजे बंजारा, नीरज, सोनू, भतेरी, सरिता आदि लोग मौजूद रहे।
डेंगू बचाव के लिए शहर में फॉगिंग में लाई जा रही है तेजी
शहर में डेंगू के केसों में बढ़ोतरी को देखते हुए पूर्व मंत्री कविता जैन व सीएम के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने फॉगिंग अभियान में तेजी लाने पर जोर दिया है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान भी किया है कि जिस क्षेत्र में डेंगू मरीजों का पता चले, वहां फॉगिंग करवाने के लिए बताएं और लोगों को इससे बचाव को लेकर भी जागरूक करें। राजीव जैन ने कहा कि तीन महीने में दो बार शहर में फॉगिंग करवाई जा चुकी है और वर्तमान में कबीरपुर, इंदिरा कॉलोनी, शांति विहार, कैलाश कॉलोनी, इंडियन कॉलोनी, मयूर विहार, गीता भवन, देवडू रोड, जीवन नगर, जीवन विहार एक्सटेंशन, दहिया कॉलोनी, आर्य नगर, कालूपुर को फॉगिंग के दायरे में लाया गया है।
वर्जन
जिले में शुक्रवार को डेंगू के 39 मरीज मिले हैं। डेंगू से बचाव के लिए लोगों को लगातार जागरूक किया जा रहा है। साथ ही चेकिंग कर लार्वा को नष्ट कराया जा रहा है। लोगों को चाहिए कि वह अपने आसपास पानी एकत्रित न होने दें।
- डॉ. अनविता कौशिक, जिला मलेरिया अधिकारी
जिला अस्पताल में डेंगू लैब के बाहर रक्त जांच कराने के लिए लगी मरीजों की लाइन। संवाद
जिला अस्पताल में डेंगू लैब के बाहर रक्त जांच कराने के लिए लगी मरीजों की लाइन। संवाद- फोटो : Sonipat

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00