बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें
Myjyotish

अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दिल्ली में बाढ़ का खतरा: खतरे के निशान से ऊपर बह रही यमुना, निचले इलाकों में खेतों की तरफ बढ़ा पानी

बारिश के बाद और हथिनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी के चलते दिल्ली में शुक्रवार को यमुना नदी का जल स्तर 205.33 मीटर के ऊपर चला गया है। बता दें कि 205.33 मीटर दिल्ली में खतरे का निशान है, इसके ऊपर नदी बहे तो शहर के निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ जाता है। जलस्तर बढ़ने की वजह से गुरुवार को ही दिल्ली लोहे के पुल को बंद कर दिया गया था।

खतरे के निशान से ऊपर बह रही यमुना का पानी अब खेतों की ओर बढ़ रहा है। निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए कहा गया है।
 
विभाग की ओर से जारी आज का बाढ़ अलर्ट अपडेट-
हथिनीकुंड (समय) : छोड़ा गया पानी (क्यूसेक में) 
06:00 बजे                 20485
07:00 बजे                 20485
08:00 बजे                 19056
09:00 बजे                 19056
10.00 बजे                 19056

पुराने रेलवे ब्रिज पर पानी का स्तर
    समय            जलस्तर
06:00 बजे        205.10
07:00 बजे        205.17
08:00 बजे        205.22
09:00 बजे        205.26
10:00 बजे        205.32
11:00 बजे        205.34
12:00 बजे        205.37

इसके साथ ही बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने नदी के डूब क्षेत्र के करीब के निचले इलाकों में अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों द्वारा चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी की जा रही है। विभाग के मुताबिक, ऊपरी डूब वाले इलाकों में बारिश के कारण यमुना का जलस्तर बढ़ गया है।

हरियाणा के यमुनानगर जिले में हथिनीकुंड बैराज से नदी में और पानी छोड़ा जा रहा है। पिछले 24 घंटों में पानी की दर 1.60 लाख क्यूसेक पहुंच गई है जो इस साल सबसे अधिक है। हरियाणा से गुरुवार को सुबह दस बजे तक 85,879 क्यूसेक की दर से यमुना में पानी छोड़ा जा रहा था। ऐसे में अगले 24 घंटो में जल स्तर बढ़ सकता है।
... और पढ़ें
यमुना का जलस्तर यमुना का जलस्तर

झटका: एलोपैथी के संबंध में दिए बयान पर हाईकोर्ट ने बाबा रामदेव को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

दिल्ली उच्च न्यायालय ने योग गुरु रामदेव को एलोपैथी के संबंध में दिए गए उनके बयानों के खिलाफ दाखिल याचिका पर नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है।

न्यायमूर्ति हरि शंकर ने स्पष्ट किया कि रामदेव का जवाब नहीं मिलने तक वह इस मामले में कार्यवाही शुरू करने की अनुमति नहीं देंगे। याचिकाकर्ता चिकित्सक एसोसिएशनों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अखिल सिब्बल ने तर्क दिया कि मुकदमा दायर करने की अनुमति देने के लिए अदालत को केवल उसके समक्ष याचिका को देखना होता है और दूसरे पक्ष के जवाब की आवश्यकता नहीं होती।

अदालत ने रामदेव की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव नायर को जवाब दाखिल करने के लिए समय देते हुए कहा यदि मुकदमा शुरू करने की अनुमति दी जाती है तो (रामदेव) इसके खिलाफ याचिका दाखिल कर कर सकते हैं। अदालत ने कहा इस मुद्दे पर विचार किया जाएगा। अदालत ने मामले की सुनवाई 10 अगस्त तय की है।

अदालत के समक्ष तीन रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशनों ने यह याचिका दाखिल की है। उन्होंने आरोप लगाया कि रामदेव ने बड़े पैमाने पर लोगों को गुमराह किया और गलत तरीके से यह कहा कि एलोपैथी चिकित्सा पद्धति कोविड -19 संक्रमित कई लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार है। साथ ही आरोप है कि उन्होंने कहा था एलोपैथिक डॉक्टर मरीजों की मौत का कारण बन रहे हैं।

बाबा रामदेव के खिलाफ बयान को लेकर देशभर के विभिन्न राज्यों में शिकायतें दर्ज करवाई गई थी। हालांकि तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के हस्तक्षेप के बाद बाबा रामदेव ने अपना बयान वापस ले लिया था।

उधर इंडियन मेडीकल एसोसिएशन ने बाबा रामदेव को कानूनी नोटिस भेज माफी न मांगने पर एक हजार करोड़ रुपये की मानहानि का मुकदमा करने की धमकी दी थी।
... और पढ़ें

दर्द का अहसास: पदयात्रा करने गए थे भाजपा विधायक, नाराज लोगों ने सीवर के पानी में करा दी 'सैर'

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले की गढ़मुक्तेश्वर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक को ग्रामीणों का जबरदस्त विरोध झेलना पड़ा है। ग्रामीणों ने विधायक को सड़क पर जमा सीवर के पानी में चलवाया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

जानकारी के अनुसार, पद यात्रा के दौरान भाजपा विधायक को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। गढ़मुक्तेश्वर के ढोलपुर गांव की वीडियो इन दिनों चर्चा में बनी हुई है। पदयात्रा के दौरान जब विधायक गांव में पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें गांव की बदहाली से रूबरू कराया। 

यहां तक कि प्रधानपति उनका हाथ पकड़कर सड़क पर भरे जलभराव के बीच ले गए। इस दौरान ग्रामीणों ने गांव की अन्य समस्याओं से भी अवगत कराया। विधानसभा चुनाव से पहले सरकार की योजनाओं का प्रचार प्रसार करने के लिए गढ़ विधायक कमल सिंह मलिक इन दिनों गांवों की पदयात्रा कर रहे हैं। 

बहादुरगढ़ इलाके के गांवों में पदयात्रा के दौरान बुधवार को क्षेत्रीय विधायक डॉ. कमल सिंह मलिक क्षेत्र के गांव ढोलपुर, नानई समेत अन्य गांवों में पहुंचे। गांव ढोलपुर में जनसभा को संबोधित करने के बाद विधायक गांव में पैदल घूमकर ग्रामीणों से वार्ता कर रहे थे। 
... और पढ़ें

CBSE Result: जारी हुए 12वीं बोर्ड के परीक्षा परिणाम, दिल्ली के 99.84 प्रतिशत बच्चे हुए पास

सीबीएसई बोर्ड के 12वीं के छात्र जिस दिन का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, वह आज आ गया है। सीबीएसई ने शुक्रवार दिन में दो बजे 12वीं के छात्रों के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए जिसमें कुल 99.37 प्रतिशत बच्चे पास हुए। वहीं पिछले कई सालों की तरह ही इस बार भी दिल्ली के बच्चों ने अच्छा प्रदर्शन किया और कुल 99.84 प्रतिशत बच्चे उत्तीर्ण हुए। 

सीबीएसई यह रिजल्ट अपनी आधिकारिक बेवसाइट cbseresults.nic.in और उमंग एप पर जारी किया है। छात्र इन दोनों माध्यमों से अपना रिजल्ट जान सकते हैं। यही नहीं छात्र अपना रिजल्ट एसएमएस के जरिए भी मंगा सकते हैं।

रिजल्ट से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण फैक्टः
  • कुल पास बच्चों का प्रतिशत- 99.37
  • दिल्ली में पास बच्चों का प्रतिशत- 99.84
  • देशभर में पास लड़कियों का प्रतिशत- 99.67
  • देशभर में पास लड़कों का प्रतिशत- 99.13
  • केवी और सेंट्रल तिबत्तन स्कूलों का पास प्रतिशत- 100
  • देशभर में सरकारी स्कूलों का पास प्रतिशत- 99.48
  • 1,50,152 स्टूडेंट को मिले- 90% से अधिक अंक
  • 70,004 छात्रों को मिले- 95% से अधिक अंक
  • 6,149 की आई कम्पार्टमेंट
  • 65,184 स्टूडेंट का रिजल्ट जारी नहीं किया गया, इनका रिजल्ट 5 अगस्त तक जारी होगा


कोरोना के चलते परीक्षाएं रद्द होने के बाद शिक्षा मंत्रालय ने तय किया था कि सीबीएसई के 12वीं के रिजल्ट 9वीं से लेकर 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षाओं के अंक के आधार पर तैयार किए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि 12वीं के अंक सीबीएसई को 31 जुलाई तक जारी करने हैं जिसके चलते आज आज परिणाम जारी हुए हैं। वहीं इसके बाद कभी भी 10वीं के परिणाम भी जारी किए जा सकते हैं।
 

आधिकारिक वेबसाइट के जरिए ऐसे चेक करें 12वीं का रिजल्ट
-सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
-सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in है।
-यहां होम पेज पर आपको 12वीं के रिजल्ट का लिंक मिलेगा।
-जिस पर क्लिक करने के बाद आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा।
-इसके बाद आपका 12वीं का रिजल्ट खुल जाएगा जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं।

एनसीआर में इन छात्र-छात्राओं का रहा जलवा 

डीपीएसजी मेरठ रोड की निशिता सिंह ने 99.4 प्रतिशत अंक हासिल किया। निशिता पीसीएम की छात्रा हैं।




गुरुकुल द स्कूल के अनिरुद्ध दामानी ने 99.6 प्रतिशत अंक हासिल किया। अनिरुद्ध ह्यूमेनिटीज का छात्र है।



गाजियाबाद: गुरुकुल द स्कूल की चित्रा चौधरी और राघव सिंघल ने 99.4 प्रतिशत अंक हासिल किए।

नोएडा: रेयान स्कूल के लक्ष्य पांडे ने 99.2 प्रतिशत अंक हासिल किया। 



ग्रेटर नोएडा: प्रज्ञान पब्लिक स्कूल जेवर की छात्रा आंचल राजीव सिवाच ने 98.6 प्रतिशत अंक हासिल किया।
 
... और पढ़ें

हरियाणा: पति ने दो साथियों संग मिलकर पत्नी के साथ किया सामूहिक दुष्कर्म, जंगल में बंधक बनाकर की दरिंदगी

फाइल फोटो
हरियाणा के पलवल के हथीन एक गांव से संदिग्ध हालत में लापता हुई विवाहिता पुलिस को मिल गई है। उसे अदालत में पेश किया गया। पीड़िता ने बयान दिया है कि 23 जुलाई की रात को कुर्थला गांव के जंगल में बंधक बनाकर तीन लोगों ने उससे सामूहिक दुष्कर्म किया। 

युवती का मेडिकल करा दिया गया है। पति समेत तीन लोगों पर आरोप लगाए गए हैं। जांच अधिकारी अमर सिंह ने बताया कि पीड़िता के बयान के बाद सामूहिक दुष्कर्म एवं अन्य धाराएं केस में जोड़ दी गई हैं। विवाहिता के साथ कुर्थला गांव के जंगल में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया है। 

उन्होंने बताया कि आरोपियों में पीड़िता के पति एवं अन्य निकट संबंधी भी हैं। इस संदर्भ में पीड़िता के भाई ने हथीन थाना में 25 जुलाई को मुकदमा दर्ज कराकर महिला की खोज की गुहार लगाई थी। पीड़िता जोकि बहीन थाना क्षेत्र की निवासी है, उसका विवाह थाना क्षेत्र के गांव में हुआ था।

पति ने दूसरी शादी भी कर ली थी। वह अपने मायके में रह रही थी। भाई ने मुकदमा दर्ज कराया है कि पीड़िता को उसके पति ने ससुराल में बुला लिया था। उसके बाद वह अचानक लापता हो गई। अब पुलिस को मिलने के बाद उसके बयान कराए गए हैं। जांच अधिकारी अमर सिंह ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

होटल द अर्बन में रेड मामले में नया खुलासा: होटल में होता था गंदा काम, मुजरा के नाम से मशहूर है अश्लील डांस, मालिक ने ही...

हरियाणा के फरीदाबाद के नीलम बाटा रोड स्थित होटल द अर्बन में बुधवार देर रात हुई कार्रवाई किसी और ने नहीं बल्कि होटल के मालिक ने ही कराई थी। होटल मालिक ने बिल्डिंग को किराए पर दे रखा है। किराएदार तीन पार्टनर हैं। आरोपी यहां कई महीने से अश्लील डांस व अनैतिक कार्यों को अंजाम दे रहे थे। 

होटल मालिक ने कई बार ऐसा नहीं करने की चेतावनी दी। इस पर आरोपियों ने उन्हें ही लड़कियों से झूठी शिकायत दिलवाकर केस में फंसाने की धमकी दी थी।। परेशान होकर होटल मालिक ने पुलिस आयुक्त को आपबीती बताई।

होटल मालिक त्रिलोक के भाई अजय कुमार ने बताया कि उन्होंने करीब छह माह पहले ये होटल गांव कारना पलवल निवासी हरवीर की पत्नी कंचन, नंगला इन्क्लेव निवासी हरेंदर की पत्नी अंजलि भाटी व सेक्टर-22 निवासी मनोज चाहर की पत्नी कविता चाहर को किराए पर दिया था। 

तीनों आरोपी आपस में पार्टनर हैं। सभी ने अपनी पत्नियों के नाम पर एग्रीमेंट करवा रखा था। अजय का आरोप है कि एग्रीमेंट करवाने के बाद से आरोपियों ने एक बार भी उन्हें किराया नहीं दिया। जब भी वह किराए की बात कहते तो आरोपी उन्हें धमकी देते कि उनके पास काफी लड़कियां हैं। वे उनसे झूठी शिकायत दिलवा कर उन्हें केस में फंसवा देंगे। इसके अलावा कई बार मारपीट करने की धमकी भी दी। 
... और पढ़ें

CBSE 12th Result 2021: रिजल्ट जारी होते ही सीबीएसई की वेबसाइट ठप, अब यहां देखें नतीजे

खुलासा: 500 करोड़ से कागजों में बन गया फाइव स्टार होटल, सीबीआई जांच में खुलासे के बाद ईडी ने की कार्रवाई

एंबियंस मॉल के मालिक राज सिंह गहलोत ने जम्मू एंड कश्मीर बैंक से 800 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था। 500 करोड़ रुपये से दिल्ली में फाइव स्टार होटल का निर्माण होना था। शेष राशि से अन्य कार्य कराए जाने थे, लेकिन  कागजों में ही निर्माण हो गया। जबकि इस राशि का काफी हिस्सा राज सिंह गहलोत ने अपने भाई और बेटे को हस्तांतरित कर दिया था।

खुफिया सूत्रों का कहना है कि बैंक से 800 करोड़ रुपये का कर्जा मिला था।  जम्मू कश्मीर में एक राजनेता की जांच के दौरान खुलासा  हुआ कि इस राशि को लेकर मनी लांड्रिंग से तार जुड़े हुए थे।  केंद्रीय जांच एजेंसी और जम्मू कश्मीर पुलिस इस मामले में राज सिंह गहलोत को जम्मू ले गई थी। 

जांच के दौरान मनी लांड्रिंग का खुलासा होने पर यह जांच ईडी को सौंप दी गई थी। इस मामले में सीबीआई की टीम पिछले महीने से चंडीगढ़, जम्मू और दिल्ली में डेरा डाले हुई थी। इन टीमों ने राज सिंह गहलोत तथा इनकी तीन कंपनियों के निदेशकों के घर तथा अन्य प्रतिष्ठानों पर गोपनीय पड़ताल की। 

छापे भी मारे, इस दौरान पालम बिहार स्थित जे एंड के बैंक के अभिलेख भी देखे। जिनके माध्यम से राज गहलोत की कंपनियों को 800 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया था। इस मामले की जांच में सीबीआई के साथ-साथ ईडी की टीम भी शामिल थी। इस मामले में राज गहलोत की तीन कंपनियों के निदेशकों, बेटा तथा भाई भी ईडी तथा सीबीआई पूछताछ कर रही है। सूत्रों के मुताबिक जल्दी ही इस प्रकरण से जुड़े कई और लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X