लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Kullu ›   Buses running without permit in rural areas will be investigated

ग्रामीण क्षेत्रों में बिना परमिट दौड़ रहीं बसों की होगी जांच

Shimla Bureau शिमला ब्यूरो
Updated Wed, 06 Jul 2022 10:03 PM IST
Buses running without permit in rural areas will be investigated
विज्ञापन
ख़बर सुनें
फरेंद्र ठाकुर

कुल्लू। जिले के शैंशर निजी बस हादसे में 13 लोगों की जान चले जाने के बाद जिला प्रशासन और परिवहन विभाग हरकत में आया है। अब जिले के सभी ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों पर बिना परमिट दौड़ रही पथ परिवहन निगम और निजी बसों पर विभाग शिकंजा कसेगा। इसमें परिवहन विभाग औश्र उड़नदस्ते औचक निरीक्षण कर जांच करेंगे।
अगर कोई बस बिना परमिट दौड़ती पाई गई तो एचआरटीसी और निजी बस के ऑपरेटर के खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई होगी, जबकि बस को जब्त किया जाएगा। उड़नदस्ते की टीम भी ग्रामीण क्षेत्रों में दौड़ रही बसों का औचक निरीक्षण करेगी। इसके लिए परिवहन विभाग ने उड़नदस्ते की टीम को पत्र लिखा है। इसमें बसों का औचक निरीक्षण करने के बारे में लिखा गया है।

परिवहन विभाग ने पथ परिवहन निगम कुल्लू और निजी बस संचालकों को भी एक पत्र जारी किया गया है। इसमें साफ कहा गया है कि एचआरटीसी प्रबंधन और निजी बस संचालक अपने निर्धारित रूटों पर बसों को चलाएं। अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों पर कई सालों से कुछ एचआरटीसी और निजी बसें बिना परमिट के दौड़ रही हैं। इनमें ग्रामीण क्षेत्रों के कई मार्ग ऐसे भी हैं, जो हाल में नए बने हैं और बस योग्य पास हुए हैं, लेकिन बसों का रूट किसी अन्य क्षेत्र का होता है, लेकिन बसे बिना परमिट ही नई सड़कों पर दौड़ाई जा रहीं हैं। संवाद
नहीं बरती जाएगी कोताही, सख्त होगी कार्रवाई
परिवहन विभाग ने एचआरटीसी प्रबंधन और निजी बस संचालकों को दो टूक चेतावनी दी है कि सभी अपने निर्धारित रूटों पर ही बसों को चलाएं। परिवहन विभाग कुल्लू के आरटीओ हेमचंद वर्मा ने कहा कि एचआरटीसी प्रबंधन और निजी बस ऑपरेटरों को विभाग की ओर पत्र जारी किए गए हैं। इसमें कहा गया है कि सभी अपने-अपने रूटों पर बसों को चलाएं। अगर अचानक हादसा होता है तो, उसके जिम्मेदार वे स्वयं खुद होंगे।
दुर्घटनाग्रस्त बस की होगी मेकेनिकल जांच
सैंज के शैंशर हादसे में दुर्घटनाग्रस्त बस की मेकेनिकल जांच होगी। इसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस ने विशेषज्ञों की टीम का गठन कर दिया है। इसकी जांच भी शुरू कर दी है। इसमें दुर्घटनाग्रस्त बस के चालक का लाइसेंस भी जांच जाएगा, जबकि संचालक के पास न्यूली से शैंशर तक बस चलाने का परपिट था या नहीं, इसकी भी जांच होगी। उधर, न्यायिक मामले की जांच कर रहे अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने कहा कि दुर्घटनाग्रस्त बस की मेकेनिकल जांच होगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00