लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Muslim Rashtriya Manch congratulates the central government for the ban on PFI

PFI Ban: मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने पीएफआई पर बैन के लिए केंद्र को दी बधाई, कहा- विघटनकारी ताकतों का हो सर्वनाश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शिव शरण शुक्ला Updated Wed, 28 Sep 2022 08:43 PM IST
सार

मंच के मीडिया प्रभारी शाहिद सईद ने कहा कि मंच का मानना है कि यह एक बड़ा ही महत्वपूर्ण फैसला है। इसे यदि यूपीए की सरकार ने लिया होता तो आज देश को पीएफआई की वजह से इतना नुकसान नहीं उठाना होता।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

 पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर प्रतिबंध लगाने के कदम का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने पुरजोर समर्थन किया है। मंच के मीडिया प्रभारी शाहिद सईद ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और गृहमंत्री ने इस कदम से देश की राष्ट्रीय एकता और एकीकरण सुनिश्चित की है। गौरतलब है कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच और उसके मुख्य संरक्षक वरिष्ठ आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने पहले ही पीएफआई पर प्रतिबंध की मांग की थी। 



मंच के मीडिया प्रभारी शाहिद सईद ने कहा कि मंच का मानना है कि यह एक बड़ा ही महत्वपूर्ण फैसला है। इसे यदि यूपीए की सरकार ने लिया होता तो आज देश को पीएफआई की वजह से इतना नुकसान नहीं उठाना होता। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक मोहम्मद अफजाल और इस्लाम अब्बास ने कहा कि पीएफआई जैसे आतंकवादी और विघटनकारी संगठन समाज में जहर की तरह हैं। मंच ने इस बात पर भी जोर दिया कि प्रतिबंधित संगठन सिमी के काम को ही पीएफआई सन 2006 से वजूद में आने के बाद बढ़ाता रहा है। समय समय पर सुरक्षा एजेंसियों को उसके देशविरोधी होने के सबूत मिलते रहे हैं। 


इस मौके पर भारत फर्स्ट के राष्ट्रीय संयोजक शिराज़ कुरैशी और हिंदुस्तान फर्स्ट हिंदुस्तानी बेस्ट के राष्ट्रीय संयोजक महताब आलम ने कहा कि पीएफआई के नेटवर्क को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया जाना चाहिए। साथ ही इस मामले में आरोपियों की सजा इतनी कठोरतम होनी चाहिए ताकि कोई भी संगठन भविष्य में सिमी या पीएफआई के रास्ते पर चलने की गुस्ताखी नहीं कर सके। 

राष्ट्रीय संयोजक शाहिद अख्तर और अबु बकर नकवी ने कहा कि गिरफ्तार पीएफआई नेताओं, कार्यकर्ताओं और जिहादियों पर जल्द से जल्द चार्जशीट दायर कर फास्ट ट्रैक कोर्ट से कार्रवाई सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि मंच का ये भी मानना है कि पीएफआई और उसका मॉड्यूल चलाने वाले लोग इस्लाम, मुसलमान और दीन को भी बदनाम करने की साजिश रचते हैं जबकि वास्तविकता यह है कि इस देश के आम मुसलमान देशप्रेमी और शांतिप्रिय हैं। 

मंच ने मुस्लिम बुद्धिजीवियों, सभ्य समाज और आम नागरिकों से अपील की है कि देशविरोधी ताकतों का डट कर सामना करें और कहीं भी देशविरोधी विचारधारा और असमाजिक तत्वों के छिपे होने का आभास हो तो फौरन अपने नजदीकी पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी को सूचना देनी चाहिए।

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00