होशियारपुरः पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में एक गैंगस्टर ढेर, एक गिरफ्तार, एक हो गया फरार

संवाद न्यूज एजेंसी, माहिलपुर(होशियारपुर) Published by: खुशबू गोयल Updated Mon, 09 Mar 2020 05:02 PM IST
मुठभेड़ में गैंगस्टर ढेर
मुठभेड़ में गैंगस्टर ढेर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
थाना माहिलपुर के तहत पत्ती चरनपुर में रविवार देर रात माहिलपुर पुलिस और सीआईए स्टाफ एसबीएस नगर नवांशहर ने साझे आपरेशन में एक गैंगस्टर को मार गिराया और उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया। वहीं तीसरा गैंगस्टर अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहा। तीनों गैंगस्टर कबड्डी टूर्नामेंट के प्रमोटरों पर हमले के आरोपी थे।
विज्ञापन


जानकारी के मुताबिक थाना पुलिस नवांशहर को मनदीप सिंह उर्फ मन्ना निवासी उप्पल जागीर थाना नूरमहल की तलाश थी। उसे पुलिस कई दिनों से ढूंढ रही थी। हाल ही में सूचना मिली थी कि हथाना गढ़शंकर के आसपास के इलाकों में वह घूम रहा है। उसकी तलाश में पुलिस ने गढ़शंकर के गांव बीरमपुर में ट्रैप लगाया, लेकिन वह बच निकला। इसके बाद पुलिस लगातार इनका पीछा कर रही थी।


रविवार देर रात पुलिस को सूचना मिली कि मनदीप अपने कुछ साथियों के साथ माहिलपुर के पास पत्ती चरनपुर के एक एनआरआई के मकान में छिपा है। इस सूचना पर एसबीएस नगर पुलिस ने वहां दबिश दी। इस दौरान वहां उपस्थित तीन बदमाशों ने मकान की दीवार फांदकर भागने की कोशिश की। भागते हुए बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी।

जवाबी हमले में पुलिस ने एक गैंगस्टर वरिंदर सिंह उर्फ शूटर उर्फ काका (35) निवासी नंदोकी थाना सदर कपूरथला को मार गिराया। इस दौरान गुरजंट सिंह उर्फ  जांटा निवासी लोहगढ़ थाना नूर महल (जालंधर) को काबू कर लिया गया। वहीं मनदीप सिंह उर्फ मन्ना भाग निकला। पुलिस ने वरिंदर सिंह के शव के पास एक पिस्तौल बरामद की है।

थाना माहिलपुर पुलिस ने सीआईए स्टाफ इंचार्ज इंस्पेक्टर दलवीर सिंह के बयान पर तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 307, 353, 186, 34 आईपीसी और आर्म्स एक्ट 25/54/59 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

सीसीटीवी में कैद हो गए थे हमलावर
बता दें कि 16 फरवरी की रात को कबड्डी टूर्नामेंट के प्रमोटर भाइयों किरनदीप व शरणदीप पर बरनाला के पास हमला हुआ था। हमले में शरणदीप गोली लगने से घायल हो गया था। भागते वक्त गैंगस्टरों की क्रेटा कार का टायर फट गया और वे सीसीटीवी में कैद हो गई। क्रेटा कार माहिलपुर से लूटी गई थी तथा उस पर फर्जी नंबर लगाया हुआ था।

इस हमले के एक दिन बाद 17 फरवरी को नवांशहर के आईटीआई मैदान में होने वाला राज्यस्तरीय कबड्डी टूर्नामेंट रद्द हो गया था। इन्हीं गैंगस्टरों की तलाश में पुलिस माहिलपुर पहुंची थी। पुलिस का कहना कि मारे गए गैंगस्टर समेत तीनों इस मामले में शामिल थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00