जम्मू-कश्मीर: बिजली कारपोरेशन में डिजिटल लेनदेन में चालू वर्ष की पहली तिमाही में 278.77 फीसदी वृद्धि हुई

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: प्रशांत कुमार Updated Mon, 20 Sep 2021 04:32 PM IST

सार

बिजली कारपोरेशन में डिजिटल लेनदेन में पिछले वर्ष की तुलना में चालू वर्ष की पहली तिमाही में 278.77 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। जुलाई 2021 में कुल 3.08 लाख डिजिटल लेन-देन दर्ज किए गए और उपभोक्ताओं से डिजिटल मोड के माध्यम से 35.04 करोड़ रुपये जमा हुए।
रुपये
रुपये - फोटो : pixabay
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बिजली कारपोरेशन में डिजिटल लेनदेन में पिछले वर्ष की तुलना में चालू वर्ष की पहली तिमाही में 278.77 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। जुलाई 2021 में कुल 3.08 लाख डिजिटल लेनदेन दर्ज किए गए और उपभोक्ताओं से डिजिटल मोड के माध्यम से 35.04 करोड़ रुपये जमा हुए। यह बात बिजली क्षेत्र में आईटी और संचार सेवाओं को मजबूत करने के लिए विभिन्न आईटी परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करने के लिए डेटा सेंटर बेमिना श्रीनगर में प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने बैठक में कही। 
विज्ञापन


इस दौरान जेकेपीडीडी में सूचना प्रौद्योगिकी के कार्यान्वयन से संबंधित विभिन्न पहलुओं और मुद्दों पर चर्चा हुई। इसमें आरएपीडीआरपी, स्काडा, आरटी-डीएएस के तहत विभिन्न चल रही परियोजनाओं की स्थिति और प्रगति, स्मार्ट मीटरिंग की स्थापना, फीडर मीटरिंग, वितरण ट्रांसफार्मर के यूआईडी, बिलिंग और संग्रह, कस्टमर केयर, जेकेपीडीडी ई-सपोर्ट पर जानकारी ली गई। 

यह भी पढ़ें- महबूबा के आरोप: तालिबान-ड्रोन और पाकिस्तान भाजपा के सियासी हथियार, योगी हैं नाकाम मुख्यमंत्री    

रोहित कंसल ने ग्राहकों की सभी श्रेणियों में ई बिल को अपनाने का आह्वान किया। उन्होंने पीडीडी के अधिकारियों को लोगों को बिलों से बाहर निकलने और पूरी तरह से ई-बिल की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने का निर्देश दिए। इससे न केवल तेजी से बिलिंग प्रक्रिया सुनिश्चित होगी बल्कि अधिक पारदर्शिता और बेहतर शिकायत समाधान हो सकेगा।

उन्होंने डिस्कॉम्स को निर्देश दिया कि कागज रहित बिलों और डिजिटल भुगतानों को बढ़ावा देने के लिए सभी वेबसाइटों और बिलिंग प्लेटफार्मों पर एक विशेष अभियान शुरू किया जाए। ग्राहक संतुष्टि विभाग की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने एक एकीकृत सॉफ्टवेयर के माध्यम से शिकायतों के बेहतर समाधान के लिए एकल कॉल सेंटर में कस्टमर केयर नंबरों को एकीकृत करने के लिए अधिकारियों को प्रभावित किया। प्रमुख सचिव ने यह भी निर्देश दिए कि शिकायत निवारण तंत्र को और तेज किया जाए।
यह भी पढ़ें- मनोज सिन्हा की दो टूक: शांति की राह में रोड़ा बने तो सख्ती से निपटेगी सरकार, जानिए क्यों किया यूपी का जिक्र?
 
उन्होंने यह भी कहा कि शीघ्र मरम्मत और प्रतिस्थापन के लिए डिस्कॉम्स को ट्रांसफॉर्मर के ट्रैकिंग तंत्र का उपयोग करने के लिए ई-सपोर्ट सेवाओं में माइग्रेट करना चाहिए।एसेट मैपिंग के संबंध में बैठक में बताया गया कि 647 फीडरों की एसेट मैपिंग का काम पूरा कर लिया गया है और पोल और सबस्टेशन जैसी संपत्तियों की मार्किंग का काम पूरा कर लिया गया है।

उन्होंने उन्हें ई-सपोर्ट का ठोस उपयोग करने का भी निर्देश दिया क्योंकि यह सभी डिस्कॉम से संबंधित गतिविधियों के लिए वन स्टॉप शॉप है।बिजली की आपूर्ति में सुधार के अलावा बिजली बिलों के समय पर उत्पादन और वितरण के लिए कई उपाय किए गए हैं। जेपीडीसीएल के अध्यक्ष जगमोहन शर्मा, एमडी केपीडीसीएल बशारत कयूम, तकनीकी सचिव बशीर अहमद डार, कश्मीर पावर कॉरपोरेशन के मुख्य अभियंता एजाज डार और अन्य मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00