बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हिंदी हैं हम: कई भाषाओं में अच्छी पकड़ रखने वाली इस अभिनेत्री ने कहा- हिंदी साहित्य को पढ़कर देखिए, इश्क हो जाएगा

‘हिंदी के लेखकों की किताब पढ़कर तो देखिए, मेरा यकीन माने इन किताबों से आपको इश्क हो जाएगा। मैंने लॉकडाउन में खासतौर पर हिंदी की किताबें पढ़ीं और मेरी...

4 सितंबर 2021

आपकी आवाज़

अपने शहर के मुद्दे और शिकायतों को यहां शेयर करें
Digital Edition

चारधाम यात्रा 2021: यात्रा पर आ रहे हैं तो यह दस्तावेज रखें साथ, नियम भी जान लें

अगर आप शनिवार से शुरू होने जा रही चारधाम यात्रा में शामिल होने जा रहे हैं तो इसके लिए नियमों का भलिभांति समझ लें। कहीं ऐसा न हो कि आप चारधाम यात्रा से वंचित रह जाएं। परिवहन आयुक्त दीपेंद्र कुमार चौधरी की ओर से शुक्रवार को यात्रा के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए।

चारधाम यात्रा: उत्तराखंड में कल से शुरू होगी यात्रा, हेमकुंड साहिब में प्रतिदिन एक हजार यात्री करेंगे दर्शन

ग्रीनकार्ड-ट्रिप कार्ड के बिना प्रवेश नहीं
दिशा-निर्देशों के मुताबिक, किसी भी यात्री वाहन को ग्रीन कार्ड या ट्रिप कार्ड के बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यात्रा करने वाले लोग वाहन की आरसी, फिटनेस प्रमाण पत्र, इंश्योरेंस, प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र, परमिट, उत्तरखंड राज्य का मोटर वाहन कर जमा कराने का प्रमाण पत्र, चालक का लाइसेंस, ग्रीन कार्ड, ट्रिपकार्ड, यात्री सूची की वैध मूल प्रमाण की प्रति जरूर साथ रखें।

मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर का पालन करना होगा
वाहन की लाइट, डीपर, वाईपर, ब्रेक, स्टेयरिंग, टायर की जांच कर लें। वाहन में लाल, सफेद और पीले रिफ्लेक्टर लगाएं। फर्स्ट एड किट, लकड़ी या लोहे का गुटका और अग्निशमन यंत्र रखें। वाहन में टॉर्च, रस्सी, पंचर किट, हवा भरने का पंप रखें। वाहन में कूड़ादान और वोमेटिंग बैग भी रखें। यात्रा के दौरान मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर का पालन करना होगा। 

रात आठ से सुबह पांच बजे तक नहीं चलेंगे वाहन
चारधाम यात्रा के दौरान रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक वाहनों का संचालन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। वाहन में किसी भी तरह का ज्वलनशील पदार्थ एलपीजी, डीजल, पेट्रोल, कैरोसिन टैंक के अलावा अलग से स्टोर न करें। एक चालक एक दिन में लगातार आठ घंटे से अधिक वाहन न चलाए। चप्पल पहनकर वाहन चलाने पर कार्रवाई हो सकती है। मोटर कैब, मैक्सी कैब में टेपरिकॉर्डर का संचालन नहीं किया जा सकता। टूरिस्ट बसों में इस शर्त पर म्यूजिक सिस्टम चलाने की अनुमति होगी कि उसका संचालन कंडक्टर के हाथ में हो।
... और पढ़ें
चारधाम यात्रा चारधाम यात्रा

चारधाम यात्रा: शनिवार से शुरू होगी यात्रा, एसओपी जारी, ई-पास होगा तो ही जा पाएंगे धाम

चारधामों के कपाट खुलने के लगभग चार महीने के बाद शनिवार से चारधाम यात्रा शुरू होगी। शुक्रवार को सरकार ने चारधाम यात्रा की मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी कर दी है। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में दर्शन के लिए आने वाले यात्रियों को पंजीकरण करने के बाद ई-पास जारी किए जाएंगे। जिसके बाद ही चारधामों में दर्शन की अनुमति मिलेगी।

चारधाम यात्रा: हेलो! उत्तराखंड में मौसम और सड़कें क्लियर हैं? घनघनाने लगे ट्रेवल कारोबारियों के फोन

राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों को स्मार्ट सिटी पोर्टल पर भी अनिवार्य रूप से पंजीकरण करना होगा। कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने के 15 दिन के बाद प्रमाण पत्र दिखाने पर यात्रा की अनुमति दी जाएगी। लेकिन केरल, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश से आने वाले यात्रियों को दोनों डोज लगवाने के बाद 72 घंटे पहले की कोविड जांच निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य की गई है। 

उत्तराखंड: नैनीताल हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक हटाई, धामों में प्रतिदिन जाने वाले यात्रियों की संख्या तय

सचिव धर्मस्व हरिचंद्र सेमवाल ने चारधाम यात्रा की एसओपी जारी की है। इस बीच चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने भी एसओपी जारी कर दी है। दोनों एसओपी में एक समान प्रावधान हैं। चारधामों में यात्रा का संचालन 18 सितंबर से होगा। यात्रा में राज्य और बाहर से आने वाले यात्रियों को सशर्त अनुमति दी जाएगी।

धामों में दर्शन करने के लिए यात्रियों को सबसे पहले देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण करना होगा। जिसके बाद देवस्थानम बोर्ड की ओर से सीमित संख्या में प्रतिदिन ई-पास जारी किए जाएंगे। मंदिर परिसर के मुख्यद्वार पर दर्शन करने से पहले यात्रियों का ई-पास चेक किया जाएगा। 

मंदिर परिसर में प्रसाद चढ़ाने और तिलक लगाने पर प्रतिबंध
कोविड संक्रमण को देखते हुए चारधामों में दर्शन करने वाले यात्री प्रसाद नहीं चढ़ाएंगे। साथ ही मंदिरों में यात्रियों को तिलक भी नहीं लगेगा। मंदिर में मूर्तियों और घंटियों को छूने, तप्त कुंडों में स्नान पर प्रतिबंध रहेगा। केदारनाथ धाम में एक समय में छह यात्री ही सभामंडप से दर्शन कर सकेंगे। गर्भगृह में जाने की अनुमति नहीं होगी। 

केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मंदिर परिसर में दिन में तीन बार सैनिटाइजेशन और साफ सफाई की जाएगी। मंदिरों में कोविड प्रोटोकाल का पालन कर मास्क पहनने, सोशल डिस्टेसिंग की निगरानी देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की ओर से सीसीटीवी कैमरों से की जाएगी। प्रत्येक धाम में स्वास्थ्य विभाग की ओर से नोडल अधिकारी तैनात किया जाएगा। एसओपी का पालन कराने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन और एसडीएम की होगी। 
 
... और पढ़ें

उत्तराखंड चुनाव 2022: चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी बोले- धामी के नेतृत्व में उतरेगी भाजपा, वह ही होंगे मुख्यमंत्री

उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ही चुनाव के बाद राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। शुक्रवार को उन्होंने देहरादून में एक कार्यक्रम में कहा कि उत्तराखंड में मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में ही चुनाव होगा।

प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर हमला बोला। उन्होंने तंज किया कि कांग्रेस की दुर्दशा हो चुकी है और उत्तराखंड में उसे उम्मीदवारों को ढूंढने के लिए दूरबीन लेकर जाना पड़ रहा है। उन्होंने संगठन में अनुशासन के सवाल पर कहा कि उनकी एक-एक नेता से बात हुई है, पार्टी लाइन कोई नहीं तोड़ेगा। टिकटों के आवंटन के सवाल को उन्होंने टाल दिया।

उत्तराखंड चुनाव 2022: किसको टिकट देंगे किसको नहीं अभी तय नहीं - केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी

प्रदेश की जनता एक बार फिर भाजपा को अवसर देगी
जोशी प्रदेश पार्टी कार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में चुनाव होगा और इसमें कोई संदेह नहीं कि चुनाव के बाद वही मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी साठ पार के लक्ष्य को पूरा करेगी और उन्हें पूरी उम्मीद है कि प्रदेश की जनता एक बार फिर भाजपा को अवसर देगी।

मुख्यमंत्री धामी, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व सह चुनाव प्रभारी आरपी सिंह भी मौजूद थे। जोशी ने कहा कि अटल जी ने राज्य बनाया और उनकी सरकार जाने के बाद यूपीए के 10 साल के कालखंड में कुछ नहीं हुआ। मोदी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार ने जबर्दस्त विकास किया। उन्होंने कोर्ट का आभार जताया और न्यायालय में मजबूत पैरवी करने के लिए मुख्यमंत्री को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने पूर्व सीएम हरीश रावत पर चारधाम यात्रा का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।

जय गणेश के नारे पर हरीश-राहुल पर तंज किया
जोशी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर तंज किया। उन्होंने कहा कि हरीश रावत और प्रदेश अध्यक्ष के अलावा कांग्रेस में उनके सब विरोध में हैं। जोशी के मुताबिक, हरीश रावत ने कहा कि वह जय श्रीराम के स्थान पर जय गणेश बोलेंगे। उन्होंने उन्हें बधाई दी कम से कम उन्होंने राहुल गांधी को जय गणेश बुलवाने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस के सहयोग से सहयोग से सरकार चल रही है, जिसने गणेश के कार्यक्रमों पर रोक लगा रखी है। रावत को सलाह दी कि वह राहुल गांधी के करीबी हैं, इसलिए उन्हें महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को समझाने की कृपा करें।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: शुक्रवार को मिले 25 नए मरीज, 282 हुई सक्रिय संक्रमितों की संख्या

उत्तराखंड में शुक्रवार को 25 नए संक्रमित मामले मिले हैं। वहीं किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 23 मरीज स्वस्थ हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 9 जिलों में 25 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए।

उत्तराखंड: नैनीताल हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक हटाई, कोविड नियमों का पालन करने के दिए आदेश

देहरादून और उत्तरकाशी जिले में पांच-पांच, अल्मोड़ा में दो, चंपावत, नैनीताल, रुद्रप्रयाग और ऊधमसिंह नगर जिले में एक-एक, हरिद्वार जिले में तीन व पौड़ी जिले में छह संक्रमित मिले हैं। बागेश्वर, चमोली, पिथौरागढ़ और टिहरी जिले में कोई संक्रमित नहीं मिला है। 

282 सक्रिय मरीजों का चल रहा इलाज
प्रदेश में कोरोना 23 मरीज ठीक हुए हैं। इन्हें मिला कर 329605 मरीजों ने संक्रमण को मात दी है। 282 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रदेश की रिकवरी दर 96 प्रतिशत और संक्रमण दर 0.15 प्रतिशत दर्ज की गई है। कुल संक्रमितों की संख्या 343355 हो गई है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों के लिए 21 सितंबर से खुलेंगे स्कूल

उत्तराखंड में आगामी 21 सितंबर से कक्षा से एक से पांचवीं तक के सभी स्कूल खोल दिए जाएंगे। यह बात शुक्रवार को शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने कही है। 

स्कूल एसोसिएशन की ओर से की जा रही थी मांग
बता दें कि प्रदेश में पूर्व में ही माध्यमिक स्कूल खुल चुके हैं। जिसके बाद जूनियर हाईस्कूलों को भी खोल दिया गया था। लेकिन अभी भी एक से पांचवीं कक्षा तक के स्कूल बंद चल रहे थे। स्कूल एसोसिएशन की ओर से इन्हें खोले जाने की मांग की जा रही थी। 

कोरोना संक्रमण के बढ़ने की वजह से कक्षा एक से पांचवीं कक्षा तक के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जा रहा था। अब 21 सितंबर से प्राथमिक कक्षा भी विधिवत शुरू की जाएंगी। कोरोना काल में प्रदेश में पहली बार कक्षा एक से पांचवीं तक के विद्यालय खुलने जा रहे हैं। 
... और पढ़ें

चारधाम यात्रा: उत्तराखंड में कल से शुरू होगी यात्रा, हेमकुंड साहिब में प्रतिदिन एक हजार यात्री करेंगे दर्शन

उत्तराखंड में कल यानी शनिवार से चारधाम यात्रा शुरू होगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी है। वहीं भाजपा के चुनाव प्रभारी और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने हाईकोर्ट और राज्य सरकार को 18 सितंबर से चारधाम शुरू होने पर शुक्रिया कहा। इस सिलसिले में शुक्रवार को एसओपी जारी हो सकती है। 

चारधाम यात्रा: हेलो! उत्तराखंड में मौसम और सड़कें क्लियर हैं? घनघनाने लगे ट्रेवल कारोबारियों के फोन

गुरुवार को हाईकोर्ट द्वारा चारधाम यात्रा के सशर्त संचालन की अनुमति दिए जाने के बाद से राज्य सरकार, शासन और देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड तुरंत हरकत में आ गए थे। 

चारधाम यात्रा: भक्त सीमित संख्या में कर पाएंगे चारधामों के दर्शन, आज जारी हो सकती है एसओपी

हेमकुंड साहिब में एक दिन में एक हजार यात्री ही करेंगे दर्शन
सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट 18 सितंबर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। एक दिन में एक हजार यात्री ही धाम के दर्शन कर सकेंगे। हेमकुंड ट्रस्ट ने यात्रा को लेकर अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड मौसम:  अगले 24 घंटों में राजधानी व आसपास के कुछ इलाकों में हल्की से लेकर मध्यम बारिश के आसार 

मौसम विज्ञानियों ने अगले 24 घंटे में आसमान साफ रहने, आंशिक बादल छाए रहने की संभावना जतायी है। कुछ इलाकों में गर्जना के साथ हल्की बारिश की भी संभावना है। वहीं कुमाऊं और गढ़वाल के पर्वतीय इलाकों में तेज बौछार के साथ हल्की से लेकर मध्यम बारिश हो सकती है। 

बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे सुचारू
वहीं शुक्रवार देहरादून में सुबह मौसम साफ रहा, लेकिन दोपहर बाद कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी हुई और बादल छा गए। रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग भटवाड़ीसैंण में अवरूद्ध पड़ा हुआ है। बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे यातायात के लिए सुचारू हैं।

राजधानी दून और आसपास के इलाकों में गुरुवार को मौसम का मिजाज बदला रहा। दिनभर चटक धूप रही, लेकन शाम को आसमान काले घने बादलों से घिर गया और ज्यादातर इलाकों में बारिश भी हुई। जिससे तापमान के गिरावट आने के साथ ही मौसम भी सुहावना हो गया।

तिलवाड़ा: दिव्यांग युवक लस्तर नदी में बहा
जखोली ब्लॉक के शीशों गांव का एक 22 वर्षीय दिव्यांग लस्तर नदी में बह गया है। पुलिस, एसडीआरएफ और जल पुलिस के जवान युवक की खोजबीन में जुटे रहे। शुक्रवार को सुबह 11 बजे शीशों गांव निवासी अनु (22) पुत्र रजपाल लाल (जो मूक-बधिर व दिव्यांग है) लस्तर नदी किनारे गया था। पैर फिसलने के कारण वह नदी के तेज बहाव में बह गया। सूचना पर जखोली पुलिस चौकी प्रभारी ललित मोहन भट्ट मय फोर्स मौके पर पहुंचे। साथ ही एसडीआरएफ और जल पुलिस के जवान ने घटनास्थल से लेकर संगम तक रेस्क्यू शुरू किया। ग्रामीणों के अनुसार उसे सूर्यप्रयाग स्थित लस्तर व मंदाकिनी नदी के संगम तक नदी में बहते हुए देखा गया। इसके बाद रेस्क्यू दल की एक टुकड़ी संगम से मंदाकिनी नदी पर तिलवाड़ा तक रेस्क्यू में जुटी रही, लेकिन अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। 

दो घंटे की बारिश से शहर तालाब बन गया 
गुरुवार को दोपहर में दो घंटे की बारिश से रुड़की तालाब बन गया। सड़कों से लेकर घरों और दुकानों में भी पानी भर गया। लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। दोपहर दो बजे से चार बजे तक झमाझम बारिश हुई। बारिश ने जहां लोगों को उमस और गर्मी से राहत दिलाई तो वहीं शहर के कई इलाके तालाब में तब्दील हो गए।

बारिश से हुआ एक फीट तक जलभराव
नालों में उफान आने से बारिश का पानी घरों में घुस गया। अंबर तालाब में यूं तो बिना बारिश ही जलभराव की समस्या बनी रहती है। बारिश के बीच यहां करीब एक फीट तक जलभराव हो गया। नाले और नालियों में बहकर आई गंदगी सड़कों पर फैल गई।

सिविल लाइंस में चंद्रशेखर चौक भी अब हर बारिश में जलभराव का शिकार होने लगा है। यहां एक से डेढ़ फीट तक पानी भरने से दुकानदारों को सबसे ज्यादा परेशानी उठानी पड़ी। माजरा में भी जलभराव होने से लोगों को परेशानी हुई। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: किसानों ने किया कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत का विरोध, 15 मिनट तक घेरे रखा काफिला

नैनीताल जिले की कालाढूंगी विधानसभा के चुनाखान में शुक्रवार को कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत को किसानों ने घेर लिया और खूब नारेबाजी की।

कृषि कानूनों को वापस करने की मांग की
इस दौरान किसानों ने विरोध प्रदर्शन कर कृषि कानूनों को वापस करने की मांग की। जानकारी के मुताबिक कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत शुक्रवार को टूरिज्म सेंटर चूनाखान में सड़क मार्ग का शिलान्यास करने पहुंचे थे।

काले झंडे दिखाकर नारेबाजी की
शिलान्यास के उपरांत जैसे ही कैबिनेट मंत्री का काफिला इको टूरिज्म सेंटर से लगभग 50 मीटर आगे बढ़ा तो भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने मंत्री का काफिला रोक दिया। इस दौरान मंत्री को  काले झंडे दिखाकर नारेबाजी करने लगे।

पार्टी के मंत्रियों का विरोध करते रहेंगे किसान
किसान यूनियन के सदस्यों ने कहा कि सरकार को किसान विरोधी कानून को वापस करना चाहिए। जब तक किसान विरोधी कानून वापस नहीं किए जाते हैं। तब तक हर विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के मंत्रियों का विरोध करते रहेंगे।
करीब 15 मिनट तक मंत्री की गाड़ी को घेरा रखा
वहीं विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने काफी मसक्कत कर मार्ग से हटाया व मंत्री के काफिले को आगे बढ़ाया। इस दौरान किसानों ने करीब 15 मिनट तक मंत्री की गाड़ी को घेरा रखा। जिस कारण पुलिस के हाथ पांव फूल गए। काफी देर  मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर कर मंत्री को सुरक्षित निकाला।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: प्रदेश में आज कोविड टीकाकरण का महाभियान, दो लाख लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य 

प्रदेश में कोविड टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने के लिए शुक्रवार को प्रदेश भर में महाभियान चलाया जा रहा है। जिसमें एक हजार केंद्रों पर दो लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

उत्तराखंड: गुरुवार को मिले 20 नए मरीज, 284 हुई सक्रिय संक्रमितों की संख्या
 
सभी 13 जिलों के पास 11.91 लाख टीकों का स्टॉक 
राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. कुलदीप मर्तोलिया ने बताया कि टीकाकरण अभियान के लिए सभी जिलों में पूरी तैयारी है। प्रत्येक जिले में 100-100 केंद्र बनाए गए हैं। राज्य के पास वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वर्तमान में सभी 13 जिलों के पास 11.91 लाख टीकों का स्टॉक उपलब्ध है।

प्रदेश में अब तक 18 से अधिक आयु वर्ग में 91.5 प्रतिशत लोगों को पहली डोज लगी है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि नजदीकी केंद्रों पर जाकर वैक्सीन की पहली या दूसरी डोज लगवाएं। प्रदेश में अब तक 95 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। जिसमें 70.70 लाख को पहली और 24.34 लाख से अधिक को दूसरी डोज लगाई गई है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us