Hindi News ›   Haryana ›   Rewari ›   Arrested for cheating in the name of installing mobile tower, Rs 29 lakh recovered

रेवाड़ी: मोबाइल टावर लगाने के नाम पर करता था ठगी, पुलिस ने दबोचा, 29 लाख रुपये बरामद

संवाद न्यूज एजेंसी, रेवाड़ी (हरियाणा) Published by: रोहतक ब्यूरो Updated Fri, 22 Oct 2021 10:41 AM IST

सार

हरियाणा के रेवाड़ी में पुलिस ने एक शातिर को धर दबोचा है। आरोपी मोबाइल के जरिए लोगों से ठगी करता था। मोबाइल टावर लगाने का झांसा देकर आरोपी लोगों को निशाना बनाता था। पुलिस ने भी उसी मोबाइल के जरिए आरोपी धर दबोचा है। युवक हिसार का रहने वाला है। 
पुलिस की गिरफ्त में धोखाधड़ी का आरोपी।
पुलिस की गिरफ्त में धोखाधड़ी का आरोपी। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

रेवाड़ी में टावर लगाने के नाम पर लोगों को ठगने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से 29 लाख रुपये भी बरामद हुए हैं। आरोपी की गिरफ्तारी साइबर पुलिस ने की है। पत्रकारों को जानकारी देते हुए डिप्टी एसपी मोहम्मद जमाल ने बताया जब आरोपी ने लोगों को ठगना शुरू किया तभी से वह पुलिस के निशाने पर आ गया था। उन्होंने बताया कि उसका काम ही ऑनलाइन लोगों को जाल में फंसाकर ठगी करने का रहा है।

विज्ञापन


साइबर थाना पुलिस के अनुसार आरोपी आशीष हिसार की देव वाटिका के मकान नंबर-97ए का रहने वाला है। उसने जुलाई 2021 में रेवाड़ी के गांव मुमताजपुर निवासी रविंद्र कुमार से फोन के जरिए संपर्क कर उसकी जमीन पर मोबाइल टावर लगवाने का झांसा दिया था।


कई बार हुई बातचीत के बाद रविंद्र उसके जाल में फंस गया। आरोपी ने उससे ऑनलाइन करीब साढ़े 7 लाख रुपये ऐंठ कर अपना फोन बंद कर दिया। खुद को बैंक अधिकारी बताकर आशीष काफी लोगों के साथ इसी प्रकार की ठगी कर चुका है। रविंद्र ने आरोपी के खिलाफ 7 जुलाई को साइबर थाना में केस दर्ज कराया था।

बुलेट बाइक का है शौकीन
शुरूआती पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि उसे बुलेट बाइक रखने का शौक है। ठगी की रकम के जरिए कुछ समय पहले ही उसने डेढ़ लाख रुपये कीमत की बाइक खरीदी थी। इतना ही नहीं वह पत्नी व परिजनों के लिए काफी महंगे जेवरात भी ठगी की रकम से खरीदे हैं।

आरोपी से 10 मोबाइल फोन बरामद हुए हैं, जिनमें 3 मोबाइल फोन उसने रविंद्र के साथ ठगी में इस्तेमाल किए हैं। इसके अलावा आरोपी से 1 लैपटॉप, 6 एटीएम कार्ड, 2 बैंक खातों की पासबुक के अलावा चेकबुक बरामद की गई है। इसके अलावा रविंद्र से ठगे साढ़े 7 लाख के अलावा 21 लाख 50 हजार रुपये बरामद किए हैं।

आसान नहीं था गिरफ्तार करना
आरोपी को गिरफ्तार करना इतना आसान नहीं था लेकिन साउथ रेंज रेवाड़ी साइबर थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के लिए ऐसा जाल बिछाया, जिसके जरिये वह लोगों के साथ ठगी करता था। आरोपी आशीष फोन के जरिये ही लोगों को निशाना बनाता था और पुलिस ने भी उसे फोन के जरिये ही गिरफ्तार किया है।

सूत्रों के अनुसार जिस मोबाइल को उसने ठगी में यूज किया, उसके जरिए ही पुलिस उसके पास तक पहुंची। पुलिस के अनुसार आरोपी ने आधा दर्जन से ज्यादा ठगी की वारदात की हुई है। पूरा रिकॉर्ड चेक किया जा रहा है। रिमांड के दौरान ही पूरी जानकारी मिल सकती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00