लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Ac Tips and Tricks: इन्वर्टर और नॉन इन्वर्टर एसी में फर्क समझना जरूरी, वरना खरीदने के बाद में पड़ सकता है पछताना

यूटिलिटी डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रकाश चंद जोशी Updated Wed, 25 May 2022 11:30 AM IST
नॉन इन्वर्टर और इन्वर्टर एसी में क्या अंतर है
1 of 6
विज्ञापन
गर्मियों का मौसम आते ही लोगों को सबसे बड़ी दिक्कत होती है कि कैसे वो जलती-चुभती गर्मी से बचें और कैसे अपने घर के कमरों को ठंडा रख पाएं। वहीं, दूसरी तरफ कूलर और पंखा तो गर्मी के चढ़ते पारे के आगे दम तोड़ते हुए नजर आते हैं। ऐसे में लोगों के पास एक ही विकल्प बचता है और वो है एसी लगवाने का। लेकिन बाजार में आपको कई तरह के और लेटेस्ट मॉडल के अलग-अलग कंपनियों के एसी मिल जाएंगे। हर कंपनी अपने एसी में कुछ नई खासियत बताते हुए लंबे चलने और अच्छी कूलिंग जैसी अन्य चीजों का वादा करती है। लेकिन आपने ध्यान दिया होगा कि दुकानों पर नॉन इन्वर्टर एसी के अलावा इन्वर्टर एसी भी होंगे? लेकिन क्या आप इन दोनों में फर्क समझते हैं? शायद नहीं, तो चलिए हम आपको इन्वर्टर और नॉन इन्वर्टर में क्या फर्क है, इस बारे में विस्तार से बताते हैं। आप अगली स्लाइड्स में इसके बारे में जान सकते हैं...
नॉन इन्वर्टर और इन्वर्टर एसी में क्या अंतर है
2 of 6
काम करने की क्षमता में अंतर
  • इन्वर्टर और नॉन इन्वर्टर एसी के काम करने की क्षमता अलग-अलग है। जहां एक तरफ इन्वर्टर एसी में टेम्परेचर के साथ ही स्पीड और क्षमता में बदलाव देखने को मिलता है, तो वहीं नॉन इन्वर्टर एसी एक रेगुलर स्पीड क्षमता पर चलता है।
विज्ञापन
नॉन इन्वर्टर और इन्वर्टर एसी में क्या अंतर है
3 of 6
बिजली के बिल में अंतर
  • वहीं, इन्वर्टर एसी नॉन इन्वर्टर एसी की तुलना में बिजली काफी कम खर्च करता है, जिससे बिजली की बचत होती है और बिल कम आने में मदद मिलती है। हालांकि, नॉन इन्वर्टर एसी और इन्वर्टर एसी की कीमतों में काफी फर्क भी होता है।
नॉन इन्वर्टर और इन्वर्टर एसी में क्या अंतर है
4 of 6
कूलिंग करने में अंतर
  • जहां नॉन इन्वर्टर एसी कमरे को ठंडा करने में थोड़ा ज्यादा समय लगाते हैं, तो वहीं इनवर्टर एसी इनके मुकाबले कमरे को जल्दी ठंडा करने का काम करते हैं। वहीं, नॉन इन्वर्टर एसी के मुकाबले इन्वर्टर एसी की लाभ ज्यादा होता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
नॉन इन्वर्टर और इन्वर्टर एसी में क्या अंतर है
5 of 6
  • इन्वर्टर एसी कंप्रेसर की मोटर की स्पीड को रेग्युलेट करता है। ऐसे में जब आपका कमरा ठंडा हो जाता है या कमरे का टेम्परेचर सामान्य हो जाता है, तो इन्वर्टर एसी में कंप्रेसर बंद नहीं होता बल्कि काम करता है लेकिन कम स्पीड से। इससे ये लगातार कमरे के तापमान को बराबर रखता है। वहीं, नॉन इन्वर्टर एसी की तरह इसका कंप्रेसर बार-बार ऑन-ऑफ नहीं होता, जिससे बिजली कम खर्च होती है। जबिक, ये फंक्शन नॉन इन्वर्टर एसी में नहीं होता है।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00