लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   The rain this time has been a boon, naini lake water level has increased four times

वरदान बनी इस बार की बारिश, लबालब हुई नैनीझील, चार गुना बढ़ा जलस्तर

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, नैनीताल Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Sun, 19 Jul 2020 09:04 AM IST
The rain this time has been a boon, naini lake water level has increased four times
- फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

लगातार हो रही बारिश नैनीझील और इसके आसपास की झीलों के लिए वरदान साबित हुई है। पिछले साल की तुलना में इस बार नैनीझील का जलस्तर चार गुना अधिक रिकॉर्ड हुआ है। यही स्थिति भीमताल, नौकुचियातात और सातताल की है।



गर्मियों में जिले की झीलों का जल स्तर घट जाता है, लेकिन इस बार समय-समय पर हुई बारिश, बर्फ बारी और ओलावृष्टि के कारण नैनीझील के जलस्तर में काफी वृद्धि हुई है। सिंचाई विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 18 जुलाई 2018 को झील का जलस्तर - 0.90 इंच था, जबकि उस वर्ष कुल बारिश 690 एमएम हुई थी।


18 जुलाई 2019 को नैनीझील का जलस्तर सामान्य से 2 फुट 10.5 इंच ऊपर था। उस वर्ष कुल बारिश 747.90 एमएम हुई थी। इस बार 18 जुलाई 2020 को झील का जल स्तर सामान्य से 8 फुट 9.5 इंच ऊपर रिकॉर्ड किया गया है, जो पिछले वर्ष की तुलना में लगभग चार गुना अधिक है। इस बार नैनीताल में अभी तक 883.20 एमएम बारिश हो चुकी है।

सातताल और नौकुचियाताल झील का जलस्तर भी इस बार बढ़ा

भीमताल झील को छोड़ दें तो सातताल और नौकुचियाताल झील का जलस्तर भी इस बार बढ़ा है। नौकुचियाताल का जल स्तर शनिवार को सामान्य से 14.3 फुट ऊपर था, जबकि पिछले वर्ष आज ही के दिन इसका जलस्तर सामान्य से 12.2 फुट ऊपर था।

इसी तरह शनिवार को सातताल झील का जलस्तर सामान्य से 16.0 फु ट ऊ पर रिकॉर्ड हुआ जो पिछले वर्ष आज ही के दिन सामान्य से 14.7 फुट ऊपर था। इधर, भीमताल झील का जलस्तर इस बार गिरा है। शनिवार को भीमताल झील का जलस्तर 38.8 फु ट रिकॉर्ड किया गया जो आज ही के दिन यानी 18 जुलाई 2019 को 40 फुट था।

इस साल समय-समय पर बारिश होने से सभी झीलों का जलस्तर बढ़ा है। भीमताल झील से किसानों की मांग पर समय-समय पर सिंचाई के लिए भी पानी छोड़ा जा रहा है।
डीसी पंत, सहायक अभियंता, सिंचाई विभाग नैनीताल

सिंचाई के लिए देते हैं भीमताल झील से पानी

सिंचाई विभाग भीमताल झील से सिंचाई के लिए भी पानी की निकासी करता है। अधिकारियों के मुताबिक काश्तकारों की मांग को देखते हुए ही पानी छोड़ा जाता है।

यह है नैनीताल जिले के झीलों की गहराई

सैलानियों के आकर्षण के केंद्र नैनीझील का क्षेत्रफल करीब 45 हेक्टेयर है। इसकी अधिकतम गहराई 27 मीटर है। वहीं, भीमताल झील की अधिकतम गहराई 18 मीटर, नौकुचियाताल झील की अधिकतम गहराई 36 मीटर और सातताल झील की अधिकतम गहराई 10 मीटर है।

जलस्तर मापने को लगे हैं वाटर गेज

झीलों की गहराई मापने के लिए सिंचाई विभाग ने झीलों के किनारे वाटर गेज लगाए हैं जिसमें शून्य से ऊपर और नीचे की ओर फुट के निशान दर्ज होते हैं। गेज में दर्ज निशानों के आधार पर ही झीलों का जल स्तर मापा जाता है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00