लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

किस्सा: जब चंबल के डाकुओं से घिर गये थे अक्षय कुमार, कहा- शोर मचाता तो गोली मार देते

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: ललित फुलारा Updated Thu, 23 Sep 2021 06:31 PM IST
अक्षय कुमार
1 of 5
विज्ञापन
बॉलीवुड में कई किस्से बड़े मशहूर हैं। किस्सों की इस सीरीज में हम आपको रोज नये-नये किस्से सुनाते रहते हैं। आज हम आपको बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अक्षय कुमार से जुड़ा हुआ एक बड़ा ही रोचक किस्सा सुना रहे हैं। 54 साल के इस दमदार अभिनेता ने बॉलीवुड में अपने अभिनय की बदौलत अलग तरह का मुकाम हासिल किया है। अक्षय कुमार एक्टिंग के साथ ही अपनी फिटनेस के लिए भी चर्चाओं में रहते हैं। हाल ही में उनकी फिल्म बेल बॉटम रिलीज हुई है, जिसे दर्शकों ने काफी सराहा है। अक्षय कुमार का यह किस्सा सुनने से पहले उनका एक और किस्सा जान लीजिए। दरअसल, अक्षय कुमार का कॉलेज के दिनों में एक लड़की को लव लेटर देने को लेकर मजाक बना था। इस किस्से को आप विस्तार से यहां पढ़ सकते हैं। 

अक्षय कुमार को फिल्म इंडस्ट्री में खिलाड़ी नंबर वन की पहचान हासिल करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। उन्होंने दिल्ली के चांदनी चौक की गलियों से लेकर मायानगरी तक का सफर मुश्किलों में तय किया। अक्षय कुमार ने अपने साथ घटित इस किस्से का खुलासा खुद ही एक इंटरव्यू में किया था और बताया था कि वो कैसे चंबल के डाकुओं के चंगुल में फंस गये थे। अगली स्लाइड में पढ़िये आगे का किस्सा
 
अक्षय कुमार- वेलकम
2 of 5
अक्षय कुमार को एक वक्त चंबल के डाकुओं का भी सामना करना पड़ा था। यह उनदिनों की बात है, जब अक्षय कुमार के पास कोई काम नहीं था। उस दौर में उनको जो काम मिल रहा था, वो उसे बड़ी शिद्दत से कर रहे थे। अक्षय ने अपने एक इंटरव्यू में बताया कि एक दिन वो बॉम्बे से 3- 4 हजार की शॉपिंग करके फ्रंटियर मेल से यात्रा कर रहे थे। 
विज्ञापन
अक्षय कुमार और पूजा बत्रा 
3 of 5
शॉपिंग का सारा सामान अक्षय कुमार के पास था। उसी वक्त ट्रेन में कुछ खटपट होने लगी। अक्षय कुमार ने कहा कि इस खटपट से उनकी आंख खुल गई। जैसे ही वो जागे उन्होंने देखा कि ट्रेन में डाकू चढ़ गये थे।
अक्षय कुमार फैन क्लब
4 of 5
डाकू ट्रेन में सबको उठा रहे थे। अक्षय ने कहा कि मैं अपनी आंखों से ये सब देख रहा था। उसी वक्त एक डाकू उनके पास आया और उनका सारा सामान उठा लिया। अक्षय का कहना है कि वो उस वक्त सोने का नाटक करते रहे, क्योंकि अगर वो जरा-सी भी चूक करते तो डाकू उनको गोली मार देते।
विज्ञापन
विज्ञापन
अक्षय कुमार
5 of 5
अक्षय ने अपने इस अनुभव के बारे में कहा कि ऐसी स्थिति में वो अंदर ही अंदर रहो रहे थे। उनको डाकुओं से डर लगा हुआ था। अक्षय कुमार ने कहा, मैं ऐसी स्थिति में कुछ नहीं कर सकता था। डाकुओं ने मेरी चप्पल तक नहीं छोड़ी। गौरतलब है कि अक्षय कुमार अमृतसर में एक आर्मी परिवार में पैदा हुए। उनके पिता सेना में अधिकारी थे। अक्षय कुमार ने बताया कि इस तरह वो बिना अपने सामान के साथ दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उतरे।
 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00