लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Bijnor ›   Weather Update: It is very hot in Bijnor and damage to crops of are not rain

यूपी में मौसम का हाल: सितंबर माह में खूब सता रही गर्मी, बारिश कम होने से फसलों का बुरा हाल, चिंता में किसान

अमर उजाला ब्यूरो, बिजनौर Published by: कपिल kapil Updated Thu, 08 Sep 2022 08:40 PM IST
सार

Weather Update: सितंबर माह चल रहा है लेकिन फिर भी गर्मी खूब सता रही है। उधर, बारिश कम होने से फसलों को भी काफी नुकसान हो रहा है। ऐसे में किसान चिंता में है।

धान की फसल को नुकसान।
धान की फसल को नुकसान। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Weather Update: बिजनौर जिले में गर्मी का सितम जारी है। बारिश न होने से तापमान लगातार बढ़ रहा है। पिछले सालों की तुलना में इस बार अधिकतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस ज्यादा है। जिसका असर फसलों पर पड़ रहा है। पानी की कमी से धान की फसल में रोग बढ़ रहे हैं। वहीं रोग को समाप्त करने के लिए किसान कीटनाशक दवाई का ज्यादा प्रयोग कर रहे हैं।



जिले में इस साल पिछले सालों के मुकाबले काफी कम बारिश हुई है। वहीं अधिकतम तापमान भी पिछले साल के मुकाबले बढ़ा हुआ है। पिछले साल सिंतबर माह में अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 23.5 डिग्री सेल्सियस था। जबकि इस बार अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस तक है। जिसका असर फसलों पर पड़ रहा है। इससे किसान को भी पैसे की हानि हो रही है। 


वहीं बारिश न होने और तापमान बढ़ने से धान की फसल में सफेद पीठवाला फुदका, तनाभेदक आदि रोग लग रहे हैं। जिसे दूर करने के लिए किसान कीटनाशक का प्रयोग कर रहा है। जिसका खर्चा किसान को अपनी जेब से उठाना पड़ रहा है। यहीं कारण है कि बारिश न होने से फसल को नुकसान पहुंच रहा है। जिला कृषि रक्षा अधिकारी मनोज रावत ने बताया कि कम बारिश होने से जिले में धान की फसल में वायरस, तनाभेदक आदि बीमारी का खतरा है। प्रकोपित कल्ले मुरझाने लगते हैं। जड़ों का विकास रुक जाता है। अगर आंकड़ों की बात करें तो पिछले सालों के मुकाबले इस साल काफी कम वर्षा हुई है।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी की महत्वपूर्ण परियोजना का श्रीगणेश: 14 साल का इंतजार खत्म, मध्य गंगा में छोड़ा पानी, हर तरफ उत्साह

जिले में पिछले पांच सालों में कुल वर्षा
वर्ष                       बारिश एमएम में

2018-19                1212.70
2019-20                1052.60
2020-21                941.20
2021-22                1351.60
2022-23                442

जिले में पिछले पांच सालों में सितंबर माह का अधिकतम और न्यूनतम तापमान
वर्ष             अधिकतम तापमान            न्यूनतम तापमान

2018         31.8 डिग्री सेल्सियस         23.7 डिग्री सेल्सियस
2019         32.8                          24.6
2020         33.9                          24.3
2021         32                            23.5 
2022         37                            27

बारिश कम होने और तापमान अधिक बढ़ने से धान की फसल में बीमारी बढ़ रही है। जिसके चलते लगातार धान के प्लांटों का निरीक्षण किया जा रहा है। साथ ही बीमारी व उससे नुकसान का आंकलन के लिए सभी एडीओ को निर्देशित कर दिया है। - मनोज रावत, जिला कृषि रक्षा अधिकारी
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00