लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chhattisgarh ›   Chhattisgarh Mahanadi water level rises CM Bhupesh Baghel asks officials to monitor situation

Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में बाढ़ की आशंका, जिला अधिकारियों को बचाव व सुरक्षा के आवश्यक उपाय करने का निर्देश

पीटीआई, रायपुर। Published by: देव कश्यप Updated Tue, 16 Aug 2022 05:52 AM IST
सार

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में हो रही लगातार बारिश की वजह से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा है जिसके मद्देनजर प्रशासन द्वारा नदियों विशेषकर महानदी बेसिन के किनारे बसे गांवों में बाढ़ की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है।

हीराकुंड बांध।
हीराकुंड बांध। - फोटो : Twitter
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारी बारिश के बीच महानदी के जलस्तर में तेजी से हो रही वृद्धि के मद्देनजर प्रशासन को विशेष निगरानी और सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने विशेष रूप से जांजगीर-चांपा और रायगढ़ जिलों में स्थिति की निगरानी के लिए प्रशासन से कहा। जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।



बाढ़ की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी
अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में हो रही लगातार बारिश की वजह से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा है जिसके मद्देनजर प्रशासन द्वारा नदियों विशेषकर महानदी बेसिन के किनारे बसे गांवों में बाढ़ की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है।


जांजगीर-चांपा और रायगढ़ जिलों में नदी किनारे बसे गांवों में विशेष निगरानी के निर्देश
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने महानदी के जलस्तर में तेजी से हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए जांजगीर-चांपा और रायगढ़ जिलों में नदी किनारे बसे गांवों में जिला प्रशासन को विशेष निगरानी और सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। अधिकारियों ने बताया कि प्रशासन महानदी के जलस्तर पर लगातार नजर रख रहा है और नदी किनारे नीची जमीन पर बसे गांवों और बस्तियों को खाली कराने और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने का काम शुरू कर दिया गया है।

लगातार बढ़ रहा महानदी का जलस्तर
उन्होंने बताया, ‘‘राज्य में पिछले कई दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। रायपुर, दुर्ग और बस्तर संभाग स्थित सिंचाई बांध और जलाशय लबालब भरे हुए हैं। ऐसी स्थिति में बांधों और जलाशयों से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है, जिसके चलते महानदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है।’’

हीराकुंड बांध में लगभग नौ लाख क्यूसेक पानी आ रहा
अधिकारियों ने बताया कि धमतरी जिला स्थित रविशंकर जलाशय से 52 हजार क्यूसेक (घन फुट प्रति सेकेंड) पानी छोड़ा जा रहा है जबकि सोंधपुर बांध से 5,000 क्यूसेक, सीकासेर से 13,400 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इससे महानदी को 70,400 क्यूसेक पानी मिल रहा है जबकि शिवनाथ नदी के लिए यह आंकड़ा 70,000 क्यूसेक है।” उन्होंने कहा कि हीराकुंड बांध में लगभग 9,00,000 क्यूसेक पानी आ रहा है, इसलिए इसके प्रबंधन ने पड़ोसी राज्य ओडिशा में भारी बारिश और बाढ़ के बावजूद छत्तीसगढ़ सरकार के अनुरोध के बाद पानी छोड़ने का फैसला किया है।

आपदा प्रबंधन टीमों को अलर्ट पर रखा गया
अधिकारी ने कहा कि "हीराकुंड से करीब 4,50,000 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है और इससे जांजगीर-चांपा और रायगढ़ में बाढ़ आ रही है।" उन्होंने बताया कि जांजगीर-चांपा और रायगढ़ जिला प्रशासन द्वारा राहत एवं बचाव के लिए आपदा प्रबंधन टीमों को अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने आपदा राहत उपायों के लिए एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल) की मांग की है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00