शहर में फिर स्नैचिंग गिरोह सक्रिय, नौ घंटे में दो स्नैचिंग

ब्यूरो/अमर उजाला, रोहतक Updated Thu, 22 Sep 2016 01:57 AM IST
स्नैचिंग की एक वारदात सिविल लाइन और दूसरी पीजीआई थानाक्षेत्र में हुई
स्नैचिंग की एक वारदात सिविल लाइन और दूसरी पीजीआई थानाक्षेत्र में हुई - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
शहर में एक बार फिर से स्नैचिंग गिरोह सक्रिय हो गया है। बुधवार को सिविल लाइन और पीजीआई थाना क्षेत्र में नौ घंटे के अंतराल में स्नैचिंग की दो वारदात हुईं। पहली वारदात में स्कूटी सवार तीन बदमाशों ने गांधी कैंप इलाके में बीमार बेटे के दवाई लेने जा रही एक वृद्धा से पर्स छीन लिया। दूसरी वारदात में आईटीआई चौक पर खड़ी लेबर वेलफेयर विभाग की कंप्यूटर ऑपरेटर के गले से बाइक सवार सोने की चेन तोड़कर भाग गए। वारदात की शिकार दोनों ही महिलाएं चिन्यौट कालोनी की रहने वाली हैं। शहर में लगातार हो रही स्नैचिंग ने पुलिस गश्त पर सवाल उठा दिए हैं।
विज्ञापन


नहीं खरीद सकी 15 दिन से बीमार बेटे की दवा

चिन्यौट कॉलोनी निवासी 55 वर्षीय राजरानी घरेलू महिला है। उसका बेटा करीब पंद्रह दिनों से बीमार है। उसकी दवाई खत्म होने पर राजरानी बुधवार शाम करीब छह बजे दवाई लेने के लिए गांधी कैंप क्षेत्र में जा रही थी। जैसे ही वह सड़क के कि नारे पहुंची, सामने से एक स्कूटी पर सवार होकर तीन युवक आ गए। महिला के नजदीक आकर आरोपियों ने स्कूटी की स्पीड कम की। इसी बीच पीछे बैठे युवक ने महिला से पर्स छीन लिया। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला से आरोपियों के हुलिये के बारे में जानकारी ली। इस संबंध में सिविल लाइन थाने में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। गांधी कैंप चौकी इंचार्ज सुरेश का कहना है कि मामले में अभी तक कोई भी सबूत पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं।


कई दिनों में जुटाए दो हजार रुपये आरोपी ले उड़े

वारदात का शिकार महिला के पति गुलशन चाय की दुकान चलाते हैं। जैसे-तैसे करके वह परिवार का गुजारा करते हैं। बेटे के बीमार होने के बाद दवाई के खर्चे के लिए राजरानी ने एक-एक रुपया करके दो हजार रुपये जुटाए थे। ताकि बेटे को दवाई दिला सकें। मगर आरोपियों ने उनके दो हजार रुपये भी उड़ा दिये। आरोपियों ने महिला से जिस पर्स को छीना उसमें दो हजार रुपये और कुछ दस्तावेज रखे थे।

ऑटो के इंतजार में खड़ी थी लेबर वेलफेयर विभाग की कंप्यूटर ऑपरेटर

चिन्योट कालोनी निवासी पूनम लेबर वेलफेयर विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है। उनके पति गुड़गांव की किसी निजी कंपनी में कार्यरत हैं। पुलिस के मुताबिक पूनम सुबह किसी काम से घर से बाहर आई थी। करीब सुबह नौ बजे वह वापस घर आने के लिए आईटीआई चौक पर ऑटो का इंतजार कर रही थी। बाइक सवार बदमाश ने पीछे से पूनम के गले से सोने की चेन तोड़ ली। पूनम ने शोर मचाते हुए आरोपी को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह फरार हो गया। हेलमेट लगा होने के कारण पूनम आरोपी का चेहरा भी नहीं देख पाई। इस संबंध में गांधी कैंप चौकी में अज्ञात के खिलाफ स्नैचिंग का केस दर्ज किया गया है।

पिछली स्नैचिंग की वारदात का खुलासा नहीं

स्नैचिंग के मामलों को लेकर पुलिस का लगातार टालमटोल रवैया सामने आ रहा है। पिछले दिनों सेक्टर एक और अर्बन एस्टेट क्षेत्र में हुई स्नैचिंग की करीब छह वारदात में से एक में भी खुलासा नहीं हो सका है। आरोपियों ने महिला डॉक्टर और इनकम टैक्स विभाग में कार्यरत महिला इंस्पेक्टर से स्नैचिंग की थी। बुधवार को हुए स्नैचिंग के दोनों मामलों में पुलिस के हाथ सीसीटीवी फुटेज लगी है। इसके आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है। उनकी बाइक के नंबर को ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00