उत्तराखंड: कुदरत के कहर से जमींदोज हुआ घर, मलबे में दबीं मां और दो बेटियों की मौत, तस्वीरों में तबाही का मंजर...

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, अल्मोड़ा Published by: अलका त्यागी Updated Wed, 08 Jul 2020 10:48 PM IST
घर हुआ जमींदोज
1 of 6
विज्ञापन
उत्तराखंड के कुमाऊं में बारिश ने मंगलवार रात जमकर कहर बरपाया। अल्मोड़ा के बिन्ता क्षेत्र के अल्मियांगाव के तैलमैनारी तोक में मंगलवार देर रात दो मंजिला पत्थर का पुराना मकान अतिवृष्टि के चलते जमींदोज हो गया। हादसे में मां और दो बेटियों की मौत हो गई। पिता राजकीय अस्पताल रानीखेत में भर्ती है। घटना के वक्त घर बेटा किशन दोस्त के यहां था, जिस कारण उसकी जान बच गई। 
Uttarakhand Weather Update : Mother and two daughters Died due to  buried under debris During House Collapse
2 of 6
उधर, सोमेश्वर तहसील क्षेत्र में साईं नदी में बहने से इंटर कॉलेज सलौंज के चतुर्थ श्रेणी कर्मी मालौज निवासी मोहन सिंह अधिकारी (53) की मौत हो गई। हादसे के वक्त वह साईं नदी से होकर घर जा रहा थे। ऊपरी क्षेत्र में बारिश होने से नदी में पानी का बहाव तेज हो गया और वह बह गए। करीब आधा किमी दूर उनका शव बरामद हुआ। उधर खटीमा में खकरा नाले के उफान में वार्ड संख्या सात, अमाऊं, कादरी कॉलोनी निवासी समीर (17) पुत्र इदरीश बुधवार की दोपहर बह गया। समाचार लिखे जाने तक उसका पता नहीं चल पाया था।
विज्ञापन
Uttarakhand Weather Update : Mother and two daughters Died due to  buried under debris During House Collapse
3 of 6
बता दें कि मंगलवार की देर रात हुई अतिवृष्टि से ग्राम पंचायत अल्मियांगांव के तोक तैलमैनारी निवासी रमेश राम पुत्र स्व.नाथू राम का दोमंजिला मकान धराशायी हो गया। मलबे में दबने से रमेश राम की पत्नी चंद्रा देवी और पुत्री कमला (17) की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरी बेटी पिंकी (12) ने रानीखेत अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। गंभीर हालत में रमेश राम को रानीखेत अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने बताया कि रमेश राम की कॉलरबोन टूट गई है। रानीखेत अस्पताल में सर्जन मुकेश जोशी ने पोस्टमार्टम के बाद मां और बेटियों के शव परिजनों को सौंप दिए। 
Uttarakhand Weather Update : Mother and two daughters Died due to  buried under debris During House Collapse
4 of 6
भारी बारिश के चलते रात भर राहत और बचाव कार्य में भी भारी दिक्कतें आईं। कमला ने राजकीय इंटर कॉलेज बिंता से इंटरमीडिएट की परीक्षा दी थी जबकि पिंकी राजकीय जूनियर हाईस्कूल भतौंरा में 7वीं कक्षा में पढ़ती थी। द्वाराहाट एसडीएम आरके पांडेय ने बताया कि पीड़ित परिवार को प्रशासन की ओर से मकान क्षति का एक लाख नौ सौ रुपये और 3800 रुपये फौरी सहायता दे दी गई है। इसके अलावा, पीड़ित परिवार को राशन की दो किट भी दी गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
Uttarakhand Weather Update : Mother and two daughters Died due to  buried under debris During House Collapse
5 of 6
भारी बारिश के कारण मलबा आने से जहां-तहां सड़कें बंद हो गई हैं। पिथौरागढ़ जिले में 18 से अधिक सड़कें बंद हैं। रातीगाड़ के पास थल-मुनस्यारी सड़क को खोल रही जेसीबी  के ऊपर मलबा गिर गया। हादसे में मशीन को काफी नुकसान हुआ है। जेसीबी ऑपरेटर बलबीर सिंह यादव को हल्की चोट आई हैं।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00