लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Hardoi ›   Hardoi, Jallianwala Bagh-like incident happened in Semaria

हरदोईः सेमरिया में हुआ था जलियांवाला बाग जैसा कांड

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Sat, 13 Aug 2022 11:45 PM IST
फोटो - 40 - शहीद स्मारक सेमरिया
फोटो - 40 - शहीद स्मारक सेमरिया - फोटो : HARDOI
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हरपालपुर। शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा। देशभक्ति का यह गीत वर्ष 1932 के पशु मेले में अंग्रेजों के खिलाफ जंग का ऐलान करने वाले शहीद क्रांतिकारियों के बलिदान की यादों को ताजा कर देता है।

हिंदुस्तान को आजादी दिलाने में कटियारी क्षेत्र का विशेष योगदान रहा है। वर्ष 1932 में सेमरिया मेले में क्षेत्र के बलिदानियों पर अंग्रेजों की बर्बरता पूर्ण गोलीकांड आजादी के इतिहास में मिनी जलियां वाला बाग हत्याकांड के रूप में मशहूर है। इसमें 269 लोग शहीद हुए थे।

जिला मुख्यालय से 41 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सेमरिया गांव में 2011 में तत्कालीन जिलाधिकारी अवधेश कुमार सिंह राठौर की पहल पर स्मारक बना था।
शहीद स्मारक समिति सेमरिया के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार अभय शंकर गौड़ व सचिव महेश मिश्र ने जन सहयोग से शहीद स्मारक का निर्माण कराया था। यहां 15 अगस्त को साइकिल रेस प्रतियोगिता होती है।
पूर्णमासी पर यहां हर वर्ष पशुओं का बड़ा मेला लगता था। वर्ष 1932 को इसी मेले में अंग्रेजों के खिलाफ जंग का ऐलान कर क्रांतिकारियों ने एक बड़ी सभा कर आजादी की लड़ाई का बिगुल फूंका था।
महेश्वर नाथ गुप्त शाहाबादी की अगुवाई में क्रांतिकारियों का जुलूस इंकलाब के नारों के साथ सेमरिया मेले में जा पहुंचा। जहां मेले में कंट्रोलर मजिस्ट्रेट को नागवार गुजरा। इसमें जुलूस पर रोक का फरमान जारी किया।
जिसे क्रांतिकारियों ने खारिज कर दिया। आजादी दो इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाए गए। बात यहां तक बढ़ गई कि मजिस्ट्रेट ने मेले की भीड़ पर गोली चलाने का आदेश अंग्रेज सिपाहियों को दे डाला।
गोलीकांड में लगभग 269 निर्दोष लोग मारे गए। लाशों को अंग्रेजों ने अपने जुर्म पर पर्दा डालने के लिए रातों-रात रामगंगा नदी में डलवा दिया। अंग्रेजी हुकूमत इतने पर भी शांत नहीं हुई और उसने क्षेत्र के आसपास के तमाम क्रांतिकारियों की एक सूची तैयार कर मेले में दंगा फसाद का आरोप लगाकर तमाम लोगों पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराए। जिसमें 24 लोगों को जेल भी भेजा गया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00