विज्ञापन

उत्तर प्रदेश

विज्ञापन
शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021
Myjyotish

शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

शाहजहांपुर: गिरे पुल की होगी उच्चस्तरीय जांच, वेल के नीचे ऑर्टिजन बनने की आशंका

शाहजहांपुर में एक पुल के बड़े हिस्से के जमींदोज होने को सरकार ने गंभीरता से लिया है। सेतु निगम के एमडी योगेश पवार ने विशेषज्ञों के साथ बुधवार को मौका मुआयना किया। हालांकि, यह टीम किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है। इसके सही कारणों की पड़ताल के लिए उच्चस्तरीय परीक्षण की जरूरत बताई जा रही है। पुल के वेल (कुआं) के नीचे ऑर्टिजन बनने की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा रहा है।

शाहजहांपुर में कलान-मिर्जापुर क्षेत्र को जिला मुख्यालय से जोड़ने वाला महत्वपूर्ण 18 सौ मीटर लंबा कोलाघाट पुल सोमवार को तड़के पिलर धंसने से ढह गया था। करीब दो सौ मीटर हिस्सा जमींदोज होने से पुल तीन हिस्सों में बंट गया। यह पुल 2009 में बनाया गया था। कुछ अभियंता इसकी जांच सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीआरआरआई) से कराने की जरूरत बताते हैं, ताकि असली कारण सामने आने पर भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोका जा सके।

विशेषज्ञों ने ये आशंकाएं भी जताईं
पीडब्ल्यूडी के जानकारों का कहना है कि आजकल इस तरह की मशीनें उपलब्ध हैं, जो यह बता देती हैं कि पिलर (खंभा) समेत वेल की गहराई कितनी है। इससे आसानी से यह पता लगाया जा सकता है कि पुल का निर्माण तय डिजाइन के अनुसार हुआ या नहीं। ऐसा तो नहीं कि वेल की गहराई डिजाइन से कम कर दी गई हो, जो हादसे का कारण बना हो। यह भी देखना होगा कि वेल की तली पर कंक्रीट का ढांचा (तकनीकी भाषा में बॉटम प्लगिंग ऑफ वेल), मध्य भाग की प्लगिंग और वेल कैप (सबसे ऊपरी हिस्सा) मानक के अनुसार बनाया गया नहीं।

वेल की तली और कैप की कंक्रीट के ढांचे में तो कोई दिक्कत नहीं आई। वेल कैप फेल होने से भी खंभा नीचे धंस जाता है, जो पुल टूटने की वजह बनता है। अगर वेल में ऑर्टिजन बना होगा, तो पूरा स्ट्रक्चर सिकुड़ने लगता है, जिससे भी पिलर अंदर चला जाता है। पुल का जो हिस्सा गिरा है, उसके गर्डर और स्लैब गिरने पर भी नहीं टूटे हैं, इसलिए जानकारों का कहना है कि उसके ऊपरी हिस्से की क्वालिटी में कोई गड़बड़ नहीं मालूम पड़ रही है। अलबत्ता सही स्थिति जांच के बाद ही साफ हो सकती है।
... और पढ़ें

बुजुर्ग महिला हत्याकांड: कातिल का पता लगाने में जुटी आगरा पुलिस, सिर्फ परिचित के लिए खोलती थी दरवाजा, मोबाइल साथ ले गए हत्यारे

जाटनी का बाग स्थित तीन मंजिला बिल्डिंग में रहने वालीं सराफ राधेश्याम गुप्ता की पत्नी ऊषा गुप्ता की हत्या का शक किसी परिचित पर है। पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि उनके फ्लैट पर कुछ लोगों की नजर थी। पूरे रुपये देने के बाद भी फ्लैट की रजिस्ट्री उनके नाम नहीं हुई थी। करीब दो साल पहले उनके घर से जेवरात भी चोरी हुए थे। इस मामले में एक जानकार महिला से विवाद भी हुआ था। अब पुलिस इन पहलुओं पर अपनी विवेचना आगे बढ़ा रही है। फ्लैट में उनका मोबाइल भी नहीं मिला है।

फ्लैट में अकेले रहती थीं ऊषा गुप्ता

जाटनी का बाग निवासी राधेश्याम गुप्ता सराफ थे। उनकी किनारी बाजार में दुकान थी। चार साल पहले बीमारी के चलते उनकी मृत्यु हो गई थी। पत्नी ऊषा गुप्ता फ्लैट नंबर 203 में अकेली ही रहती थीं। उनकी फ्लैट में हत्या करके बाहर से ताला लगा दिया गया था। उनका चार दिन से फोन नहीं लगने पर मंगलवार को फिरोजाबाद से भाई सुनील कुमार गुप्ता, भाभी मीरा गुप्ता, बहन सुनीता, बहनोई रामकुमार आए थे। उन्होंने पुलिस की मौजूदगी में ताला खोला था। कमरे में बेड पर ऊषा गुप्ता की लाश मिली थी। उनके मुंह से खून निकल रहा था। सिर पर कंबल बंधा हुआ था। कमरे में अलमारी खुली पड़ी थीं। बहन की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया।

... और पढ़ें

खुशखबर: गोरखपुर मेट्रो के पहले चरण को केंद्र से मिली मंजूरी, अब प्रदूषण और जाम से मिलेगी मुक्ति

गोरखपुर शहर में लाइट मेट्रो की राह और आसान हो गई है। परियोजना के पहले चरण को केंद्र सरकार की मंजूरी मिल गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी साझा की है।
 
सीएम योगी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि गोरखपुर में मेट्रो सेवा आरंभ करने की प्रक्रिया तीव्र गति से आगे बढ़ रही है। इसी कड़ी में पब्लिक इन्वेस्टमेंट बोर्ड (पीआईबी) की बैठक में गोरखपुर लाइट मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के फेज-1 के लिए अप्रूवल मिल गया है। सीएम ने इस उपलब्धि के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार भी व्यक्त किया है।

विशेषज्ञों के मुताबिक, परियोजना के पहले चरण की मंजूरी मिलने के बाद गोरखपुर में लाइट मेट्रो की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ेगी। गोरखपुर में लाइट मेट्रो के लिए 4,589 करोड़ रुपये की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) पहले ही भेजी जा चुकी है। सरकार ने बजट में भी पहले से ही गोरखपुर और वाराणसी में मेट्रो ट्रेन के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था कर रखी है।
... और पढ़ें

UP Chunav 2022: ससुराल से प्रियंका गांधी ने भरी चुनावी हुंकार, भाजपा पर साधा निशाना, दोहराई कांग्रेस की प्रतिज्ञा 

कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने गुरुवार को अपनी ससुराल मुरादाबाद से चुनावी हुंकार भरी। मुरादाबाद में आयोजित प्रतिज्ञा रैली में भाजपा पर निशाना साधा। रैली में कांग्रेस की प्रतिज्ञाओं को दोहराई। सपा और बसपा पर भी प्रहार किया।

दिल्ली रोड स्थित बुद्धि विहार फेज-2 के मैदान पर आयोजित कांग्रेस की प्रतिज्ञा रैली को प्रियंका गांधी ने संबोधित किया। उन्होंने लोगों से आह्वान किया है कि वह अपने नेताओं की जवाबदेही तय करें। उनसे सवाल करें। प्रदेश और केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा जाति धर्म की राजनीति करती है। इस सरकार में आटा, डाटा, बिजली, रसोई गैस सब महंगी हो गई है। सपा और बसपा को अवसरवादी बताया। 

उन्होंने कहा कि जाति धर्म नहीं, मुद्दे के आधार पर वोट करें। उन्होंने कांग्रेस की प्रतिज्ञा को चुनाव में निभाने का वादा किया। इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय चेयरमैन इमरान प्रतापगढ़ी, राष्ट्रीय सचिव तौकीर आलम, धीरज गुर्जर आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
प्रियंका गांधी। प्रियंका गांधी।

यूपी: उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा बोले- अखिलेश होते तो जिन्ना के नाम पर होता विश्वविद्यालय

सहारनपुर में गुरुवार को विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने मंच से प्रदेश में रहीं पूर्व की सरकारों के घेरने में कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा उनकी सरकार ने विश्वविद्यालय का नाम मां शाकंभरी देवी के नाम पर रखा है, लेकिन यदि अखिलेश होते तो वह विश्वविद्यालय का नाम मां शाकंभरी देवी नहीं, बल्कि जिन्ना के नाम पर रखते। 

विश्वविद्यालय से जुड़ेंगे 264 महाविद्यालय

उप मुख्यमंत्री ने कहा विश्वविद्यालय 50.43 एकड़ भूमि पर बन रहा है, इसके लिए पहले चरण में 92 करोड़ रुपये जारी किए गए। उन्होंने कहा कि पहले चरण का कार्य 18 माह में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा है। यानी जून 2023 तक पहला चरण पूरा होगा। विश्वविद्यालय से सहारनपुर मंडल के सहारनपुर जनपद के अलावा मुजफ्फरनगर और शामली के 264 महाविद्यालय जुड़ेंगे। 

यह भी पढ़ें: 
अडानी समूह बनाएगा गंगा एक्सप्रेसवे : अमरोहा से प्रयागराज तक मिला तीन चरणों का काम 


डिप्टी सीएम ने बड़ी घोषणा की

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालय में रोजगार परक शिक्षा दी जाएगी, जिसमें फार्मेसी से लेकर, टेक्निकल और कंप्यूटर से जुड़ी शिक्षा शामिल रहेगी। ताकि विद्यार्थी पढ़ाई पूरी करते ही नौकरी के लिए तैयार हो। उन्होंने घोषणा कर बताया कि अनुसूचित जाति के 40 लाख विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति पुन: शुरू कर दी गई है। दावा किया कि योगी सरकार में प्रदेश के 4.5 लाख युवाओं को रोजगार दिया गया। उन्होंने कहा कि योगी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार में प्रदेश की अर्थ व्यवस्था 22 लाख करोड़ पर पहुंच गई है, जो पहले 11 लाख करोड़ की थी।

यह भी पढ़ें: व्यापारी की मौत का मामला: तेजी से वायरल हो रहा ऑडियो, बहनोई ने पत्नी को लेकर खोला ये बड़ा राज
... और पढ़ें

यूपी चुनाव : मंत्री अमित शाह बोले- सुरक्षित हाथों में है देश-प्रदेश, पाकिस्तान को घर में घुसकर सिखाया सबक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को सहारनपुर के पुवांरका में मां शाकंभरी देवी राजकीय विश्वविद्यालय का शिलान्यास करने पहुंचे हैं। इस दौरान अमित शाह और सीएम योगी ने पुनवारका गांव में मां शाकुंभरी विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। इस दौरान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और अन्य भी मौजूद रहे।

वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने भारत माता की जय के साथ अपने भाषण की शुरुआत की। शाह ने कहा कि मेरे लिए यह बहुत शौभाग्य की बात है कि इस पवित्र और एतिहासिक भूमि पर मां शांकभरी देवी विश्वविद्यालय के शिलान्यास के लिए योगी जी ने मुझे आमंत्रित किया है। शाह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश और सीएम योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सुरक्षित हाथों में है। कांग्रेस की सरकार में पाक की ओर से लगातार आतंकी हमले होते रहे, लेकिन कुछ नहीं हुआ। उरी और पुलवामा में आतंकी हमले पर सर्जिकल और एयर स्ट्राइक से पाक को घर में घुसकर सबक सिखाया। यूपी में भी दंगों के डर से लाखों युवा अब पलायन नहीं करेंगे बल्कि घर के पास पढ़ाई करेंगे।

अमित शाह ने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा कि अब उत्तर प्रदेश के क्राइम के आंकड़े देख लीजिए। पहले यूपी में क्राइम चरम पर था। उन्होंने हत्या, लूट और अन्य सभी अपराधों के आंकड़े गिनाते हुए कहा कि अब यूपी में भाजपा की सरकार में अपराध कम हुआ है। शाह ने पुरानी सरकारों पर हमला करते हुए कहा कि वो तो सिर्फ विकास का वादा करते थे, लेकिन पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण और देश की सड़कों के लिए अधिक से अधिक काम कराकर वादा पूरा किया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने तीन तलाक, 370 जैसे कई बड़े मुद्दे खत्म करके लोगों को साबित कर दिखाया है कि भाजपा सरकार में क्या कुछ हुआ है।  

वहीं अमित शाह ने अपने भाषण को समाप्त करते हुए सहारनपुर की जनता से पूछा की इस बार यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा को 300 सीटें मिलेंगी या नहीं। वहीं कार्यक्रम में मौजूद जनता ने जोरशोर से शाह के सवाल का 'हां' से जवाब दिया और भाजपा पार्टी के समर्थन में खूब नारेबाजी की।

शाह ने कहा कि आज यूनिवर्सिटी बनने से यहां के युवाओं को न केवल पढ़ने-लिखने बल्कि घर के पास रहने का भी मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अंदर गुंडा माफिया जैसे तत्वों का शासन था। उससे मुक्त कराकर वेस्ट यूपी को उसका सम्मान लौटाने का काम योगी जी ने किया। यहां के लोगों को अपनी बहन-बेटियों को पढ़ाने के लिए बाहर भेजा जाता था क्योंकि उनका सम्मान सुरक्षित नहीं था। आज किसी की मजाल नहीं कि बहन-बेटियों की तरफ आंख उठाकर भी देख ले।  

कहा कि दिल्ली से सहारनपुर आने में पहले आठ घंटे लगते थे लेकिन अब तीन घंटे लगते हैं, आज मोदी जी के कारण न सिर्फ शहरों की दूरियां घटी हैं बल्कि दिलों की दूरियां भी घटी हैं। हर घर में बिजली पहुंची हैं, गैस का सिलिंडर पहुंचा है, हर घर में शौचालय पहुंचा है। कहा कि सात साल के अंदर देश के पिछड़े दलित, आदिवासी को सुविधाएं मिली हैं। हर घर में पांच लाख तक की स्वास्थ्य सेवाओं का एक सुंदर कार्ड पहुंचा है। हर घर में प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज निशुल्क भेजने का काम भी कर रहे हैं। और यूपी के 15 करोड़ गरीबों को संभालने का काम नरेंद्र मोदी ने किया है। वेस्ट यूपी में गन्ना मिलों को बेचने का काम होता था। इसकी सीबीआई जांच चल रही है। भाजपा की सरकार बनने के बाद एक भी मिल बंद नहीं हुई और बेची भी नहीं गई। अब तक 90 प्रतिशत गन्ना किसानों का बकाया भुगतान कराने का काम किया जा चुका है। दस प्रतिशत बचा है, वह भी जल्द किया जाएगा। उन्होंने कहा पहले माफिया से पुलिस डरती थी, अब माफिया मुर्गा बनकर पुलिस के सामने सरेंडर कर रहे हैं। हमने कहा था कि गौ हत्या पर पाबंदी लगाएंगे। आज शत-प्रतिशत अवैध कत्लखाने बंद कराकर बेहतर माहौल दिया है।

https://youtu.be/7xOB4MqeuTA
... और पढ़ें

यूपी : दिव्यांगों व दिव्यांगता के लिए काम करने वालों को सम्मानित करेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विश्व दिव्यांगजन दिवस पर दिव्यांगजनों व दिव्यांगता के लिए काम करने वाली संस्थाओं को सम्मानित करेंगे। डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय मोहान रोड पर शुक्रवार सुबह दस बजे होने वाले समारोह के लिए दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग की ओर से सूची जारी कर दी गई है।

इसमें लखनऊ के लव कुमार अवस्थी और शगुन सिंह के नाम भी शामिल हैं। जिला दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी कमलेश ने बताया कि समारोह में बदायूं के अजय कुमार, महराजगंज के नागेन्द्र कुमार, इटावा आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय की नीतू द्विवेदी, इरफाना तारीख और धीरज श्रीवास्तव गोरखपुर, डॉ. सी तुलसीदास और प्रो. मंगला कपूर वाराणसी, जीया राय आजमगढ़, सौरभ तिवारी डुमरियागंज और रति मिश्रा बांसी सिद्धार्थनगर को सम्मानित किया जाएगा।

इसके अलावा दिव्यांगजनों के लिए काम करने वाली संस्थाएं कैफेबिटिली फाउंडेशन वाराणसी, भागीरथ सेवा संस्थान गाजियाबाद और प्रेमधाम चैरिटेबल सोसाइटी बिजनौर का भी सम्मान किया जाएगा।
... और पढ़ें

यूपी टीईटी 2021: पेपर लीक को लेकर भाजपा सांसद वरुण गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- कब तक सब्र करें नौजवान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
भाजपा सांसद वरुण गांधी ने कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार पर निशाना साधने के बाद अब यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा में पेपर लीक मामले को लेकर प्रदेश की योगी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि पहले तो सरकारी नौकरी ही नहीं है, फिर भी कुछ मौका आए तो पेपर लीक हो, परीक्षा दे दी तो सालों साल रिजल्ट नहीं, फिर किसी घोटाले में रद्द हो। रेलवे ग्रुप डी के सवा करोड़ नौजवान दो साल से परिणामों के इंतज़ार में हैं। सेना में भर्ती का भी वही हाल है। आखिर कब तक सब्र करें भारत का नौजवान?

वरुण गांधी भाजपा के सांसद होते हुए भी लगातार पार्टी की सरकारों के खिलाफ हमलावर रहे हैं और किसानों व नौजवानों के मुद्दे पर बोलते रहे हैं। टीईटी पेपर लीक मामले में खुलासा हुआ है कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी के सचिव संजय उपाध्याय और आरएसएम फिनसर्व लि. के निदेशक अनूप प्रसाद के बीच पुराने रिश्ते रहे हैं। बताया जा रहा है कि पूर्व में संजय की तैनाती नोएडा में भी रही है।

सूत्रों का कहना है कि जांच एजेंसी एसटीएफ को जानकारी मिली है कि प्रश्नपत्र छपने का काम देने से पहले नोएडा के पांच सितारा होटल में संजय और अनूप के बीच मीटिंग भी हुई थी। यह काम 13 करोड़ रुपये का था, लेकिन काम देने से पहले न तो परीक्षा का काम लेने वाली कंपनी का टर्न ओवर देखा गया और न ही उसका सेटअप देखा गया। वहीं एसटीएफ के सूत्रों ने बताया कि आरएसएम को छपाई का काम मिलने के बाद से ही प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी करने वाले कई गिरोह सक्रिय हो गए थे।
... और पढ़ें

मिशन 2022: शाह-योगी ने किया विश्वविद्यालय का शिलान्यास, सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज यानी गुरावार को सहारनपुर पहुंचे। इस दौरान शाह-योगी ने पुवांरका गांव में मां शाकंभरी देवी राजकीय विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इनके साथ उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे। वहीं पुलिस-प्रशासन और भाजपा नेताओं ने बुधवार को कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया था। इसके तहत सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। एसएसपी ने रूट डायवर्जन प्लान लागू करने के निर्देश दिए थे।

पुवांरका में मां शाकंभरी देवी राजकीय विश्वविद्यालय शिलान्यास केंद्रीय गृह मंत्री अमित, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री ने किया। इसके बाद उन्होंने जनसभा को संबोधित किया। कार्यक्रम स्थल पर दस लाख स्कवायर फिट में एक लाख लोगों की क्षमता का पंडाल बनाया गया। इसी हिसाब से उनके बैठने की व्यवस्था की गई। केंद्रीय एडीजी मेरठ जोन राजीव सभरवाल, मंडलायुक्त लोकेश एम, जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, एसएसपी आकाश तोमर, एडीएम (ई) डॉ. अर्चना द्विवेदी, एसपी सिटी राजेश कुमार व एसपी देहात अतुल शर्मा ने बुधवार को कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर तैयारियों को अंतिम रूप दिया। इसके साथ ही सभी खामियों को पूरा करने के निर्देश दिए। 

सुरक्षा समेत हेलीकॉप्टर उतारने का रिहर्सल
पुलिस ने सुरक्षा व हेलीकॉप्टर की लैंडिंग का रिहर्सल किया, लेकिन हेलीकॉप्टर को हेलीपैड पर नहीं उतरा। उसे 200 फिट की ऊंचाई तक हेलीपैड पर लाया गया। ऐसा हेलीपैड तैयार न होने की वजह से हुआ। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि सुरक्षा को लेकर ड्रोन कैमरों से नजर रखी जाएगी। सुरक्षा में नौ एसपी, 20 सीओ, 65 निरीक्षक, 330 सब इंस्पेक्टर, 50 हेडकांस्टेबल, 1550 कांस्टेबल, 258 अंडर ट्रेनिंग कांस्टेबल, आठ कंपनी पीएसी तैनात रहेंगे। वहीं, यातायात व्यवस्था के लिए 15 उपनिरीक्षक 76 कांस्टेबल तैनात रहेंगे। 

तीन हेलीपैड बनाए
मंच से करीब 200 मीटर दूर तीन हेलीपैड बनाए गए हैं, इनमें करीब 2.70 ईंटें लगी हैं। सड़क से 500 मीटर की दूरी पर मंच बनाया गया है। इसके साथ सभा स्थल से 400 मीटर दूर पार्किंग स्थल बनाया है। 
... और पढ़ें

ओमप्रकाश राजभर बोले:  योगी सरकार बस जीभ और जीप चलाती है, जब तक विदाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं

समाजवादी विजय रथ लेकर ललितपुर पहुंचे अखिलेश यादव के साथ ओमप्रकाश राजभर भी आए। इस दौरान राजभर ने कहा कि कहा कि इस चुनाव में पूर्वांचल की 163 में से 150 सीटें सपा(समाजवादी पार्टी) के खाते में आएंगी। सपा सरकार बनने पर 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी।

राजभर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो कहते थे कि हवाई चप्पल वालों को हवाई जहाज में बैठाएंगे, लेकिन अब हवाई जहाज और हवाई अड्डे तक बेच रहे हैं। रेलवे, एलआईसी बैंक भी बेच दी गई है।

यूपी सरकार और योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए राजभर ने कहा कि यह सरकार जीभ और जीप चलाने वाली सरकार है। आने वाले चुनाव में यूपी में खदेड़ा होना है, नारा देते हुए राजभर ने कहा कि जब तक भाजपा की विदाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।



 
... और पढ़ें

सतर्कता बढ़ाई गई: आतंकी इनपुट को लेकर अयोध्या में अलर्ट, पुलिस बल ने भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था को परखा

आतंकी इनपुट को लेकर रामनगरी अयोध्या में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। खुफिया विभाग की रिपोर्ट के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है। गुरुवार को एसएसपी शैलेश पांडेय के नेतृत्व में राम जन्मभूमि सहित पूरी अयोध्या में एटीएस सहित पुलिस बल ने भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था को परखा।

सबसे पहले राम जन्मभूमि की सुरक्षा व्यवस्था में लगे सुरक्षाकर्मियों को अलर्ट रहने की हिदायत दी गई। इसके बाद एटीएस की टीम ने हनुमानगढ़ी सहित रामकोट के क्षेत्र में पैदल भ्रमण कर लोगों को सुरक्षा के प्रति आश्वस्त कराया।

शहर के मुख्य मार्ग से लेकर नया घाट के सरयू तट तक पैदल भ्रमण कर सुरक्षा में लगे कर्मियों को सतर्क रहने की हिदायत दी गई है। क्षेत्राधिकारी आरके चतुर्वेदी ने बताया कि सोशल मीडिया के जरिए मिली आतंकी थ्रेट और छह दिसंबर को लेकर अयोध्या की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। प्रवेश मार्गों पर सतर्कता बढ़ा दी गई है।

उन्होंने आम जनमानस से भी अपील किया है कि किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या वस्तु की सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस को सूचित करें। तीन दिसंबर से अयोध्या में राम विवाह उत्सव भी शुरू हो रहा है। ऐसे में भारी भीड़ उमड़ने की संभावना को लेकर भी पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है।
... और पढ़ें

टीईटी पेपर लीक मामला: मास्टरमाइंड का साथी दबोचा, आरोपी गौरव कोर्ट में पेश, अब मुजफ्फरनगर पर एसटीएफ की पैनी नजर

उत्तर प्रदेश के शामली और बागपत जिले में टीईटी के पेपर की फोटो कॉपी बेचने वाले प्राइमरी शिक्षक निर्दोष चौधरी की घेराबंदी के लिए एसटीएफ ने अलीगढ़, मथुरा और कासगंज में जाल फैलाया है। बुधवार को अलीगढ़ से एसटीएफ ने निर्दोष चौधरी के एक साथी को पकड़ लिया। वहीं शामली में बुधवार को आरोपी गौरव को कोर्ट पेश किया गया। इसके अलावा एसटीएफ की मुजफ्फरनगर पर भी पैनी नजर है। क्योंकि पेपर लीक मामले के तार मुजफ्फरनगर जिले से भी जुड़ गए हैं। 

टीईटी प्रकरण में एसटीएफ शामली, बागपत, मथुरा, अलीगढ़ व कासगंज में दबिश देने में लगी हुई है। मंगलवार को एसटीएफ ने अलीगढ़ से गौरव को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में गौरव ने अलीगढ़ के ही निर्दोष चौधरी का नाम बताया, जोकि कासगंज में शिक्षक है। एसटीएफ की जांच में सामने आया कि निर्दोष ने ही शामली, बागपत में पेपर बेचा था। उसकी गिरफ्तारी के बाद ही जांच आगे बढ़ेगी कि आखिर उसके पास पेपर कहां से आया था। 

बुधवार को एसटीएफ ने निर्दोष चौधरी के दोस्त को अलीगढ़ से पकड़ लिया। उसे साथ लेकर टीम दबिश देने में लगी हुई है। सीओ एसटीएफ बृजेश सिंह का कहना है कि टीईटी का पेपर लीक कराने वाले गैंग का नेटवर्क कई जिलों में फैला हुआ है। शामली से मनीष उर्फ मोनू, बड़ौत से राहुल तोमर, अलीगढ़ से गौरव को मेरठ एसटीएफ गिरफ्तार कर चुकी है। अब निर्दोष निशाने पर है, उसे नामजद भी कर लिया है।

यह भी पढ़ें: 
UPTET Paper Leaked : शिक्षक पात्रता परीक्षा स्थगित, मायूस होकर लौटे अभ्यर्थी, तीन आरोपी दबोचे
... और पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00