विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

श्री कृष्ण जन्मस्थान प्रकरण: मुस्लिम पक्ष ने दो घंटे तक गिनाईं दावे में कमियां

सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री की ओर से श्री कृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन के लिए डाले जा रहे दावे की स्वीकारोक्ति संबंधी रिवीजन केस में जिला जज की अदालत में दो घंटे तक मुस्लिम पक्ष ने कमियां गिनाईं। अदालत ने बहस पूरी करने के लिए 11 नवंबर का समय दिया है। बहस के दौरान वादी और उनके अधिवक्ता मौजूद रहे।
दावा: मंदिर तोड़कर ही मस्जिद बनाई गई थी
श्री कृष्ण जन्मस्थान प्रकरण में दावा पेश करने वाली सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री के केस में शुक्रवार को जिला जज विवेक संगल की अदालत में सुनवाई चली। दावा किया था कि 54 साल पहले मस्जिद में नमाज पढ़ने का समझौता गलत था, वह पूरी जमीन श्रीकृष्ण जन्म स्थान की ही है। मंदिर तोड़कर ही मस्जिद बनाई गई थी। अदालत में करीब 2:20 बजे बहस शुरू हुई। यह 4 बजकर 10 मिनट तक चलती रही। इसमें सुन्नी वक्फ बोर्ड तथा शाही मस्जिद ईदगाह की ओर से सचिव अधिवक्ता तनवीर अहमद के अलावा अधिवक्ता जीपी निगम, नीरज शर्मा और अबरार हुसैन मौजूद रहे। अधिवक्ताओं ने अदालत में पेश किए गए दावे पर बहस करते हुए बताया कि प्रथम दृष्टया कोर्ट फीस कम लगाई गई है। कोर्ट फीस वर्तमान में कीमत के आधार पर होनी चाहिए।
वादीगण के नक्शे में बहुत सी कमियां हैं
वहीं, लिमिटेशन एक्ट पर बहस करते हुए मुस्लिम पक्ष ने प्रश्न किया कि 54 वर्ष तक वादी ने कोई दावा क्यों नहीं किया। इसके अलावा दावे के साथ साक्ष्य संबंधी बहस भी अदालत के समक्ष हुई। अदालत ने बहस के लिए अगली तारीख 11 नवंबर तय की है। शाही ईदगाह मस्जिद के सचिव तनवीर अहमद ने बताया कि वादीगण के नक्शे में बहुत सी कमियां हैं, जिनके चलते दावा स्वीकार करने योग्य नहीं है। सुनवाई के दौरान अदालत में दावे की वादी अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री, अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन, पंकज वर्मा आदि मौजूद रहे।

महेंद्र प्रताप, मनीष यादव पक्ष की सुनवाई 19 को
स्वीकार हो चुके अधिवक्ता महेंद्र प्रताप और नारायणी सेना के अध्यक्ष मनीष यादव व अन्य के केस की सुनवाई 19 नवंबर को होगी। वादी महेंद्र प्रताप ने बताया कि उनके केस में अदालत महत्वपूर्ण निर्णय दे सकती है।

तस्करी: गांजा की बड़ी खेप पुलिस ने पकड़ी, तीन तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से जुड़े हैं तार
... और पढ़ें
श्री कृष्ण जन्मस्थान श्री कृष्ण जन्मस्थान

बांकेबिहारी मंदिर में दीपदान: 1008 दीपों से जगमग हुआ ठाकुरजी का आंगन, 104 वर्ष पुरानी है परंपरा

कार्तिक मास में वृंदावन के ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में दीपदान की अनोखी परंपरा चली आ रही है। इसी के तहत दीपदान महोत्सव में शामिल होकर श्रद्धालु भी पुण्य लाभ अर्जित कर रहे हैं। मंदिर में प्रतिदिन शाम को तेल के 1008 दीपक जलाए जा रहे हैं। शुक्रवार शाम को भी श्रद्धालुओं ने आस्था के दीपक जलाए, जिससे ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर परिसर दीपों की रोशनी से जगमग हो उठा। मंदिर में बिखरती अद्भुत आभा के बीच श्रद्धालु अपने आराध्य की भक्ति में लीन नजर आए। 

कार्तिक मास के पहले दिन से कार्तिक पूर्णिमा तक ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर परिसर के गेट नंबर दो के पास चबूतरे पर प्रतिदिन शाम को दीपदान किया जाता है। मंदिर के शयन भोग सेवाधिकारी गोस्वामी मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के साथ दीपदान करा रहे हैं।  
... और पढ़ें

मथुरा: घर के सामने महिला के गले से चेन तोड़कर फरार हुए बाइक सवार, सीसीटीवी में कैद वारदात

मथुरा में पुलिस चौकी कृष्णानगर के जन्मभूमि लिंक रोड पर रामनगर कॉलोनी में पल्सर सवार महिला के गले से चेन तोड़ ले गए। शुक्रवार देरशाम हुई कॉलोनी में वारदात से हड़कंप मच गया। पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। सूचना पर काफी देर बाद पुलिस पहुंची, जब तक चेन स्नेचर भाग गए थे। 

शुक्रवार की देरशाम करीब सवा आठ बजे रामनगर कॉलोनी निवासी रत्ना गौतम सब्जी लेकर अपने घर पहुंची। घर के बाहर बिना नंबर के पल्सर सवार बाइक पर दो युवकों को खड़ा देखा तो टोक दिया। बिना नंबर की बाइक सवारों ने टोकने के बाद ही महिला के गले पर झपट्टा मारकर सोने की चेन तोड़ी और फरार हो गए। 

सूचना के काफी देर बाद कृष्णानगर पुलिस पहुंची, जब तक चेन स्नेचर इलाके से भाग चुके थे। कोतवाल सूरज प्रकाश शर्मा ने बताया कि तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। सीसीटीवी में पूरी वारदात कैद हुई है। बदमाशों का हुलिया का पहचान करके वारदात का खुलासा किया जाएगा। 
... और पढ़ें

इस गांव पर सती का 'श्राप': पति की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ पर व्रत नहीं रखतीं हैं सुहागिनें

देश-विदेश में हिंदू महिलाएं अपने पतियों की दीर्घायु के लिए 24 अक्तूबर को करवा चौथ का व्रत रखेंगी। इस व्रत को लेकर नवविवाहिताओं में खासा उत्साह है। बाजार में खरीदारी के लिए रौनक बढ़ गई है। गांव-गांव फेरी लगाने वाले श्रृंगार का सामान बेच रहे हैं। दूसरी ओर मथुरा की मांट तहसील के कस्बा सुरीर के बघा मोहल्ला में कोई रौनक नहीं है। यहां महिलाएं सती के श्राप के डर से करवा चौथ का व्रत नहीं रखती हैं। 

राम नगला के ब्राह्मण पानी तक नहीं पीते सुरीर का

सुरीर के मोहल्ला बघा में सती की पूजा अब देवी की तरह होती है। यहां विवाह व त्योहारों पर सती की पूजा की जाती है। गांव राम नगला ( नौहझील) में ब्राह्मण समाज के लोग आज भी सुरीर का पानी पीने से परहेज करते हैं। इस परंपरा को पीढ़ी दर पीढ़ी लोग निभाते आ रहे हैं। 
... और पढ़ें

श्रीकृष्ण जन्मस्थान: मथुरा के प्रतिबंधित क्षेत्र में बिक रही शराब-बीयर और भांग, बंद नहीं हुईं दुकानें

सुरीर के बघा मोहल्ले में सती का मंदिर
मथुरा में श्रीकृष्ण की जन्मस्थली को तीर्थस्थल घोषित तो किया गया, लेकिन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी श्रीकृष्ण जन्मस्थान के आसपास शराब, बीयर और भांग की दुकानें अब तक बंद नहीं हुई हैं। इनके बंद होने की संभावना भी कम ही है। क्योंकि सरकार ने इसके लिए अधिसूचना जारी नहीं की है। चालू वित्तीय वर्ष में अगर यह दुकानें बंद होती हैं तो सरकार को लगभग 45 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 10 वर्ग किमी की परिधि में शराब, बीयर और मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा के बाद मांस की दुकानें तो बंद करा दी गईं। लेकिन शराब, बीयर और भांग की दुकानें अभी भी चालू हैं। बताया जा रहा है कि लाइसेंस जारी है, उसकी फीस दुकानें बंद कराने की स्थिति में सरकार को वापस देनी होगी। 

मुख्यमंत्री को आने वाले सत्र में इन दुकानों का नवीनीकरण की घोषणा की जानी थी, क्योंकि इस तरह से दुकानें बंद कराए जाने की स्थिति में लाइसेंस धारक न्यायालय में सरकार के खिलाफ जा सकते हैं। यही कारण है कि अब इस मामले में शासन और प्रशासन ने ढील दे दी है। 
... और पढ़ें

आगरा 43 लाख रुपये लूट का मामला: चालक ने रेकी कर जीएसटी अधिकारियों से कराई थी लूट, दो गिरफ्तार

आगरा में मथुरा के चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल से 43 लाख रुपये की लूट चालक राकेश सिंह चौहान ने करवाई थी। चालक जीएसटी अधिकारियों के दलाल मुकेश का दोस्त है। वो उसे पल-पल की जानकारी दे रहा था। कितना कैश है और कहां रुकेंगे, इस सबकी जानकारी दी थी। पुलिस ने चालक और मुकेश के साथी गया प्रसाद को गिरफ्तार कर मेरठ कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।

मथुरा के गोविंद नगर निवासी चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल 30 अप्रैल को बिहार से लौट रहे थे। फतेहाबाद स्थित एक्सप्रेसवे के टोल पर जीएसटी अधिकारियों ने प्रदीप की कार को रोक लिया था। आरोप है कि जयपुर हाउस स्थित कार्यालय में लाकर 43 लाख रुपये लूट लिए थे। 

संबंधित खबर...
आगरा में 43 लाख की लूट का मामला: जीएसटी के निलंबित अधिकारी का मेरठ कोर्ट में समर्पण, जेल भेजा

कारोबारी के साथ मथुरा निवासी चालक राकेश चौहान भी था। 12 मई को थाना लोहामंडी में मुकदमा दर्ज हुआ। असिस्टेंट कमिश्नर अजय कुमार, जीएसटी अधिकारी शैलेंद्र कुमार, सिपाही संजीव, निजी गाड़ी चालक दिनेश और दलाल मुकेश को जेल भेजा गया था।
... और पढ़ें

वृंदावन: लो आ गई ठंड...आज से बदला ठाकुर श्रीबांकेबिहारी का खानपान, जानिए क्या होगा खास

शरद पूर्णिमा के साथ ही ठाकुर बांकेबिहारी महाराज के खानपान और रहन सहन में भी बदलाव आ गया। कहते हैं कि शरद पूर्णिमा से सर्दी का आगमन भी हो जाता है। इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए ठाकुरजी की सेवा में भी बदलाव हो गया है। गुरुवार को पड़वा से ठाकुर श्रीबांकेबिहारी महाराज के मंदिर में भोग सेवा में मौसम के अनुरूप परिवर्तन हो गया है। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत आचार्य प्रह्लाद बल्लभ गोस्वामी ने बताया कि ठाकुरजी को अब हल्की रेशमी पोशाकों के स्थान पर वेलवेट, सनील, ऊनी कपड़े की पोशाकें धारण कराई गईं हैं। ठाकुरजी को सर्दी न लगे, इसके लिए रजत जड़ित शयन शैया पर पशमीने की चादर, शेमल की रुई वाली रजाई, तकिये बिछाए जाते हैं और चांदी की सिगड़ी में अग्नि सुलगाकर गर्भगृह को गर्म रखा जाता है।
... और पढ़ें

सौ करोड़ टीकाकरण का उत्सव: वृंदावन के दो प्राचीन मंदिर हुए 'तिरंगामय', आगरा के स्मारक भी जगमगाए

देश में कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान के तहत 100 करोड़ टीका लगने का लक्ष्य गुरुवार को पूरा कर लिया गया। इस अवसर पर कोरोना योद्धाओं के सम्मान में प्राचीन मंदिरों और स्मारकों पर तिरंगामय लाइट की अद्भुत छटा बिखरी। शाम होते ही मथुरा के वृंदावन के प्राचीन गोविंद देव मंदिर और मदन मोहन मंदिर तिरंगामय रोशनी से जगमगा उठे। ब्रज के दोनों प्राचीन मंदिरों की अद्भुत छटा देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। हर कोई मंत्रमुग्ध नजर आया। 

इधर, आगरा के चार स्मारकों पर यह सजावट की गई है। यहां आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, एत्माद्दौला और सिकंदरा स्मारक को तिरंगे के रंग में रोशन किया गया है। ताजमहल सुरक्षा कारण से इस महोत्सव में शामिल नहीं किया गया है। 
... और पढ़ें

ऐसे मना 100 करोड़ टीकाकरण का उत्सव: तिरंगा रोशनी से जगमगाए ब्रज के प्राचीन मंदिर और स्मारक

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00