विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

करवा चौथ: पति की लंबी उम्र हो, यूपी के इस गांव में इसलिए करवाचौथ पर व्रत नहीं रखतीं सुहागिनें

देश-विदेश में हिंदू महिलाएं अपने पतियों की दीर्घायु के लिए 24 अक्तूबर को करवा चौथ का व्रत रखेंगी। इस व्रत को लेकर नवविवाहिताओं में खासा उत्साह है। बाजार में खरीदारी के लिए रौनक बढ़ गई है। गांव-गांव फेरी लगाने वाले श्रृंगार का सामान बेच रहे हैं। दूसरी ओर मांट तहसील के कस्बा सुरीर के बघा मोहल्ला में कोई रौनक नहीं है। यहां महिलाएं सती के श्राप के डर से करवा चौथ का व्रत नहीं रखती हैं। 
राम नगला के ब्राह्मण पानी तक नहीं पीते सुरीर का
सुरीर के मोहल्ला बघा में सती की पूजा अब देवी की तरह होती है। यहां विवाह व त्योहारों पर सती की पूजा की जाती है। गांव राम नगला ( नौहझील) में ब्राह्मण समाज के लोग आज भी सुरीर का पानी पीने से परहेज करते हैं। इस परंपरा को पीढ़ी दर पीढ़ी लोग निभाते आ रहे हैं। 
... और पढ़ें
सुरीर के बघा मोहल्ले में सती का मंदिर सुरीर के बघा मोहल्ले में सती का मंदिर

श्रीकृष्ण जन्मस्थान: मथुरा के प्रतिबंधित क्षेत्र में बिक रही शराब-बीयर और भांग, बंद नहीं हुईं दुकानें

मथुरा में श्रीकृष्ण की जन्मस्थली को तीर्थस्थल घोषित तो किया गया, लेकिन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी श्रीकृष्ण जन्मस्थान के आसपास शराब, बीयर और भांग की दुकानें अब तक बंद नहीं हुई हैं। इनके बंद होने की संभावना भी कम ही है। क्योंकि सरकार ने इसके लिए अधिसूचना जारी नहीं की है। चालू वित्तीय वर्ष में अगर यह दुकानें बंद होती हैं तो सरकार को लगभग 45 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 10 वर्ग किमी की परिधि में शराब, बीयर और मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा के बाद मांस की दुकानें तो बंद करा दी गईं। लेकिन शराब, बीयर और भांग की दुकानें अभी भी चालू हैं। बताया जा रहा है कि लाइसेंस जारी है, उसकी फीस दुकानें बंद कराने की स्थिति में सरकार को वापस देनी होगी। 

मुख्यमंत्री को आने वाले सत्र में इन दुकानों का नवीनीकरण की घोषणा की जानी थी, क्योंकि इस तरह से दुकानें बंद कराए जाने की स्थिति में लाइसेंस धारक न्यायालय में सरकार के खिलाफ जा सकते हैं। यही कारण है कि अब इस मामले में शासन और प्रशासन ने ढील दे दी है। 
... और पढ़ें

सौ करोड़ टीकाकरण का उत्सव: वृंदावन के दो प्राचीन मंदिर हुए 'तिरंगामय', आगरा के स्मारक भी जगमगाए

देश में कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान के तहत 100 करोड़ टीका लगने का लक्ष्य गुरुवार को पूरा कर लिया गया। इस अवसर पर कोरोना योद्धाओं के सम्मान में प्राचीन मंदिरों और स्मारकों पर तिरंगामय लाइट की अद्भुत छटा बिखरी। शाम होते ही मथुरा के वृंदावन के प्राचीन गोविंद देव मंदिर और मदन मोहन मंदिर तिरंगामय रोशनी से जगमगा उठे। ब्रज के दोनों प्राचीन मंदिरों की अद्भुत छटा देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। हर कोई मंत्रमुग्ध नजर आया। 

इधर, आगरा के चार स्मारकों पर यह सजावट की गई है। यहां आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, एत्माद्दौला और सिकंदरा स्मारक को तिरंगे के रंग में रोशन किया गया है। ताजमहल सुरक्षा कारण से इस महोत्सव में शामिल नहीं किया गया है। 
... और पढ़ें

वृंदावन: लो आ गई ठंड...आज से बदला ठाकुर श्रीबांकेबिहारी का खानपान, जानिए क्या होगा खास

शरद पूर्णिमा के साथ ही ठाकुर बांकेबिहारी महाराज के खानपान और रहन सहन में भी बदलाव आ गया। कहते हैं कि शरद पूर्णिमा से सर्दी का आगमन भी हो जाता है। इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए ठाकुरजी की सेवा में भी बदलाव हो गया है। गुरुवार को पड़वा से ठाकुर श्रीबांकेबिहारी महाराज के मंदिर में भोग सेवा में मौसम के अनुरूप परिवर्तन हो गया है। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत आचार्य प्रह्लाद बल्लभ गोस्वामी ने बताया कि ठाकुरजी को अब हल्की रेशमी पोशाकों के स्थान पर वेलवेट, सनील, ऊनी कपड़े की पोशाकें धारण कराई गईं हैं। ठाकुरजी को सर्दी न लगे, इसके लिए रजत जड़ित शयन शैया पर पशमीने की चादर, शेमल की रुई वाली रजाई, तकिये बिछाए जाते हैं और चांदी की सिगड़ी में अग्नि सुलगाकर गर्भगृह को गर्म रखा जाता है।
... और पढ़ें

ऐसे मना 100 करोड़ टीकाकरण का उत्सव: तिरंगा रोशनी से जगमगाए ब्रज के प्राचीन मंदिर और स्मारक

ठाकुर बांकेबिहारी महाराज

संकरी गलियों में डोर टू डोर हैंडकार्ट से होगा कूड़ा कलेक्शन

तेंदुआ की हत्या में तीन नामजद और चार अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00