विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

राज्यपाल ने सराहा: लॉकडाउन में जन्मा बाल लेखक, महज 11 साल की उम्र में लिख डाली ‘वन एंड हॉफ ईयर’

जब हम सच्चाई या फिर कल्पना के करीब होते हैं, तब जन्म लेते हैं शब्द। डर-दहशत, खुशी-हंसी, प्रेम-नफरत जैसी संवेदनाएं जब हमें झकझोरती हैं तो सृजन या विध्व...

18 अक्टूबर 2021

Digital Edition

UP Election 2022: सपा-सुभासपा का गठबंधन तय, राजभर बोले- भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए साथ आए

ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी में गठबंधन हो गया है। इसका एलान सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने प्रेस कांफ्रेंस कर किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता परेशान है। हमारी अखिलेश यादव के साथ सहमति बन गई है। लोग भाजपा से परेशान हैं। हम उन्हें सत्ता से हटाने के लिए साथ आए हैं।

बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं में 14 सीटों पर सहमति बनी है। राजभर ने बुधवार को अखिलेश यादव से मुलाकात की। इसके पहले राजभर के भाजपा से गठबंधन करने के कयास लगाए जा रहे थे।

सपा ने ट्वीट कर इसकी घोषणा कर दी है। ट्वीट में कहा गया है कि वंचितों, शोषितों, पिछड़ों, दलितों, महिलाओं, किसानों, नौजवानों, हर कमजोर वर्ग की लड़ाई समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मिलकर लड़ेंगे। सपा और सुभासपा आए साथ, यूपी में भाजपा साफ!

अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद राजभर ने बयान दिया कि आज अखिलेश यादव से मुलाकात हुई। हमने गठबंधन के लिए सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा को निमंत्रण दिया था। अखिलेश यादव ने हमारे न्योते को स्वीकार किया। हमारी उनसे एक घंटे बात हुई। 27 तारीख को महापंचायत रखी गई है जिसमें वंचित, दलित और अल्पसंख्यक वर्ग के लोग शामिल होंगे। सीटों के लिए 27 के बाद बैठ कर बात कर लेंगे। उन्होंने कहा कि सपा एक सीट भी नहीं देगी तो भी हम उनके साथ रहेंगे।

राजभर ने कहा कि इस समय प्रदेश में भाजपा नफरत की राजनीति कर रही है। व्यापारी और नौजवान सभी परेशान हैं। उन्होंने ये भी कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा में सीटों का विवाद नहीं है।


 
... और पढ़ें
ओम प्रकाश राजभर व अखिलेश यादव। ओम प्रकाश राजभर व अखिलेश यादव।

बड़ी खबर: यूपी में रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू भी समाप्त, करना होगा प्रोटोकॉल का पालन

उत्तर प्रदेश शासन ने पूरे प्रदेश में कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन की शर्त के अधीन वर्तमान में लागू रात्रि कालीन कोरोना कर्फ्यू (रात्रि 11 बजे से प्रातः 6 बजे तक) समाप्त करने का निर्णय लिया है।

यह निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद लिया गया है। अपर मुख्य सचिव, गृह, अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।

अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में संक्रमण तेजी से कम हो रहा है लेकिन यह अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए यह समय सतर्कता एवं सावधानी बरतने का है।

अवस्थी ने कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को बनाये रखे जाने व कोविड नियमों के तहत सभी पर्व एवं त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराएं जाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए हैं।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में मंगलवार को एक दिन में कुल 1,55,731 सैम्पल की जांच की गई है। जिसमें कोरोना संक्रमण के 11 नये मामले आये हैं। प्रदेश में कल तक कुल 8,18,05,693 सैम्पल की जांच की गयी है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 17 तथा अब तक कुल 16,87,048 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 112 एक्टिव मामले है।

उन्होंने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 7,58,386 लोगों को वैक्सीन की डोज दी गयी। प्रदेश में कल तक पहली डोज 9,35,95,314 तथा दूसरी डोज 2,72,88,718 लगायी गयी हैं। कल तक कुल 12 करोड़ 8 लाख ,84032 कोविड डोज दी गयी है।

... और पढ़ें

Top news of UP: सपा-सुभासपा मिलकर लड़ेंगे यूपी चुनाव, प्रदेश को रात्रिकालीन कर्फ्यू से मिली मुक्ति

समाजवादी पार्टी ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के साथ गठबंधन की घोषणा कर दी है। सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि सपा हमें एक भी सीट न दे तो भी उनके साथ ही चुनाव लड़ेंगे। वहीं, प्रदेश सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू खत्म कर दिया है। यहां पढ़ें सभी प्रमुख खबरें

UP Election 2022: सपा-सुभासपा का गठबंधन तय, राजभर बोले- भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए साथ आए
ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी में गठबंधन हो गया है। इसका एलान सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने प्रेस कांफ्रेंस कर किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता परेशान है। हमारी अखिलेश यादव के साथ सहमति बन गई है। लोग भाजपा से परेशान हैं। हम उन्हें सत्ता से हटाने के लिए साथ आए हैं।
पढ़ें पूरी खबर 

बड़ी खबर: यूपी में रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू भी समाप्त पर प्रोटोकाल का करना होगा पालन
उत्तर प्रदेश शासन ने पूरे प्रदेश में कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन की शर्त के अधीन वर्तमान में लागू रात्रि कालीन कोरोना कर्फ्यू (रात्रि 11 बजे से प्रातः 6 बजे तक) समाप्त करने का निर्णय लिया है। पढ़ें पूरी खबर

पुलिस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया, अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मिलने जा रही थीं आगरा
आगरा जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को आगरा एक्सप्रेस वे के एंट्री पॉइंट पर रोक लिया गया। प्रियंका आगरा जाने के लिए अड़ी हैं। वह वहां पुलिस कस्टडी में मारे गए व्यक्ति के परिजनों से मिलने जा रही हैं। पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है और पुलिस लाइन लेकर जा रही है। पढ़ें पूरी खबर

मोदी के इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्धाटन करने पर अखिलेश बोले- इन लोगों ने एक ईंट तक नहीं लगाई
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन पर ट्वीट कर कहा कि भाजपाइयों ने इस एयरपोर्ट की एक ईंट तक नहीं लगाई और अब सपा के कामों का उद्घाटन करने के लिए कैंची, फीता, माला और मिठाई लेकर आ गए हैं। पढ़ें पूरी खबर

इकाना स्टेडियम: अगले महीने से लखनऊ में फटाफट क्रिकेट की बहार, 30 मैच खेले जाएंगे
टेस्ट और वनडे मुकाबलों के इतर लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में टी-20 मुकाबलों की बहार होगी। आईपीएल-15 में दो फ्रेंचाइची टीमों के बढ़ाए जाने पर मुकाबलों के आयोजन को लेकर स्टेडियम लगातार सुर्खियों में बना हुआ है। इन अटकलों के बीच इकाना स्टेडियम में आने वाले तीन-चार माह काफी व्यस्त रहने वाले है। पढ़ें पूरी खबर ... और पढ़ें

यूपी: मोदी के इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्धाटन करने पर अखिलेश बोले- इन लोगों ने एक ईंट तक नहीं लगाई

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन पर ट्वीट कर कहा कि भाजपाइयों ने इस एयरपोर्ट की एक ईंट तक नहीं लगाई और अब सपा के कामों का उद्घाटन करने के लिए कैंची, फीता, माला और मिठाई लेकर आ गए हैं।

अखिलेश ने ट्वीट किया कि जबकि शिलान्यास की एक ईंट तक भी इन्होंने न लगाई… तब भी सपा के कामों का उद्घाटन करने आ गये भाजपाई… लेकर अपनी कैंची, फ़ीता, माला, मिठाई।

भाजपाई ये याद रखें कि ‘पायलट बनने से प्लेन आपका नहीं हो जाता’ और ये भी कि जिस रनवे से आप उड़ान भर रहे हैं उसकी ज़मीन ‘किसी और’ ने तैयार की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। यह यूपी का तीसरा व सबसे लंबे रनवे वाला एयरपोर्ट है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कुशीनगर एयरपोर्ट बनने से किसानों, दुकानदारों, उद्यमियों को लाभ मिलेगा।

पीएम मोदी ने कहा कि उड़ान योजना के तहत बीते कुछ वर्षों में 900 से ज्यादा एयर रूट्स की स्वीकृति दी जा चुकी है और इनमें से 350 पर सेवाएं शुरू भी हो चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि भगवान बुद्घ से जुड़े स्थानों का विकास सरकार की प्राथमिकताओं में है। इसके लिए बेहतर कनेक्टिविटी और श्रद्घालुओं के लिए सुविधाओं को बेहतर बनाने पर ध्यान दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

यूपी: एटीएस के हत्थे चढ़ा असलहा तस्कर, प्रतिबंधित कारतूस के साथ बरामद हुई पिस्टल

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव।

इकाना स्टेडियम: अगले महीने से लखनऊ में फटाफट क्रिकेट की बहार, 30 मैच खेले जाएंगे

टेस्ट और वनडे मुकाबलों के इतर लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में टी-20 मुकाबलों की बहार होगी। आईपीएल-15 में दो फ्रेंचाइची टीमों के बढ़ाए जाने पर मुकाबलों के आयोजन को लेकर स्टेडियम लगातार सुर्खियों में बना हुआ है। इन अटकलों के बीच इकाना स्टेडियम में आने वाले तीन-चार माह काफी व्यस्त रहने वाले है।

यहां चार नवंबर से शुरू होने वाली सैयद मुश्ताक अली टी-20 के 15 मुकाबलों के अलावा अगले साल मार्च माह में सीनियर वीमेंस टी-20 ट्रॉफी के 15 मैचों का आयोजन निर्धारित हुआ है। जहां तक इंटरनेशनल मैच का सवाल है तो यहां 18 मार्च को भारत और श्रीलंका की टीमों के बीच टी-20 मैच होना सुनिश्चित हो चुका है। इन दिनों स्टेडियम को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए तैयार किया जा रहा है, जिसके लिए टीमें 27 अक्तूबर को लखनऊ पहुंच जाएगी।

जल्द खुलेगी क्रिकेट अकादमी
इकाना स्पोर्ट्स सिटी के मैनेजिंग डायरेक्टर उदय सिन्हा का कहना है कि हम किसी भी बड़े आयोजन के लिए तैयार है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के ठीक बाद स्टेडियम प्रांगण में क्रिकेट अकादमी खोलने का निर्णय हो चुका है। इसके लिए भारत के तीन से चार इंटरनेशनल क्रिकेटरों से बात चल रही है। अकादमी में 500 चुनिंदा खिलाड़ियों को चयनित किया जाएगा। इसमें ढाई सौ खिलाड़ी बोर्डिंग और ढाई सौ खिलाड़ी डे-बोर्डिंग स्कीम के लिए चयनित किए जाएंगे।
... और पढ़ें

कोयले की कमी: यूपी अपने प्लांट बंद कर महंगी बिजली खरीदने को मजबूर, जल्द हालात सुधरने के आसार नहीं

बारिश के कारण पारा लुढ़कने से उत्तर प्रदेश में बिजली की मांग घटकर 15,000 मेगावाट से नीचे पहुंच गई है, लेकिन कोयले की कमी की वजह से राज्य विद्युत उत्पादन निगम की 325 मेगावाट क्षमता की इकाइयों को बंद करना पड़ा है। वहीं, 1292 मेगावाट क्षमता की इकाइयों को रिजर्व शटडाउन (बिजली की आवश्यकता न होने पर बंद किया जाना) में रखा गया है। ऐसे में बिजली का इंतजाम करना पावर कॉर्पोरेशन के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है। वहीं, कोयला संकट बरकरार रहने से जल्द हालात सुधरने के आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं।

उत्पादन निगम के सूत्रों का कहना है कि रिजर्व शटडाउट तो महज बहाना है। कोयले की कमी की वजह से इकाइयां बंद करनी पड़ी हैं। पर, सवाल यह भी उठाया जा रहा है कि सस्ती बिजली देने वाली प्रदेश की तापीय इकाइयों को रिजर्व शटडाउन के नाम पर बंद करके एनर्जी एक्सचेंज से दो-तीन गुना महंगी बिजली खरीदने का क्या औचित्य है?गौरतलब है कि शिड्यूल के अनुसार आपूर्ति करने के लिए सोमवार को लगभग 1.40 करोड़ यूनिट बिजली एक्सचेंज से खरीदी गई थी।

स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर (एसएलडीसी) के अधिकारियों के अनुसार निजी क्षेत्र की 1855 मेगावाट क्षमता की इकाइयां कोयले की कमी से बंद हैं। जबकि 80 मेगावाट की इकाइयां रिजर्व शटडाउन में हैं। इसी तरह एनटीपीसी की 390 मेगावाट क्षमता की इकाइयां कोयले की कमी के कारण बंद हैं जबकि 200 मेगावाट क्षमता की इकाइयां रिजर्व शटडाउन में हैं।

अधिकारियों का कहना है कि राज्य विद्युत उत्पादन निगम के हरदुआगंज व पारीछा बिजलीघर में कोयला नहीं है। जबकि अनपरा व ओबरा में दो-तीन दिन का स्टॉक ही बचा है। एनटीपीसी व निजी क्षेत्र के बिजलीघरों में भी कोयले का पर्याप्त स्टॉक नहीं है।
... और पढ़ें

तेजी से बढ़ रहे दिल के मरीज: युवा हृदय रोगियों की संख्या बढ़ी, बेरोजगारी व आर्थिक तंगी भी एक वजह

दिल के मरीजों के लिए यूं तो सर्दी का मौसम मुश्किल वक्त माना जाता है। क्योंकि इस मौसम में आमतौर पर मरीजों की संख्या बढ़ जाती है, लेकिन इस बार ठंड आने से दो माह पहले ही राजधानी के अस्पतालों में दिल के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। पिछले माह के मुकाबले करीब 40 फीसदी ज्यादा मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। खास ये कि इसमें बुजुर्गों के साथ ही 30 से 35 साल के युवाओं की संख्या भी करीब 30 फीसदी के आसपास है। यह कोरोना का असर है, यह तो स्पष्ट नहीं है, लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि कोविड के दौरान इलाज बाधित रहना, इलाज में लापरवाही, बिगड़ी दिनचर्या, कोविड में अपनों को खोने या बेरोजगारी की टेंशन इसकी वजह हो सकती है।

लखनऊ में दिल के रोगियों के इलाज का सबसे बड़ा केंद्र केजीएमयू ही है। कोविड की पहली और दूसरी लहर के दौरान यहां भले ही सामान्य ओपीडी बंद कर दी गई थी, लेकिन इमरजेंसी सेवाएं जारी रहीं। केजीएमयू में एक माह पहले 300 से 400 मरीज दिल से जुड़ी शिकायत लेकर पहुंच रहे थे, लेकिन इस समय यह संख्या 500 के पार पहुंच रही है। हालांकि, यहां अभी सीमित संख्या में 200 मरीज ही ओपीडी में देखे जा रहे हैं। इससे बाकी मरीजों के लिए मुश्किल हो रही है।
... और पढ़ें

सुसाइड नोट में बयां किया दर्द: महिला बॉस से पत्नी की नजदीकी, साथ रहने की जिद से आहत पति फंदे पर झूला

पत्नी की अपनी महिला बॉस से नजदीकी थी। इसके बाद महिला बॉस संग ही रहने की जिद करने लगी। इससे आहत पति ने सोमवार देर रात फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसने पुलिस कमिश्नर, एसीपी गोमतीनगर व इंस्पेक्टर गोमतीनगर के नाम तीन सुसाइड नोट लिखकर अपना दर्द बयां किया। 

पुलिस ने पत्नी व उसकी महिला बॉस के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर तीनों सुसाइड नोट कब्जे में लेकर छानबीन शुरू की है। गोमतीनगर के विरामखंड निवासी कृष्णकुमार अग्रवाल का पुत्र निखिल (40) घर में ही परचून की दुकान चलता था। कृष्णकुमार के मुताबिक, निखिल की शादी वर्ष 2012 में गौतमपल्ली थाना क्षेत्र के मार्टिनपुरवा की रहने वाली अंजू गुप्ता से हुई थी। 

दोनों के सात साल की एक बेटी है। कृष्णकुमार के मुताबिक, कुछ समय पहले अंजू एक समाज सेविका के साथ काम करने लगी थी। इसके बाद उसका निखिल से लगाव खत्म हो गया था। फिर वह निखिल के संग न रहने की बात कहने लगी। इसके बाद वह महिला बॉस के साथ रहने की जिद करने लगी। 

कृष्ण कुमार ने बताया कि शनिवार को अंजू बार-बार अपनी महिला बॉस के पास जाकर रहने की बात कह रही थी। इसे लेकर निखिल का उससे विवाद हुआ था। निखिल ने पुलिस कंट्रोल रूम फोन किया। पुलिसकर्मी आए और निखिल व अंजू को समझाकर चले गए। मगर रविवार को अंजू फिर उसी जिद पर अड़ गई। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00