विज्ञापन
विज्ञापन
शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021
Myjyotish

शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

राज्यपाल ने सराहा: लॉकडाउन में जन्मा बाल लेखक, महज 11 साल की उम्र में लिख डाली ‘वन एंड हॉफ ईयर’

जब हम सच्चाई या फिर कल्पना के करीब होते हैं, तब जन्म लेते हैं शब्द। डर-दहशत, खुशी-हंसी, प्रेम-नफरत जैसी संवेदनाएं जब हमें झकझोरती हैं तो सृजन या विध्व...

25 सितंबर 2021

Digital Edition

विधानसभा उपाध्यक्ष चुनाव : नामांकन आज, गुप्त मतदान से चुनाव का किया गया प्रावधान

विधानसभा उपाध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध हो पाने के आसार कम नजर आ रहे हैं। सपा ने सीतापुर के महमूदाबाद से विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा को उम्मीदवार घोषित कर दिया है। वहीं, भाजपा से इस पद के लिए सपा के बागी नितिन अग्रवाल का नाम चर्चा में है। ऐसे में उपाध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना लगभग तय है। 17वीं विधानसभा के उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन रविवार को दोपहर 11 से एक बजे के बीच होगा। इस संबंध में विस प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे ने आदेश जारी कर दिया है। चुनाव 18 अक्तूबर को होगा।

विधानसभा में उपाध्यक्ष आमतौर पर विपक्ष का रहता है। लेकिन, भाजपा ने नितिन अग्रवाल को उतारने की तैयारी की तो सपा ने भी संख्या बल कम होने के बावजूद नरेंद्र को उम्मीदवार बना दिया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार दोपहर दो बजे पार्टी के सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। इसमें विस उपाध्यक्ष चुनाव को लेकर रणनीति तैयार की जाएगी। 

विधानसभा उपाध्यक्ष का चुनाव गुप्त मतदान से किए जाने का प्रावधान है। उत्तर प्रदेश विधानसभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली के अनुसार, नियत तिथि के पूर्व दिन के मध्यान्ह से पहले किसी समय कोई सदस्य निर्वाचन के लिए दूसरे सदस्य का नाम-निर्देशन पत्र प्रमुख सचिव को देगा, जिस पर प्रस्तावक के रूप में उस सदस्य के हस्ताक्षर होंगे। साथ ही समर्थक के रूप में किसी तीसरे सदस्य के हस्ताक्षर होंगे। 

उपाध्यक्ष पद केलिए जिसका नाम प्रस्तावित किया गया होगा, वह सदस्य भी लिखकर देगा कि निर्वाचित होने पर वह उपाध्यक्ष के रूप में कार्य करने के लिए तैयार है। निर्वाचन के पूर्व किसी भी समय कोई भी अभ्यर्थी मौखिक या लिखित रूप से सूचना देकर अपना नाम वापस ले सकेगा। उपाध्यक्ष पद केलिए एक से अधिक सदस्य का नामांकन होने पर प्रत्येक सदस्य पर मतदान शलाका (गुप्त मतदान या बैलट) के माध्यम से किया जाएगा। 
... और पढ़ें
यूपी विधानसभा यूपी विधानसभा

यूपी : 25 अक्तूबर को होगा सात मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण, सिद्धार्थनगर से प्रधानमंत्री करेंगे लोकार्पण

लखनऊ। प्रदेश के नवनिर्मित सात मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण 25 अक्तूबर को होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिद्धार्थ नगर पहुंचेंगे। वह वहां के नवनिर्मित माधव प्रसाद त्रिपाठी राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल का लोकार्पण करेंगे। यहीं से छह अन्य मेडिकल कॉलेजों का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे।

भगवान बुद्ध की धरती सिद्धार्थ नगर में आ रहे प्रधानमंत्री के स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मौका मुआयना करने के बाद अधिकारियों को हर स्तर पर तैयार रहने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेशवासियों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए हर स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। राज्य के हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज खोला जा रहा है।

इसी के तहत सिद्धार्थनगर के नवनिर्मित माधव प्रसाद त्रिपाठी राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इस मेडिकल कॉलेज का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत हुआ है। इसी तरह देवरिया, एटा, हरदोई, गाजीपुर, मिर्जापुर व प्रतापगढ़ मेडिकल कॉलेज का भी प्रधानमंत्री वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। इन सभी मेडिकल कॉलेजों में इसी सत्र से नीट के जरिए एमबीबीएस की 100-100 सीटों पर प्रवेश प्रक्त्रिस्या शुरू की जाएगी।

गोरखपुर एम्स का उद्घाटन अगले माह
सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर- बस्ती मंडल में मेडिकल कॉलेज के नाम पर एकमात्र गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज था। अब गोरखपुर में एम्स भी बनकर तैयार है। अगले एक से डेढ़ माह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका भी उद्घाटन करेंगे।

मेडिकल कॉलेजों के मामले में बना रिकार्ड
देश की 44 योजनाओं में पहला स्थान हासिल करने के बाद अब योगी सरकार मेडिकल कॉलेजों के मामले में भी नंबर वन बन रही है। यूपी देश का पहला ऐसा राज्य होगा जहां एक साथ सात राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण होने का रहा है।
... और पढ़ें

यूपी :  महंगी बिजली खरीदने के बाद भी संकट से राहत नहीं] अभी भी 5000 मेगावाट उत्पादन प्रभावित

कोयले की कमी से पैदा हुए बिजली संकट से राहत देने के लिए पॉवर कॉर्पोरेशन महंगी बिजली खरीद तो रहा है, पर हालात सामान्य होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। कोयले की कमी से तापीय इकाइयों में उत्पादन बंद या कम होने का सिलसिला जारी है। शनिवार शाम को प्रदेश की 5 हजार मेगावाट से ज्यादा क्षमता की इकाइयां या तो बंद हैं या उनके  उत्पादन में कमी की गई है।

बिजली आपूर्ति के लिए प्रदेश में एनर्जी एक्सचेंज से 17-18 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदी जा रही है। दशहरे पर तो जैसे-तैसे अतिरिक्त बिजली का इंतजाम करके आपूर्ति सामान्य रखी गई, लेकिन शनिवार से फिर ग्रामीण क्षेत्रों व तहसील मुख्यालयों पर कटौती की जा रही है। फिलहाल स्थिति जल्द सामान्य होने के आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं।

शनिवार को 5005 मेगावाट की कमी
सरकारी बिजलीघर    1305 मेगावाट
निजी बिजलीघर    2700 मेगावाट
एनटीपीसी    1000 मेगावाट

मांग और उपलब्धता में भारी अंतर
प्रदेश में पीक ऑवर्स में बिजली की मांग 20 हजार मेगावाट से ऊपर पहुंच रही है, जबकि कुल उपलब्धता 17000-18000 मेगावाट है। दशहरे पर बिजली आपूर्ति दुरुस्त रखने के लिए एनर्जी एक्सचेंज से 1400-2500 मेगावाट अतिरिक्त बिजली खरीदनी पड़ी।
... और पढ़ें

यूपीएसएसएससी : सम्मिलित अवर अधीनस्थ सेवा की मुख्य परीक्षा 21 को, पहली बार आइरिश स्कैन से सत्यापन

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) की सम्मिलित अवर अधीनस्थ सेवा भर्ती-2019 की लिखित परीक्षा (मुख्य) 21 अक्तूबर को लखनऊ के 29 केंद्रों पर होगी। इसमें अभ्यर्थियों की उपस्थिति मैनुअल फोटो व हस्ताक्षर की पुरानी व्यवस्था के साथ आइरिश स्कैन (आंख की पुतली की स्कैनिंग) के जरिए भी सत्यापित की जाएगी। आयोग आइरिश स्कैन कर अभ्यर्थियों के मिलान की व्यवस्था पहली बार अमल में लाने जा रहा है। इससे परीक्षा में वास्तविक अभ्यर्थी के स्थान पर दूसरे (मुन्ना भाई) के बैठने की आशंका न के बराबर रहेगी। 

आयोग विभिन्न विभागों के 672 रिक्त पदों के लिए भर्ती की कार्यवाही कर रहा है। प्रारंभिक परीक्षा के जरिए 15,335 अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिए अर्ह करार दिया गया है। आयोग के परीक्षा नियंत्रक दिनेश ने कहा है कि मुख्य परीक्षा दो पालियों में होगी। अभ्यर्थियों का प्रवेश आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि मुख्य परीक्षा में भी 1/4 अंक की निगेटिव मार्किंग होगी। आयोग की यह पहली मुख्य परीक्षा है। इस भर्ती में सहायक चकबंदी अधिकारी, आपूर्ति निरीक्षक, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत जैसे पदों को शामिल किया गया है।
... और पढ़ें

यूपी : सपा के ललितपुर जिलाध्यक्ष हटाए गए, मौलाना कादरी बने अल्पसंख्यक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष

UPSSSC
समाजवादी पार्टी ने ललितपुर जिला कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। इसी तरह रामपुर का जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल को बनाया गया है। ललिलपुर में सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव सहित 25 लोगों के खिलाफ किशोरी से दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ है। इसमें बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार सहित सपा- बसपा के तमाम लोगों के नाम है। पुलिस ने सपा जिलाध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया है। ऐसे में पार्टी ने जिलाध्यक्ष सहित पूरी कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। यहां संचालन समिति गठित कर दी गई है। इसी तरह रामपुर जिले में वीरेंद्र गोयल को नया जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया है। उन्हें जल्द से जल्द कार्यकारिणी घोषित करने का निर्देश दिया गया है।

विभिन्न दलों के लोगों ने ली सपा की सदस्यता
विभिन्न दलों के लोगों ने शुक्रवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष पार्टी की सदस्यता ली। इसमें पीलीभीत के पटेलनगर बीसलपुर निवासी डॉ सुरेंद्र गंगवार, वाराणसी कैंट के सोनारपुरा शिवाला रोड निवासी डॉ अजय चौरसिया तथा कांग्रेस पिछड़ा वर्ग मंडल प्रभारी मिर्जापुर चित्रकूट निवासी बच्छराज सिंह मौर्य शामिल हैं।

सीपीआई एमएल प्रतिनिधि मंडल सपा अध्यक्ष से मिला
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ  इंडिया (एमएल) के राज्य सचिव सुधाकर यादव के नेतृत्व में शनिवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की। उन्हें आश्वासन दिया कि भाजपा सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए सीपीआई (एमएल) हर स्तर पर सहयोग करेगा। प्रतिनिधि मंडल में  राम चैधरी, ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा, राजेश सिंह, कृष्णा अधिकारी शामिल थीं। राज्य सचिव सुधाकर यादव ने कहा कि भाजपा की दमनकारी नीतियों के विरोध में सभी दलों को एकजुट होना होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि भाजपा के फासिस्टी आचरण के विरूद्ध लड़ाई लड़ने में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का नेतृत्व सक्षम है। सपा अध्यक्ष ने सहयोग देने के लिए सीपीआई (एमएल) के नेतृृृत्व को धन्यवाद दिया और आश्वस्त किया कि प्रदेश के किसानों.नौजवानों को उनके हक दिलाने के लिए पार्टी हर स्तर पर प्रतिबद्ध है।
... और पढ़ें

लखनऊ : काम छिना तो अनशन स्थगित कर लौट आए जेई, शक्ति भवन पर धरने का मामला

यूपी पावर कॉर्पोरेशन प्रबंधन ने बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर (जेई) का काम छीन करके तकनीकी कर्मियों को देने का सिलसिला शुरू किया कि जेई क्रमिक अनशन स्थगित करके काम पर वापस लौट आए हैं। दरअसल, ऐसे जेई को वेतन विसंगति से कम काम छिनने से अधिक नुकसान होने का अंदाजा था। इस संबंध में जूनियर इंजीनियर्स संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष जीवी पटेल व केंद्रीय महासचिव जय प्रकाश ने संयुक्त रूप से शनिवार को बयान जारी करके बताया कि संगठन ने शक्ति भवन पर चल रहे क्रमिक अनशन को 24 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। 

आंदोलन को ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के अनुरोध पर स्थगित किया। बयान में कहा गया कि 24 अक्टूबर तक वेतन विसंगति सहित अन्य समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ तो फिर से अनशन शुरू कर देंगे। जबकि हकीकत में 14 अक्टूबर से काम का बहिष्कार करने वाले जेई की जगह पर तकनीकी कर्मियों को काम करने के आदेश जारी किये गये तो उनमें भगदड़ मच गई। इससे जेई का मनोबल कमजोर हुआ। साथ, ही 21 व 22 सितंबर को क्रमिक अनशन करने के दौरान जिन जेई ने काम भी नहीं किया और वेतन ले लिया उन पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है।  

226 में 122 अनुपस्थित
संगठन के 21 व 22 सितंबर के मध्यांचल मुख्यालय पर क्रमिक अनशन के दौरान दोनों लेसा जोन के 122 जेई अनुपस्थित रहे। कुल जेई की तैनाती 226 की है। इसमें ट्रांस गोमती जोन के कुल जेई 125 व सिस गोमती जोन के कुल जेई 101 शामिल हैं। ट्रांस गोमती के 38 व सिस गोमती के 84 जेई आंदोलन में शामिल हुए थे। यह रिपोर्ट चेयरमैन एम देवराज को भेजी गई।
... और पढ़ें

लखीमपुर खीरी हिंसा: अंकित दास के फ्लैट से एसआईटी ने बरामद किया असलहा, सीसीटीवी से कई अहम सुराग लगे हाथ

लखीमपुर हिंसा का रिक्रिएशन करने के बाद शुक्रवार को पुलिस की विशेष जांच कमेटी पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास व उसके साथी लतीफ काले को लेकर लखनऊ पहुंची। करीब चार घंटे तक लखनऊ के चार ठिकानों को पुलिस की विशेष जांच कमेटी ने खंगाला। इस दौरान उसके हुसैनगंज स्थित एमआई अपार्टमेंट से असलहा बरामद कर लिया। इसके बाद टीम उसे लेकर लखीमपुर निकल गई।

पुलिस की विशेष जांच कमेटी की टीम दोपहर बाद लखनऊ पहुंची। सबसे पहले हुसैनगंज के पुराना किला स्थित उसके आवास पर गई। लेकिन वहां रूकी नहीं। फिर एमआई अपार्टमेंट में गई। जहां अंकित दास का फ्लैट है। वहां से पुलिस टीम ने एक रिवाल्वर व रिपीटर (बंदूक) बरामद की। इसके बाद आरोपी को लेकर गोमतीनगर के फन मॉल के पीछे सागर सोना होटल लेकर गई। जहां काफी देर तक रूकी रही। इसके बाद देर शाम को उसे लेकर लखीमपुर निकल गई।

3 अक्तूबर को लखीमपुर के तिकुनिया में हुए हिंसा के बाद गठित पुलिस की विशेष जांच कमेटी ने बृहस्पतिवार को वहां घटनाक्रम का रिक्रिएशन किया। इसके लिए मुख्य आरोपी आशीष मिश्र व उसके दोस्त अंकित दास को लेकर वारदात स्थल पहुंची। जहां करीब दो घंटे तक रिक्रिएशन होता रहा। इस दौरान कुछ पुलिस ने कृषि कानून को वापस लो... नारेबाजी करते हुए काले झंडे दिखाए। तो कुछ ने पुलिस जीप पर बैठकर किसानों के पुतलों को रौंदा।

मुख्य आरोपी को बृहस्पतिवार रात को भेजा गया
लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र की रिमांड पूरी होने के 15 घंटे पहले ही उसे जेल में दाखिल कर दिया गया। उसकी रिमांड शुक्रवार सुबह 10 बजे पूरी होनी थी। लेकिन पुलिस की विशेष जांच कमेटी ने पूछताछ व रिक्रिएशन के बाद बृहस्पतिवार शाम को 7 बजे ही जेल में दाखिल कर दिया ।

पूर्व केंद्रीय मंत्री का भतीजा भाग गया था नेपाल
पुलिस की विशेष जांच कमेटी ने दूसरे आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास से काफी देर तक पूछताछ की गई। इस दौरान उसने बताया कि वारदात के बाद वह लखनऊ स्थित पुराना किला घर पहुंचा। वहां अपने क्ले स्कावयर स्थित एमआई अपार्टमेंट स्थित फ्लैट पर गया। जहां असलहे रखने के बाद अपने गोमतीनगर स्थित होटल सागर सोना में चला गया। वहां रुकने के बाद एक दोस्त की गाड़ी लेकर नेपाल निकल गया। टीवी पर आशीष की गिरफ्तारी की जानकारी होने पर अपने वकील से संपर्क किया। इसके बाद वह क्राइम ब्रांच के सामने हाजिर हो गया।

अंकित व लतीफ काले को लेकर लखनऊ पहुंची टीम
लखीमपुर हिंसा के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास व उसके करीबी सुरक्षाकर्मी लतीफ काले को लेकर पुलिस की विशेष जांच कमेटी शुक्रवार दोपहर को लखनऊ पहुंची। करीब चार घंटे तक उसके साथ कई ठिकानों पर पड़ताल की गई। इस दौरान पुलिस के हाथ एक लाइसेंसी रिवाल्वर और एक रीपीटर बंदूक हाथ लगी। दोनों का लाइसेंस अंकित दास के नाम बताया है। पुलिस इसके बाद उसे लेकर गोमतीनगर फन मॉल के पीछे स्थित होटल सागर सोना लेकर गई। जहां उससे कमरे के बारे में जानकारी हासिल की। जिसमें वह रूका था। पुलिस टीम वहां पर करीब एक घंटे तक रही।

सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी
पुलिस की विशेष जांच कमेटी अंकित दास से होटल सागर सोना में काफी देर तक पूछताछ की। इसके बाद उसके द्वारा बताए गए तारीख के आसपास के सभी दिनों की सीसीटीवी फुटेज खंगालनी शुरू की। पुलिस ने होटल का डीवीआर अपने कब्जे में ले लिया है। होटल के फुटेज में कई अहम सुराग पुलिस की विशेष जांच कमेटी के हाथ लगे हैं। जिनके आधार पर कुछ अन्य लोगों के बारे में जानकारी मिल सकती है। जो अंकित दास को नेपाल तक ले जाने में मदद की थी। पुलिस इन मददगारों की सूची तैयार की है।
 
... और पढ़ें

मायावती ने ट्वीट कर कहा, लखीमपुर कांड जैसी ही छत्तीसगढ़ की घटना, दोषियों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि छत्तीसगढ़ में वाहन से भीड़ को कुचलने की घटना से बेहद मर्माहित हैं। उन्होंने इस घटना की तुलना लखीमपुर खीरी कांड से करने के साथ ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

छत्तीसगढ़ में जशपुर में एक कार के भीड़ को रौंदने की निंदा करते हुए मायावती ने छत्तीसगढ़ सरकार पर हमला बोला है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि शुक्रवार को छत्तीसगढ़ में दुर्गा मां की प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान भीड़ को कार से कुचलने से हुई एक व्यक्ति की मौत व अनेकों के घायल होने की घटना दुखद है। यह लखीमपुर खीरी की घटना की याद ताजा करती है। मायावती ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद व नौकरी के साथ सभी दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें।
 
इसके अलावा मायावती ने दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर पब के एक दलित युवक की नृशंस हत्या अति-दुखद व शर्मनाक बताते हुए पुलिस से घटना को  गंभीरता से लेते हुए दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।  मायावती ने कहा कि पंजाब के दलित सीएम भी लखीमपुर खीरी की तरह पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए की मदद व सरकारी नौकरी दें।
... और पढ़ें

अदाकारा बेगम फर्रुख जाफर का निधन: लखनऊ में ली अंतिम सांस, आज किया जाएगा सुपुर्द-ए-खाक

किसी की बड़ी अम्मी, किसी की भाभी, हिन्दी सिनेमा की एक जानी-मानी शख्सियत और सबकी बेगम फर्रुख जाफर साहिबा नहीं रहीं। शुक्रवार की शाम सात बजे उन्होंने लखनऊ के सहारा अस्पताल में अंतिम सांस लीं। वे 89 वर्ष की थीं, कुछ दिन पहले तबीयत खराब होने, सांस लेने में दिक्कत होने और सर्दी-जुकाम व जकड़न होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी दो बेटियां हैं। एक शाहीन जो विशेष खंड में रहती हैं और दूसरी वरिष्ठ पत्रकार व लेखक महरू जाफर हैं। बेगम उन्हीं के पास रहती थीं। महरू जाफर ने बताया कि उन्हें शनिवार को सुबह 10.30 बजे मल्लिका जहां कब्रिस्तान एशबाग में दफन किया जाएगा। 

विविध भारतीय एनएसडी और फिर सेल्युलाइड तक
फर्रुख जाफर ने अपना करियर रेडियो में बतौर अनाउंसर शुरू किया था। गीतों भरी कहानी नामक प्रोग्राम काफी यादगार रहा, जिसमें वे गीतों के बीच सुनाई जाने वाली कहानियों को अपनी आवाज देती थीं और गीतों का चयन करती थीं। नेशनल स्कूल आफ ड्रामा में वह शाम को क्लास करती थीं। लखनऊ में थियेटर करती थीं। 

एनएसडी से कोर्स करने के बाद उन्होंने राष्ट्रीय मंच पर अल्काजी के निर्देशन में इटैलियन नाटक सिक्स कैरेक्टर्स इन सर्च ऑफ एन आथर में एक अहम किरदान निभाया। उमराव जान, स्वदेस, सीक्रेट सुपरस्टार, गुलाबो सिताबो, मेहरुनिंसा में अपने किरदार को जीने वाली बेगम को 28 मार्च 2021 को फिल्मफेयर अवार्ड से नवाजा गया।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00