लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

उत्तराखंड: कड़ाके की ठंड से नीती-माणा घाटी में जम गए झरने और गाड़-गदेरे, मैदान में भी बढ़ी ठिठुरन, तस्वीरें  

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Wed, 01 Dec 2021 07:06 PM IST
नीती माणा घाटी में जमे गाड़ गदेरे
1 of 5
विज्ञापन
दिसंबर महीने की शुरुआत होते ही सर्दी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। बुधवार को प्रदेशभर में मौसम का मिजाज बदला और बादल छाए रहे। पिछले दिनों के मुकाबले बुधवार को अधिकतम तापमान दो डिग्री गिर गया। जिससे मौसम में ठंड बढ़ गई। दोपहर में थोड़ी देर को गुनगुनी धूप निकली लेकिन इसके बाद फिर से बादल छा गए। 

उत्तराखंड: पहाड़ से मैदान तक मौसम खराब, अगले तीन दिन बारिश-बर्फबारी के आसार

वहीं, चमोली जनपद में दिनभर मौसम खराब रहा। जिससे कड़ाके की ठंड बढ़ गई है। ठंड से बचने के लिए दिनभर लोग अपने घरों में दुबके रहे। मौसम खराब होने से नीती घाटी में बहने वाले झरने व गाड़-गदेरे बर्फ में तब्दील हो गए हैं। माणा घाटी में भी नाले जम गए हैं। नीती घाटी में ऋषिगंगा भी पूरी तरह से जम गई है।

मंगला कोठियाल का कहना है कि बारिश और बर्फबारी न होने से कोरी ठंड पड़ रही है। लोग ठंड से बचने के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं। जोशीमठ के साथ ही पोखरी, घाट, गैरसैंण, थराली, देवाल, कर्णप्रयाग, गौचर, पीपलकोटी और निजमुला घाटी में भी सुबह और शाम को शीतलहर चल रही है। यही हाल केदारघाटी और यमुनाघाटी में भी बना हुआ है। 
नीती माणा घाटी में जमे गाड़ गदेरे
2 of 5
मौसम विभाग ने एक दिसंबर से तीन दिसंबर तक पर्वतीय जिलों में हल्की बारिश और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हिमपात की चेतावनी जारी की है। इससे ठंड बढ़ने के आसार बढ़ गए हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार कुमाऊं और गढ़वाल के कुछ जिलों में आज हल्की बारिश और बर्फबारी की संभावना है।
विज्ञापन
नीती माणा घाटी में जमे गाड़ गदेरे
3 of 5
वहीं मैदानी इलाकों में भी ठंड के चलते लोग अपने घरों में ही कैद होने को मजबूर हो गए हैं। केवल कामकाजी लोग ही अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। ठंड से बचने के लिए लोग हीटर, अलाव और चाय की चुस्कियों का सहारा ले रहे हैं। 
नीती माणा घाटी में जमे गाड़ गदेरे
4 of 5
ऋषिकेश में लक्ष्मणझूला, स्वर्गाश्रम, मुनिकीरेती, तपोवन के गंगा घाट और तटों पर सैलानियों की चहलकदमी भी कम थी। लक्ष्मणझूला रोड पर चंद्रभागा पुल से लेकर तपोवन तक सड़क पर गिने चुने वाहन ही नजर आ रहे थे। बाजारों में लोग ठंड को दूर करने के लिए मूंगफली, पकोड़े और चाय का लुत्फ उठाते हुए देखा गया। 
विज्ञापन
विज्ञापन
मैदान में बढ़ी ठंड
5 of 5
इस तरह का बदलता मौसम सेहत के लिए भी बेहद हानिकारक हो सकता है। हवा की गुणवत्ता खराब होने के कारण सांस के रोगियों को ज्यादा समस्या हो सकती है। ऐसे में मार्निंग वॉक के लिए निकलते समय सावधानी बरतने की जरूरत है। बच्चों और बुजुर्गों के साथ अस्वस्थ लोग ऐसे बिगड़े मौसम में ज्यादा सावधानी बरतें। 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00