बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

भाजपा को जनता का समर्थन, विपक्षियों में बौखलाहट - सांसद संगमलाल

रानीगंज विधानसभा के रोहखुर्द कला बूथ पर शनिवार को बूथ विजय अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन हुआ। सांसद संगमलाल गुप्ता ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा की सरकार में अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिल रहा है। किसी के साथ भेदभाव नहीं हो रहा है। सबका साथ और सबका विकास के एजेंडे पर भाजपा कार्य कर रही है।

भाजपा को जनता का समर्थन मिल रहा है। जाति-पाति की राजनीति करने वाली पार्टियों की अब दाल नहीं गल रही है। जनता उनके मंसूबों को समझ चुकी है। विजय बूथ अभियान के तहत कार्यकर्ताओं के साथ कार्ययोजना बनाकर कार्य करना होगा। सांसद ने बूथ विजय अभियान में कार्यकर्ताओं में जोश भरा। इस अवसर पर बृजेश पटेल , अनिल सिंह, पवन पाण्डेय, राजेश तिवारी उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

अनियंत्रित कार की टक्कर से होमगार्ड की मौत, लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर हुआ हादसा 

लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर स्थित कटरामेदनीगंज चौराहे पर अनियंत्रित कार ने साइकिल सवार होमगार्ड के जवान को टक्कर मार दी। इससे उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी होने पर परिजनों में कोहराम मच गया। 

मानधाता थाना क्षेत्र के सहिजनपुर निवासी रामपाल पटेल (55) होमगार्ड था। इन दिनों उसकी ड्यूटी कोतवाली क्षेत्र में थी। शुक्रवार रात वह ड्यूटी कर शनिवार सुबह साइकिल से घर लौट रहा था। लखनऊ-बनारस   राजमार्ग पर स्थित कटरामेदनीगंज चौराहे पर वाराणसी की ओर से आ रही कार ने उसे टक्कर मार दी। स्थानीय लोग उसे लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंचे। चिकित्सकों ने होमगार्ड को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर रोते-बिलखते परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। 

निजी अस्पताल संचालक पर पिटाई का आरोप लगा एमआर ने किया हंगामा

प्रतापगढ़। एक चिकित्सक पर पिटाई का आरोप लगाकर एमआर हंगामा करने लगे। कुछ ही देर बाद जिलेभर के एमआर एक जुट हो गए। अस्पताल गेट पर धरने पर बैठ गए। उधर, संचालक ने मारपीट से इनकार किया है। 

शहर के राजापाल टंकी के करीब गीता नर्सिंगहोम है। अस्पताल के संचालक मेडिकल कॉलेज के पूर्व सीएमएस डॉक्टर पीपी पांडेय हैं। शुक्रवार दोपहर शहर के शिवपुरी मोहल्ले के रहने वाले एमआर आलोक पांडेय हड्डी रोड विशेषज्ञ डा.पीपी पांडेय के पास पहुंचे। उन्होंने ओपीडी कक्ष के बाहर अटेंडेंट से चिकित्सक से मिलने की बात कही। चिकित्सक ने एमआर से मिलने से इनकार कर दिया। डॉक्टर पीपी पांडेय अपने चैंबर से निकलकर आपरेशन थिएटर की ओर जा रहे थे। इस बीच आलोक सहित आधा दर्जन एमआर ने उन्हें घेर लिया और अपने प्रोडक्ट दिखाने लगे। इस पर चिकित्सक उन्हें धक्का देकर आगे बढ़ गए। शनिवार को इसके विरोध में एमआर एकजुट होकर नर्सिंगहोम पहुंच गए। उत्तर प्रदेश मेडिकल सेल्स रिप्रजेंटेटिव एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष वागीश मिश्रा की अगुवाई में गेट पर हंगामा करते हुए धरने पर बैठ गए। 

शार्ट सर्किट से बैंक में लगी आग 
जेठवारा। थाना क्षेत्र के लक्ष्मीगंज बाजार स्थित ग्रामीण बैंक की शाखा में शनिवार दोपहर धुआं उठने लगा। यह देख  आसपास के लोग हैरत में पड़ गए। तत्काल इसकी सूचना मैनेजर ने फायर ब्रिगेड को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आग पर काबू पाया।
... और पढ़ें

असंतुष्ट परीक्षार्थी की परीक्षा की निगरानी के लिए बनेगा कंट्रोल रूम

कोरोना के चलते परीक्षा स्थगित होने के बाद प्रमोट किए गए यूपी बोर्ड के दसवीं और बारहवीं के छात्र-छात्राओं के परीक्षाफल से संतुष्ट न होने के कारण होने वाली परीक्षा की निगरानी के लिए कंट्रोलरूम बनाया जाएगा। रिजल्ट से असंतुष्ट परीक्षार्थियों के लिए होने वाली अंक सुधार परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या भले ही कम है, मगर व्यवस्था तगड़ी होगी। जिले के 17 ब्लॉकों में बनाए गए परीक्षा केंद्रों की निगरानी ऑनलाइन होगी। इसके लिए शहर में कंट्रोलरूम बनाया जाएगा। इसके अलावा सचल दल व परीक्षा केंद्रों पर अफसरों की टीम तैनात रहेगी।

जिले के 17 परीक्षा केंद्रों पर 728 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। सभी ने अंक सुधार परीक्षा के लिए आवेदन किया है। 18 सितंबर से शुरू होने वाली परीक्षा के लिए केंद्रों पर चाकचौबंद व्यवस्था होगी। कोविड की वजह से परीक्षा स्थगित होने के बाद सभी परीक्षार्थियों को प्रमोट कर दिया गया था। परिणाम से असंतुष्ट परीक्षार्थियों को परीक्षा देने का मौका दिया गया। हाईस्कूल में 322 जबकि इंटर में 406 परीक्षार्थियों ने अंक सुधार परीक्षा के लिए आवेदन किया है।

परीक्षा 18 सितंबर से शुरू होगी। परीक्षा के दौरान 17 केंद्रों पर तगड़ी व्यवस्था होगी। सभी परीक्षा केंद्रों को कंट्रोलरूम से जोड़ा जाएगा। कंट्रोल रूम से ऑनलाइन परीक्षा की निगरानी होगी। इसके अलावा सचल दल की टीमें परीक्षा केंद्रों का जायजा लेंगी। डीआईओएस डॉ. सर्वदानंद ने बताया कि परीक्षा शुचिता के साथ संपन्न कराई जाएगी।
... और पढ़ें

Fitness : ओपन जिम से सेहत बनाएंगे शहरी, शहर के प्रमुख स्थानों का किया गया चयन

शहरियों को सेहत बनाने के लिए अब जेब खाली करने की जरूरत नहीं होगी। लोग शहर की सड़कों पर घूमते हुए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जिम कर सकेंगे। नगर पालिका की ओर से पार्क और सड़कों के फुटपाथ व रेलवे स्टेशन के करीब ओपन जिम का निर्माण कराया जाएगा। जहां लोग कसरत कर खुद को फिट रख सकेंगे।

नगर पालिका की ओर से ओपन जिम के निर्माण की तैयारी शुरू कर दी गई है। शहर के शहीद उद्यान, आफीसर्स कालोनी, न्यू कालोनी बाबागंज स्थित पार्क में ओपन जिम का निर्माण कराया जाएगा। इसके अलावा सुरक्षित चौराहों के फुटपाथ पर भी ओपन जिम का निर्माण होगा।

राजापाल, स्टेशन रोड, सदर बाजार, चिलबिला, कटरा रोड पर फुटपाथ पर ओपन जिम बनाया जाएगा। जिससे लोग मार्निंग वॉक के दौरान जिम कर अपनी सेहत बना सकें। इसके लिए नगर पालिका की ओर से प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। ओपन जिम वाले स्थल पर कसरत करने के कई उपकरण लगाए जाएंगे।

शहर में ओपन जिम का निर्माण कराने की प्रक्रिया प्रस्तावित है। इसके लिए शहर के सुरक्षित स्थानों के अलावा पार्कों का चयन किया गया है। - मुदित सिंह, ईओ, नगर पालिका

सुरक्षा के लिए लगाए जाएंगे कर्मचारी
सड़क के किनारे फुटपाथ पर स्थापित होने वाले जिम के उपकरणों की सुरक्षा के लिए पालिका प्रशासन की ओर से कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। किसी को भी मनमानी करने की छूट नहीं होगी। पालिका के ईओ मुदित सिंह ने बताया कि ओपन जिम लगवाने वाली कंपनी से देेखरेख का भी अनुबंध होगा।
... और पढ़ें
ओपन जिम। ओपन जिम।

अनदेखी : कूड़ा बन गईं वाटर वेंडिंग मशीन, गला तर करने के लिए भटकते रहे लोग

शहरियों के साथ ही बाहर से आने वाले लोगों को पानी उपलब्ध कराने के लिए नगर पालिका ने 15 वाटर वेंडिंग मशीन लगवाई थीं। ये मशीनें अब कूड़ा बन गई हैं। ज्यादातर मशीनों से एक बूंद पानी नहीं निकल रहा है। इससे लोगों को महंगे दाम पर बोतल बंदी पानी खरीदना पड़ता है। पालिका के तमाम दावे के बावजूद वाटर वेंडिंग मशीनों की मरम्मत नहीं कराई जा सकी।

नगर पालिका द्वारा शहरियों व बाहर से आने वाले लोगों को आरओ वाटर उपलब्ध कराने के लिए लाखों रुपये खर्च कर वेंडिंग मशीन लगाई गई थीं। एक वाटर वेंडिंग मशीन की कीमत करीब ढाई से तीन लाख रुपये थी। छह साल पूर्व शहर के रोडवेज बस डिपो, जीआईसी, जीजीआईसी, शहीद उद्यान, भंगवाचुंगी, सदर बाजार और चिलबिला में वाटर वेंडिंग मशीन लगाई गई थीं। इसके बाद अजीत नगर समेत अन्य स्थानों पर कुल 15 वाटर वेंडिंग मशीन लगाई गईं।

करीब सालभर तो इन मशीनों से पानी निकलता रहा, मगर समय के साथ ही अब वाटर वेंडिंग मशीन खराब होती गईं। गर्मी शुरू होते ही वेंडिंग मशीन दुरुस्त कराने के लिए नगर पालिका प्रशासन की ओर दावा किया जाता रहा, मगर कुछ नहीं हुआ। भंगवाचुंगी, जीआईसी, रोडवेज बस डिपो समेत अन्य स्थानों पर वेंडिंग मशीन खराब पड़ी हैं। कोई उसे देखने वाला नहीं है। हालांकि पालिका प्रशासन का दावा है कि सात वाटर वेंडिंग मशीन ठीक हैं। पुरानी मशीन ही खराब हैं।

पानी की जगह निकल रहा सिक्का
रविवार को कोषागार चौराहे पर लगे वाटर वेंडिंग मशीन की लाइट जल रही थी। पानी के लिए परेशान युवक ने एक रुपये का सिक्का डाला, मगर एक बूंद नहीं टपकी। कुछ देर में सिक्का वापस निकल गया। जिसे लेने के बाद वह व्यक्ति पालिका को कोसते हुए आगे बढ़ गया।

उपकरणों की हो चुकी चोरी
नगर पालिका ने वाटर वेंडिंग मशीनों की कुछ दिनों तक देखभाल के लिए कर्मचारियों को लगाया था। जो सिक्का निकालने के साथ ही मशीन की देखभाल करते थे। जीजीआईसी, अजीत नगर, भंगवाचुंगी और रोडवेज बस डिपो समेत अन्य स्थानों पर लगीं वाटर वेंडिंग मशीन के उपकरण चोरी हो चुके हैं।

चोरी करने के दौरान युवक की गई थी जान
शहर के जीआईसी के पास वाटर वेंडिंग मशीन से चोरी करने के दौरान एक युवक की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई थी। जिसके बाद दुर्घटनाओं को रोकने के लिए नगर पालिका द्वारा जाली के भीतर वेंडिंग मशीन रखवाई जाने लगी। सुरक्षा के लिए जाली लगवाने के बाद भी वाटर वेंडिंग मशीन दुरुस्त नहीं हो सकीं। जिसके चलते लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ता है।

शहर में लगीं सात वाटर वेंडिंग मशीन चल रही हैं। खराब मशीनों की मरम्मत के लिए कंपनी को पत्र भेजा गया है। -महेश तिवारी, प्रभारी जलकल, नगर पालिका
 
रोडवेज बस अड्डे के सामने खराब पड़ी वाटर वेंडिग मशीन। संवाद
रोडवेज बस अड्डे के सामने खराब पड़ी वाटर वेंडिग मशीन। संवाद- फोटो : PRATAPGARH
 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : आतंकी कनेक्शन के शक में मछली विक्रेता को गिरफ्तार कर दिल्ली ले गई एटीएस

आतंकी कनेक्शन के शक में महेशगंज थाना क्षेत्र के डिहवा जलालपुर से यूपी एटीएस की टीम मछली विक्रेता इम्तियाज उर्फ कल्लू को गिरफ्तार कर दिल्ली ले गई, जहां उससे पूछताछ चल रही है। परिवारवालों को गांव के एक व्यक्ति के माध्यम से सूचना भेजी गई कि कल्लू को दिल्ली स्थित एटीएस के कार्यालय में रखा गया है। एटीएस की कार्रवाई से जनपद में हड़कंप मचा हुआ है। 

डिहवा जलालपुर निवासी इम्तियाज मुंबई में सिलाई का काम करता था। करीब डेढ़ साल पहले कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन में वह गांव आ गया। यहां वह बकरी, मुर्गी व मछली पालन का कारोबार करने लगा। मंगलवार की सुबह यूपी एटीएस टीम के दो सदस्य उसके घर पहुंचे और इम्तियाज के बारे में पूछताछ करने के बाद उसे बुलाया। बातचीत के बाद पुलिसकर्मियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया। घर की तलाशी के दौरान पांच मोबाइल, राशनकार्ड, आधारकार्ड, बैंक पासबुक, दस हजार रुपये समेत अन्य अभिलेख कब्जे में लेकर चले गए।

हालांकि एटीएस की टीम ने गांव के एक व्यक्ति के पास फोन कर परिवार के लोगों को यह जानकारी देने के लिए कहा कि इम्तियाज को लोदी कालोनी दिल्ली स्थित एटीएस कार्यालय लाया गया है। यदि उसके बारे में कोई जानकारी चाहते हैं तो परिवार के लोगों को यहां भेज दें। यूपी एटीएस आशंका जता रही कि कल्लू के तार आतंकियों से जुड़े हो सकते हैं। उससे पूछताछ चल रही है। टेरर फंडिंग में भी उसके शामिल होने की चर्चा थी। पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल ने बताया कि एटीएस की टीम शंका के आधार पर मछली विक्रेता को ले गई है। एहतियात के तौर पर गांव के हालात पर नजर रखी जा रही है। 

टेरर फंडिंग के लिए मजदूरों के नाम खुलवाए गए थे खाते
जनपद में पहले भी आतंकी गतिविधियों में लिप्त लोग एटीएस के हत्थे चढ़ चुके हैं। आतंकियों को फंडिंग करने के लिए मजदूरों के खाते तक खुलवाए गए थे। नगर कोतवाली के भगेसरा, पृथ्वीगंज समेत आसपास के गांवों में 24 मार्च 2018 को यूपी एटीएस ने छापा मारा था। एटीएस टीम भगेसरा के रहने वाले संजय सरोज व उसके साथी नीरज मिश्रा समेत पांच लोगों को उठा ले गई थी। बाद में एटीएस ने संजय के ऊपर टेरर फंडिंग का आरोप तय करते हुए जेल भेज दिया था। हालांकि संजय सरोज जेल से छूटकर घर आ चुका है। उसने बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत से ईट भट्ठा मजदूर के खाते खुलवाए थे। उस खाते में भी रुपये आते थे। 
... और पढ़ें

आफत की बारिश : दो दिन की बरसात से पानी -पानी हुआ शहर, घरों में घुसा पानी

जिले में तीन दिन से हो रही मूसलाधार बरसात ने शहर से गांव तक आफत खड़ी कर दी है। भारी बारिश से जनजीवन ठप हो गया है। लोग घरों में कैद हैं। बारिश के साथ तेज हवाएं चलने से कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए। बिजली के पोल टूट गए। इससे जिले के कई इलाकों में चौबीस घंटे से बिजली, मोबाइल और इंटरनेट सेवा बाधित है। बीएसएनएल के साथ निजी कंपनियों की सेवाएं भी ठप हो गई हैं। भारी बरसात से शहर के कई इलाकों में लोगों के घरों और दुकानों में पानी घुस गया है। सरकारी कार्यालयों में भारी जलभराव है।

मंगलवार की रात से शुरू हुई बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। बुधवार रात में झमाझम बरसात हुई। यह सिलसिला बृहस्पतिवार को भी जारी रहा। इससे शहर से गांव तक पानी ही पानी नजर आ रहा है। एसपी कार्यालय में जलजमाव होेने के साथ प्रवेश द्वार पर पेड़ की डाल गिर गई। कार्यालय में कोई कर्मचारी नजर नहीं आया। भू मि संरक्षण इकाई कार्यालय में पानी भरा होेने से कोई भी अधिकारी अंदर नहीं जा सका।

शहर के पूर्वी सहोदरपुर, अचलपुर, शिवजीपुरम के अधिकांश घरों में पानी जमा हो गया है। सिनेमा रोड पर नाले के ऊपर से पानी बह रहा था। इस रोड पर स्थित दुकानें बंद थीं। जिले में भारी बरसात होने से इंटरनेट सेवा चरमरा गई है। बृहस्पतिवार को लोगों के फोन से नेटवर्क गायब रहा। इंटरनेट सेवा भी पूरी तरह बाधित रही। बारिश से कच्चे मकानों के गिरने का सिलसिला भी जारी है। जिलेभर में बरसात से सौ से अधिक कच्चे मकान गिर गए हैं।

जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। कोहड़ौर इलाके के लौली पोख्ताखाम में जगदेव प्रसाद का मकान जमीदोंज हो गया। मानधाता के सरायमेदीराय के मैफुननिशा, गुड़रू के जिलालाल पाल, तरौल के सादिक हुसैन, अरविंद कुमार गुप्ता, छोटका का कच्चा मकान भरभरा कर गिर पड़ा। फतनपुर और लालगंज थाना और तहसील परिसर पूरी तरह पानी से लबालब रहा। जगह-जगह पेड़ गिरने और बिजली के पोल टूटने से यातायात बाधित रहा।

सत्रह साल का रिकार्ड टूटा, 24 घंटे में 240 मिमी बरसात
सितंबर माह में 24 घंटे की बरसात ने जिले के 17 वर्षों का रिकार्ड तोड़ दिया है। वर्ष 2004 में सितंबर माह में 210 मिमी बरसात हुई थी। वर्ष 2013 में तूफान के साथ 186.0 मिमी बरसात हुई थी। फिलहाल बरसात अभी बंद होने का नाम नहीं ले रही है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक शुक्रवार को भी बारिश होगी।

जिले में 24 घंटे की बरसात ने जिले के 17 साल के रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया है। मौसम विभाग के अनुसार शहर और ग्रामीण इलाकों में 24 घंटे में 240.0 मिमी बरसात रिकार्ड की गई है। बरसात का यह दौर अभी थमने वाला नहीं है। शुक्रवार को भी बरसात जारी रहने की संभावना है।

वर्ष 2004 में सितंबर माह में 210 मिमी बारिश रिकार्ड की गई थी। वर्ष 2013 में हुदहुद तूफान के साथ 186.0 मिमी का बारिश हुई थी। मगर 24 घंटे में हुई बरसात ने अब तक के रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया है। मौसम वैज्ञानिक देशराज मीना ने बताया कि शुक्रवार को भी मानसून सक्रिय रहेगा। इससे जिले में बरसात होती रहेगी।
 
वृहस्पतिवार को हुई जोरदार बारिश से एएसपी कार्यालय में भरा पानी। संवाद
वृहस्पतिवार को हुई जोरदार बारिश से एएसपी कार्यालय में भरा पानी। संवाद- फोटो : PRATAPGARH
 
लालगंज के हंडौर के समीप हैंडोर लखनऊ वाराणसी हाईवे पर बारिश के चलते गिरा पेड़। संवाद
लालगंज के हंडौर के समीप हैंडोर लखनऊ वाराणसी हाईवे पर बारिश के चलते गिरा पेड़। संवाद- फोटो : PRATAPGARH
 
जेलरोड तिराहे से रखहा जाने वाली सड़क पर भरा पानी। संवाद
जेलरोड तिराहे से रखहा जाने वाली सड़क पर भरा पानी। संवाद- फोटो : PRATAPGARH
 
... और पढ़ें

corona Vaccine : कोरोना टीकाकरण अभियान आज, 80 हजार लोगों को टीका लगाने की तैयारी

मानधाता थाना क्षेत्र में बारिश के दौरान गिरा कच्चा मकान। संवाद
कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार को कोरोना टीकाकरण का महाअभियान चलाया जाएगा। शासन की ओर से स्वास्थ्य विभाग को 80 हजार लोगों को कोरोना का टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए जिलेभर में 450 केंद्रों पर 1800 स्वास्थ्यकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। हालांकि बरसात को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के अफसर परेशान हैं।

जिले के अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार को कोरोना टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा। सीएचसी-पीएचसी के साथ ही कुल 450 बूथ बनाए गए हैं। अभियान में ग्रामीण इलाके के ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से टीकाकरण केंद्र वाले गांव में तैनात एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व आशा बहुओं को निर्देश दिया है कि ऐसे लोगों को प्रेरित कर टीका लगवाने में सहयोग करें, जिन्होंने किसी कारणवश अभी तक टीका नहीं लगवाया है। जिला सहायक प्रतिरक्षाधिकारी महेश सिंह ने बताया कि शुक्रवार को कोरोना टीकाकरण का महाअभियान चलाया जाएगा।

जिले के 80 हजार लोगों को टीकाकरण का लक्ष्य मिला है। माइक्रोप्लान तैयार कर लिया गया है। कुल 450 बूथ बनाए गए हैं। सुबह दस से शाम पांच बजे तक टीकाकरण होगा। उन्होंने कहा कि बारिश के चलते दिक्कत आ रही है, लेकिन इसके बाद भी पूरी तैयारी की गई है।
... और पढ़ें

परेशानी : अंधेरे में डूबे रहे 800 गांव, शहर में कटौती से पानी को तरसे उपभोक्ता

भारी बारिश के साथ तेज हवाएं चलने से जिले की बिजली व्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी हो गई। शहर से गांव तक बिजली ठप हो गई। करीब आठ सौ गांवों में बुधवार रात अंधेरा छाया रहा। शहर में 16 घंटे से अधिक आपूर्ति ठप रही। बिजली न होने के कारण बृहस्पतिवार सुबह लोगों को पानी के लिए भी परेशान होना पड़ा। डीएम आवास के निकट पेड़ की डाल गिरने से दोपहर बाद सप्लाई बंद हो गई। पेड़ को हटाने के बाद शाम पांच बजे सप्लाई जारी हुई।

जिले में तेज हवाओं के साथ हुई बरसात से बिजली व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई। पहाड़पुर उपकेंद्र के लोहंगी, धरौली, बोझवा, कांपा, मनोरथपुर सहित लगभग दो दर्जन गांवों में बुधवार की सुबह नौ बजे से बिजली गुल होने के बाद बृहस्पतिवार की शाम तक नहीं आई। रानीगंज में बभनमई गांव के निकट हाईटेंशन तार पर पेड़ गिरने से लगभग दो सौ गांवों में अंधेरा छाया रहा।

उपभोक्ताओं की ओर से आने वाली शिकायतों को देखते हुए बिजलीकर्मियों ने फोन बंद कर लिए। शहर का आलम यह रहा कि जगह-जगह लोकल फाल्ट होने से अधिकांश मोहल्लों की बिजली गायब रही। दहिलामऊ, शुकुलपुर, मीराभवन, अष्टभुजानगर की लाइन खराब होने से लोगों को पीने के पानी के लिए तरसना पड़ा। हालांकि, शाम पांच बजे अधिकांश इलाकों में सप्लाई प्रारंभ हो गई थी। अधिशाषी अभियंता ने बताया कि पेड़ और खंभे गिरने से सप्लाई बाधित थी। बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए प्रयास जारी है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : होमवर्क पूरा न करने पर उर्दू शिक्षक ने मासूम बच्चे को बेरहमी से पीटा, शिक्षक के खिलाफ पिता ने थाने में दी तहरीर

थाना क्षेत्र के डेरवा सबलगढ़ निवासी मोहम्मद कुर्बान पुत्र छेदी का आरोप है कि उसने अपने बेटे मो सुफियान (8 )वर्ष को इकरा इस्लामिया उर्दू स्कूल में पढ़ाई के लिए भेजता था। सुबह जब उसका बेटा स्कूल गया तो वहां मौजूद उर्दू शिक्षक ने उसके बेटे को दिए गए होमवर्क व सबक पूरा न करने पर उसे लात घुसे व छड़ी के साथ जमीन पर पटक पटक कर जमकर पीटा। जिससे उसका लड़का सदमे है।

उसने जब इसकी शिकायत स्कूल संचालक से किया तो उन्होंने उसकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। आक्रोशित परिजन चोटहिल मासूम बच्चे को लेकर जेठवारा थाने पहुँचे, जहाँ पर उसके पिता मो कुर्बान ने आरोपी शिक्षक व संचालक के खिलाफ नामजद तहरीर देकर कार्यवाही की गुहार लगाई। परिजनों का आरोप है कि घटना के बाद  मासूम छात्र पूरी तरह सदमे में है। बावजूद इसके जेठवारा पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने से गुरेज कर रही है।
... और पढ़ें

चिंताजनक : 48 फीसदी गर्भवती महिलाओं में खून की कमी, कैसे सुरक्षित रहे नवजात

जिले की 48 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं में हिमोग्लोबिन (खून) सामान्य स्तर से कम है। दिसंबर से अब तक 70573 गर्भवती महिलाओं के हिमोग्लोबिन की जांच की गई। जिसमें 33381 महिलाओं में सामान्य से कम ब्लड पाया गया है। इसमें करीब सात हजार महिलाओं में हिमोग्लोबिन का स्तर सात डेसीलीटर से भी कम पाया गया है। उन्हें तत्काल खून की जरूरत है।

सुरक्षित प्रसव व शिशु मृत्युदर कम करने के लिए शासन तमाम योजनाएं संचालित कर रहा है। गर्भवती महिलाओं की गर्भावस्था के दौरान टीकाकरण कर स्वास्थ्य की जांच की जाती है। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जाता है और बचाव की जानकारी भी दी जाती है। लेकिन तमाम योजनाओं के बाद भी जिले में गर्भवती महिलाएं स्वस्थ नहीं हैं। वह खून की कमी से जूझ रही हैं।

स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड के मुताबिक नौ माह के भीतर जिले की 705713 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई। इसमें 33381 महिलाओं में खून की कमी पाई गई। इनमें से 7058 महिलाएं ऐसी हैं, जिनके शरीर में खून सात प्वाइंट से भी कम है। चिकित्सकों ने प्रसव से पहले उन्हें ब्लड चढ़ाने की सलाह दी है। कई गर्भवती महिलाएं हाई रिस्क की श्रेणी में चिह्नित की गई हैं। इससे गर्भवती महिलाओं के लिए चल रही योजनाओं की हकीकत का अंदाजा लगाया जा सकता है।
दस रहता है सामान्य हीमोग्लोबिन

मेडिकल कॉलेज की सीनियर डॉ. नीलमा सोनकर ने बताया कि सामान्य महिला के शरीर में 11.5 से 15 ग्राम प्रति डेसीलीटर रक्त होता है। खून की लगातार कमी के कारण अब 10 ग्राम डेसीलीटर तक रक्त की मात्रा को सामान्य मान लिया जा रहा है। इससे कम खतरनाक है। कई ऐसी महिलाएं आती हैं, जिनमें रक्त की मात्रा 10 ग्राम डेसीलीटर से भी कम रहती है।

कम हिमोग्लोबिन मां एवं गर्भ में पलने वाले बच्चे के लिए भी घातक है। उन्होंने बताया कि गर्भवती महिलाओं के सामान्य तौर पर स्वास्थ्य रहने के लिए अच्छा खानपान जरूरी है। पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त खाना खाना चाहिए। शरीर में फॉलिक एसिड की कमी और विटामिन बी और आयरन की कमी से खून की कमी हो जाती है। महिलाएं संक्रमित होने पर एनेमिक हो जाती हैं। इसलिए प्रोटीन, हरी सब्जियां और आयरन लेना चाहिए।

इस तरह बरतें सावधानी
  • विशेषज्ञ चिकित्सक से उपचार लें
  • आयरन व अन्य गोलियां नियम से लें
  • गर्भावस्था के समय लोहे की कढ़ाई आदि में सब्जी पकाएं
  • प्रचुर मात्रा में सब्जी, पालक आदि का सेवन करें
मुफ्त कराएं जांच
प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत मेडिकल कॉलेज के साथ ही किसी भी सीएचसी में महीने की नौ तारीख को गर्भवती महिलाओं की संपूर्ण जांच की जाती है। गर्भवती महिलाएं अस्पताल जाकर जांच करा सकती हैं। जांच के बाद खून की कमी से जूझ रहीं महिलाओं को चिह्नित किया जाता है। साथ ही उपचार किया जाता है। बचाव की जानकारी दी जाती है।
... और पढ़ें

महंगाई बढ़ी, मगर नहीं बढ़ा एमडीएम का कनवर्जनकास्ट

दाल, सब्जी, तेल, मसाला, फल और दूध पर महंगाई छाने के बाद भी परिषदीय विद्यालयों में बच्चों को मिल डे मील देने के लिए पुरानी दर से ही भुगतान हो रहा है। मिड डे मील में प्रति बच्चे पर आने वाले खर्च को बढ़ाया नहीं गया। इससे स्कूलों में बच्चों को गुणवत्तायुक्त भोजन परोसने पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

जिले के 2364 स्कूलों में पढ़ने वाले 2,85,896 बच्चों को मिड डे मील योजना के तहत दोपहर का भोजन दिया जा रहा है। विभागीय अधिकारी अपने निरीक्षण में एमडीएम की गुणवत्ता परखने पर भी खूब जोर देते हैं, लेकिन बच्चों के भोजन के लिए मिलने वाली धनराशि में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। एक अप्रैल 2020 से प्राइमरी स्कूलों में 4.97 रुपये और मिडिल स्कूलों में 7.45 रुपये प्रति बच्चे की दर से भुगतान किया जा रहा है।

जबकि महंगाई का आलम यह है कि जो अरहर की दाल पहले 90 रुपये प्रति किग्रा की दर से बिक रही थी, वह अब 110 रुपये पहुंच गई है। सरसों का तेल 110 रुपये से बढ़कर दोगुने दाम पर 210 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। सब्जियों में आलू पिछले वर्ष दस रुपये प्रति किग्रा बिक रहा था। अब वह 17 रुपये प्रति किग्रा की दर से बिक रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि इस महंगाई में स्कूलों के हेडमास्टर बच्चों को गुणवत्तायुक्त भोजन कैसे परोस रहे हैं।

उपस्थिति शत-प्रतिशत, मगर भुगतान 80 प्रतिशत
स्कूलों में इन दिनों शत-प्रतिशत बच्चे आ रहे हैं, मगर एमडीएम में 80 प्रतिशत बच्चों के सापेक्ष ही भुगतान किया जाता है। दरअसल, शासन ने यह व्यवस्था बनाई है कि किसी भी स्कूल में शत-प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति के बावजूद 80 प्रतिशत के सापेक्ष ही भुगतान किया जाएगा। इससे साफ है कि महंगी सब्जी और खाद्य पदार्थ खरीदने वाले हेडमास्टर किसी भी दशा में अपने नुकसान की भरपाई नहीं कर सकते हैं।

कनवर्जनकास्ट का निर्धारण प्रतिवर्ष होता है, मगर इस वर्ष शासन ने अभी तक नहीं किया है। शासन स्तर पर बात चल रही है, जल्द ही निर्णय लिया जाएगा। कनवर्जनकास्ट के निर्धारण में हमें कोई अधिकार नहीं है।
इजहार अहमद, डीसी, एमडीएम
 
mid day meal (symbolic)
mid day meal (symbolic)
 
... और पढ़ें

फांसी पर झूले युवक की जेब में मिला सुसाइड नोट

कोतवाली क्षेत्र के सधईपुर मोहल्ला निवासी एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस को उसकी जेब से सुसाइड नोट बरामद हुआ। जिसमें टीवी चैनल में नौकरी दिलाने के नाम पर उससे तथा साथियों से 35 लाख रुपये ठगी किए जाने का जिक्र है। लोग उस पर पैसा लौटाने का दबाव बना रहे थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सधईपुर मोहल्ला निवासी सायराबानो नगर पंचायत की सभासद रह चुकी हैं। उनके बेटे परवेज खान उर्फ पप्पू ने सोमवार सुबह करीब दस बजे घर के छत पर जाकर फांसी लगा ली। कुछ देर बाद जब वह किसी काम से छत पर गईं तो बेटे का शव फंदे से लटकता देखकर चिल्ला पड़ीं। आसपास के लोग एकत्र हुए और पप्पू को नीचे उतार कर प्राइवेट चिकित्सक के पास ले गए। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।शव घर पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया।

पुलिस को मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। सुसाइड नोट में लिखा था है कि दूरदर्शन में नौकरी के नाम पर उसने अपने आठ साथियों के साथ एक व्यक्ति को 35 लाख रुपये दिए थे। बाद में पता चला कि वह व्यक्ति फ्रॉड किस्म का है और कई लोगों को ठग चुका है। मृतक परवेज खान के सुसाइड नोट के अनुसार जिन लोगों से उसने पैसे दिलाए थे, वे उस पर रुपये लौटाने का दबाव डाल रहे थे। ऐसे में वह मौत को गले लगा रहा है। पुलिस घटना की जांच कर रही है।
 
मृतक परवेज खान उर्फ पप्पू। फाइल फोटो
मृतक परवेज खान उर्फ पप्पू। फाइल फोटो- फोटो : PRATAPGARH
 
पट्टी कोतवाली के सधईपुर में युवक के आत्महत्या करने पर बिलखते परिजन। संवाद
पट्टी कोतवाली के सधईपुर में युवक के आत्महत्या करने पर बिलखते परिजन। संवाद- फोटो : PRATAPGARH
 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X