लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra ›   Crocodile  in drain people tied with rope in kasganj

Kasganj: नाली में घूम रहा था मगरमच्छ, लोगों ने रस्सी से बांध लिया

संवाद न्यूज एजेंसी, कासगंज Published by: धीरेन्द्र सिंह Updated Sat, 24 Sep 2022 11:11 PM IST
सार

मगरमच्छ देखकर कोई भी डर जाएगा, लेकिन कासगंज की अंबिका पूरी के लोगों ने कुछ ऐसा किया, जिसे जानकर हैरान रह जाएंगे। नाली में मगरमच्छ देख इन लोगों ने उसे पकड़ने का प्रयास शुरू कर दिया। कड़ी मशक्कत के बाद मगरमच्छ को रस्सी से बांध लिया।

रस्सी से बांध लिया मगरमच्छ
रस्सी से बांध लिया मगरमच्छ - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कासगंज में काली नदी का पानी खेतों को ओर बढ़ रहा है, तो वहीं खतरनाक जंतु रिहायशी इलाकों की ओर रुख कर रहे हैं। ऐसा ही कुछ हुआ शनिवार का रात, जब अंबुका पुरी कॉलोनी के लोगों ने एक मगरमच्छ नाली में देखा। मगरमच्छ को देख लोगों में खलबली मच गई। बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई और लाठी के सहारे मगरमच्छ को पकड़कर रस्सी से बांध लिया। 



बताया गया है कि उफनती काली नदी के पानी के साथ एक मगरमच्छ नाले नालियों में होता हुआ अंबिका पुरी कॉलोनी की नाली में पहुंच गया। लोगों की नजर मगरमच्छ पर पड़ी तो कॉलोनी में खलबली मच गई। लोग रात के समय घरों से निकल आए। रात्रि करीब 9:45 बजे मगरमच्छ देखा गया। लोगों ने लाठी और रस्सी के सहारे मगरमच्छ को बांधकर नाली से निकाला। कॉलोनी के लोग काफी देर तक मगरमच्छ को पकड़ने में जुटे रहे। 


मगरमच्छ के पकड़ में आ जाने के बाद उसे काली नदी की और वापस छोड़ दिया गया। मामले की सूचना पर कोतवाली पुलिस भी पहुंच गई। मगरमच्छ को लेकर देर रात तक कॉलोनी में चर्चा जारी थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00